मुख्य समाचार:

FY21 में SBI, PNB, BoB समेत 5 बड़े बैंक बेच सकते हैं शेयर, पूंजी जुटाने के लिए होगा यह कदम

मर्चेंट बैंकिंग से जुड़े सूत्रों ने कहा कि पूंजी जुटाने के लिये क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल प्लेसमेंट (QIP) सर्वाधिक तरजीही रास्ता हो सकता है.

Updated: Aug 23, 2020 7:52 PM
five large banks, including SBI, PNB and BoB, are likely to sell shares to institutional investors in the second half of this fiscalसार्वजनिक क्षेत्र के बैंक दूसरी तिमाही में वित्तीय परिणाम को अंतिम रूप देने के बाद इस संदर्भ में निर्णय कर सकते हैं.

भारतीय स्टेट बैंक (SBI), बैंक ऑफ बड़ौदा (BoB) और पंजाब नेशनल बैंक (PNB) समेत पांच बड़े बैंक चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में संस्थागत निवेशकों को शेयरों की बिक्री कर सकते हैं. ये बैंक कोरोना वायरस संकट और अर्थव्यवस्था पर पड़े प्रभाव के बीच पूंजी आधार बढ़ाने के तहत ये कदम उठ रहे हैं. मर्चेंट बैंकिंग से जुड़े सूत्रों ने कहा कि पूंजी जुटाने के लिये क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल प्लेसमेंट (QIP) सर्वाधिक तरजीही रास्ता हो सकता है.

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक दूसरी तिमाही में वित्तीय परिणाम को अंतिम रूप देने के बाद इस संदर्भ में निर्णय कर सकते हैं. सूत्रों के अनुसार बैंकों के लिये अपने नॉन परफॉर्मिंग एसेट्स (एनपीए), एकबारगी कर्ज पुनर्गठन और उसके परिणामस्वरूप रेटिंग को लेकर तस्वीर अक्टूबर के अंत तक ही साफ होगी. उसके बाद बैंक शेयर बिक्री के लिये समय, मात्रा, मर्चेंट बैंकरों की नियुक्ति और अन्य औपचारिकताओं को लेकर प्रक्रियाएं शुरू कर सकते हैं.

Q4 में पूंजी बाजार में उतरेगा PNB

सूत्रों के अनुसार एसबीआई, पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी), बीओबी और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (यूबीआई) जैसे चार से पांच बड़े बैंक चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही या चौथी तिमाही के अंत तक पूंजी जुटाने पर गौर करेंगे. सूत्रों का कहना है कि इन बैंकों ने इस रूप से पूंजी जुटाने की योजना बनायी है, जिससे नकदी की कोई तंगी नहीं हो और घरेलू और वैश्विक निवेशकों दोनों के लिये विभिन्न क्यूआईपी में भागीदारी को लेकर पर्याप्त गुंजाइश हो. पीएनबी पहले ही चालू वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में पूंजी बाजार में जाने को लेकर अपना इरादा जता चुका है ताकि वह वृद्धि संबंधी जरूरतों और नियामकीय आवश्यकताओं को पूरा कर सके.

टॉप 10 कंपनियों में से 7 का m-cap 67622 करोड़ रु बढ़ा, HDFC बैंक और ICICI बैंक को सबसे ज्यादा फायदा

कोटक महिंद्रा, एक्सिस, ICICI बैंक अपना चुके हैं QIP

आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक समेत निजी क्षेत्र के बैंक पहले ही क्यूआईपी के जरिए पिछले तीन महीनों में पूंजी जुटा चुके हैं. सार्वजनिक क्षेत्र के ज्यादातर बैंकों को चालू वित्त वर्ष में बॉन्ड और शेयर के जरिये पूंजी जुटाने की मंजूरी पहले ही शेयरधारकों से मिल चुकी है. चालू वित्त वर्ष के दौरान बैंकों को जोखिम भारांश संपत्ति (आरडब्ल्यूए) और लाभ में सुधार के लिये पूंजी जुटाने की जरूरत पड़ सकती है. जहां तक इक्विटी शेयर (टियर-1) और बॉन्ड (टियर-2) के तहत पूंजी जुटाने का सवाल है, एसबीआई ने हाल ही में बासेल-3 मानकों वाला बॉन्ड निवेशकों को जारी कर 8,931 करोड़ रुपये जुटाए हैं. वहीं पीएनबी ने निजी नियोजन के आधार पर बासेल-3 मानकों वाला बॉन्ड जारी कर 994 करोड़ रुपये और बैंक ऑफ बड़ौदा ने अतिरिक्त टियर-1 बॉन्ड के जरिये 981 करोड़ रुपये जुटाये हैं.

 

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. FY21 में SBI, PNB, BoB समेत 5 बड़े बैंक बेच सकते हैं शेयर, पूंजी जुटाने के लिए होगा यह कदम

Go to Top