सर्वाधिक पढ़ी गईं

फेस्टिव सीजन में बजट को लेकर हैं परेशान! इन 5 तरीकों से कर सकते हैं पैसों का इंतजाम

बाजार में कई प्रकार के क्रेडिट विकल्प मौजूद हैं जिससे लोगों के समस्या आती है कि कौन-सा विकल्प उनके लिए बेहतर होगा.

October 20, 2020 1:24 PM
Five credit options to finance your festive spends LIKE HOME LOAN PERSONAL LOANअधिक मूल्य वाली खरीदारी अधिकतर लोग त्योहारी सत्र में करना पसंद करते हैं.

फेस्टिव सीजन (Festive Season) में वित्तीय कंपनियां कई प्रकार के लोन ऑफर और डिस्काउंट्स लेकर आती हैं. इससे लोगों को अपनी पसंद की चीजों पर खर्च के लिए फंड का प्रबंध करना आसान हो जाता है. अधिक मूल्य वाली खरीदारी अधिकतर लोग त्योहारी सत्र में करना पसंद करते हैं. इस समय कई लोग घर का भी सपना पूरा करते हैं. इनके लिए फंड का प्रबंध वे लोन लेकर करते हैं लेकिन बाजार में कई प्रकार के क्रेडिट विकल्प मौजूद हैं जिससे लोगों के समस्या आती है कि कौन-सा विकल्प उनके लिए बेहतर होगा. आइए सबसे पहले बाजार में उपलब्ध विकल्पों को जानते हैं, फिर उसमें से अपने लिए बेहतर विकल्प का चयन करते हैं.

बाजार में उपलब्ध विकल्प

पर्सनल लोन- अपने त्योहारी खर्चों को पूरा करने का सबसे प्रसिद्ध क्रेडिट विकल्प पर्सनल लोन है. पर्सनल लोन की ब्याज दरें 9 फीसदी से लेकर 24 फीसदी तक हो सकती हैं. लोन की ब्याज दर कितनी होगी, यह इस पर निर्भर करेगा कि आपका क्रेडिट स्कोर क्या है, मासिक आय कितनी है, आपकी जॉब प्रोफाइल क्या है और आपके एंप्लायर का प्रोफाइल क्या है. रिपेमेंट कैपेसिटी के आधार पर 30 लाख तक का पर्सनल लोन मिल सकता है. हालांकि कुछ जगहों पर 40 लाख तक का भी लोन मिल सकता है. रिपेमेंट के लिए 1 से 5 साल तक का समय मिलता है लेकिन कुछ जगहों पर यह सात साल के लिए भी हो सकता है.

क्रेडिट कार्ड स्वाइप और EMI- कई मर्चेंट्स, ई-कॉमर्स वेबसाइट्स और रिटेलर्स क्रेडिट कार्ड जारी करने वाली कंपनियों के साथ साझेदारी के तहत एक्सक्लूसिव डिस्काउंट और ईएमआई पेमेंट ऑप्शंस भी उपलब्ध कराती हैं. इसके अलावा कार्ड जारी करने वाली कुछ कंपनियां मर्चेंट्स व मैनुफैक्चरर्स के साथ साझेदारी के तहत जीरो फीसदी ब्याज पर ईएमआई उपलब्ध कराती हैं. इसमें खरीदार को सिर्फ खरीदारी मूल्य के बराबर भुगतान करना होता है, वह भी ईएमआई के रूप में.

Income Tax Return: वेतनभोगी कर्मचारी को भरना होगा ITR-1 ‘सहज’ फॉर्म

लोन अगेंस्ट क्रेडिट कार्ड- क्रेडिट कार्ड जारी करने वाली कंपनियां कुछ कार्डहोल्डर्स को प्री-अप्रूव्ड लोन की सुविधा भी उपलब्ध कराती हैं. हालांकि यह सुविधा पुराने कार्डहोल्डर्स को मिलती हैं जिनका रिपेमेंट हिस्ट्री बेहतर होता है. प्री-अप्रूव्ड होने से प्रोसेसिंग टाइम कम हो जाता है और आवेदन करने के कुछ ही घंटों में कर्ज उपलब्ध हो जाता है. इसके तहत 6 महीने से लेकर 5 साल तक का कर्ज मिलता है और ब्याज दर 10.99 फीसदी से शुरू होती है जो कर्ज चुकाने के लिए चुनी गई अवधि और कार्डहोल्डर के क्रेडिट प्रोफाइल पर निर्भर करती है.

कंज्यूमर ड्यूरेबल लोन- जिन लोगों के पास क्रेडिट कार्ड नहीं होता है या इलेक्ट्रॉनिक गुड्स जैसे हाउसहोल्ड एप्लायंसेज खरीदने के लिए कर्ज के अन्य विकल्प तलाश रहे हैं, उनके लिए यह क्रेडिट ऑप्शन बेहतर है. इसमें ब्याज की दर लेंडर के ऊपर निर्धारित होती है कि आपने लोन कहां से लिया है. कुछ लेंडर्स जीरो फीसदी ब्याज पर भी ईएमआई पर भी खरीदारी का विकल्प देते हैं.

टॉप-अप होम लोन- यह विकल्प सिर्फ उन्हीं के लिए उपलब्ध है जो होम लोन ले चुके हैं. इसके तहत लिए गए लोन की राशि होम लोन और आउटस्टैंडिंग लोन के अमाउंट पर निर्भर करती है. टॉप-अप होम लोन का टेन्योर वर्तमान होम लोन के टेन्योर पर निर्भर करेगा. इसकी ब्याज दर होम लोन के ब्याज के बराबर या उससे कुछ अधिक हो सकती है. इसकी प्रोसेसिंग में हफ्ते तक लग सकते हैं लेकिन कुछ लेंडर्स तत्काल सुविधा भी उपलब्ध करा रहे हैं. इसके उपयोग को लेकर किसी प्रकार का रिस्ट्रिक्शंस नहीं है कि इस लोन का इस्तेमाल आप किस तरह से करते हैं.

इन विकल्पों का किस तरह करें चयन

बड़े त्योहारी खर्चों के लिए जिन्हों होम लोन लिया हुआ है, उन्हें टॉप-अप होम लोन लेना उपयुक्त रहेगा. इसके अलावा अन्य लोगों को पर्सनल लोन सही रहेगा. कंज्यूमर ड्यूरेबल और अन्य प्रकार के छोटे खर्चों के लिए जीरो-कॉस्ट ईएमआई ऑप्शंस लेना बेहतर होगा क्योंकि इसमें कम अवधि के लोन मिल सकते हैं और बिना किसी डॉक्यूमेंटेशन या बहुत कम डॉक्यूमेंटेशन के तुरंत लोन मिलना संभव है.

(Article by: नवीन कुकरेजा, सीईओ और को-फाउंडर, पैसाबाजारडॉटकॉम) 

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. फेस्टिव सीजन में बजट को लेकर हैं परेशान! इन 5 तरीकों से कर सकते हैं पैसों का इंतजाम

Go to Top