FirstMeridian बिजनेस सर्विसेज के IPO को SEBI की मंजूरी, 800 करोड़ रुपये जुटाने का है इरादा | The Financial Express

FirstMeridian बिजनेस सर्विसेज के IPO को SEBI की मंजूरी, 800 करोड़ रुपये जुटाने का है इरादा

FirstMeridian IPO: रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (DRHP) के अनुसार, इस आईपीओ के तहत 50 करोड़ रुपये के फ्रेश शेयर जारी किए जाएंगे.

FirstMeridian बिजनेस सर्विसेज के IPO को SEBI की मंजूरी, 800 करोड़ रुपये जुटाने का है इरादा
स्टाफिंग फर्म फर्स्ट मेरिडियन बिजनेस सर्विसेज लिमिटेड (FirstMeridian Business Services) अपना आईपीओ लाने जा रही है.

FirstMeridian Business Services IPO: स्टाफिंग फर्म फर्स्ट मेरिडियन बिजनेस सर्विसेज लिमिटेड (FirstMeridian Business Services) अपना आईपीओ लाने जा रही है. कंपनी को इस आईपीओ के लिए मार्केट रेगुलेटर सेबी (SEBI) की मंजूरी मिल गई है. कंपनी इस आईपीओ के ज़रिए 800 करोड़ रुपये जुटाना चाहती है. रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (DRHP) के अनुसार, इस आईपीओ के तहत 50 करोड़ रुपये के फ्रेश शेयर जारी किए जाएंगे. इसके अलावा, कंपनी के प्रमोटरों और मौजूदा शेयरधारकों द्वारा 750 करोड़ रुपये के शेयरों की बिक्री ऑफर फॉर सेल (OFS) के तहत की जाएगी.

Auto Sales in October 2022: 21% बढ़ी Maruti Suzuki की बिक्री, Bajaj Auto समेत अन्य कंपनियों का अक्टूबर में कैसा रहा प्रदर्शन?

आईपीओ से जुड़ी डिटेल

OFS के एक हिस्से के रूप में, प्रमोटर मैनपावर सॉल्यूशंस लिमिटेड 665 करोड़ रुपये के शेयर बेचेगी. वहीं, मौजूदा शेयरधारक न्यू लेन ट्रेडिंग LLP 45 करोड़ रुपये और सीडथ्री ट्रेडिंग LLP 40 करोड़ रुपये के शेयर बेचेंगे. कंपनी ने मई में सेबी के पास आईपीओ के कागजात दाखिल किए थे और उसे 18 अक्टूबर को ऑब्जर्वेशन लेटर मिला है. आईपीओ लाने से पहले किसी भी कंपनी के लिए ऑब्जर्वेशन लेटर हासिल करना जरूरी होता है. जेएम फाइनेंशियल, डीएएम कैपिटल एडवाइजर्स, एडलवाइस फाइनेंशियल सर्विसेज और आईआईएफएल सिक्योरिटीज इश्यू के लिए बुक-रनिंग लीड मैनेजर हैं. इक्विटी शेयर BSE और NSE पर लिस्ट होंगे.

Nykaa का मुनाफा 333% बढ़ा, आय और मार्जिन में सुधार, शेयर में 7%तक दिखी तेजी

कंपनी के बारे में

फर्स्टमेरिडियन की स्थापना साल 2018 में हुई थी. कंपनी जनरल स्टाफिंग और इससे संबंधित सर्विसेज प्रोवाइड करती है. कंपनी कॉन्ट्रैक्ट स्टाफिंग, वर्कफोर्स ऑटोमेशन, ट्रेड मार्केटिंग और ग्लोबल टेक्नोलॉजी के लिए शॉर्ट और लॉन्ग टर्म टेक्नोलॉजी कॉन्ट्रैक्ट स्टाफिंग के माध्यम से सॉल्यूशन प्रदान करती है. फर्स्ट मेरिडियन के प्रमुख क्लाइंट्स में अदानी पोर्ट्स और स्पेशल इकोनॉमिक जोन, डेल इंटरनेशनल सर्विसेज इंडिया, फोनपे, उषा इंटरनेशनल, एक्साइड इंडस्ट्रीज और यूरेका फोर्ब्स शामिल हैं. कंपनी की योजना आईपीओ के ज़रिए मिलने वाले फंड का इस्तेमाल कर्ज के भुगतान के लिए और सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्य के लिए करने की है.

इसके अलावा, बेंगलुरु स्थित यह कंपनी परमानेंट रिक्रुटमेंट, रिक्रुटमेंट प्रोसेस आउटसोर्सिंग, फार्मास्युटिकल और हेल्थकेयर स्टाफिंग, फैसिलिट मैनेजमेंट और इंजीनियरिंग व टेक्निकल स्टाफिंग सॉल्यूशन जैसी अन्य एचआर सेवाएं प्रदान करती है. कंपनी की 75 शहरों में सोर्सिंग और रिक्रुटमेंट के लिए 50 से अधिक ब्रांच ऑफिस के साथ पूरे भारत में मौजूदगी है. कंपनी के मार्च 2022 तक 3,500 से अधिक स्थानों पर 1.18 लाख से अधिक एसोसिएट्स तैनात हैं.

(इनपुट-पीटीआई)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

First published on: 01-11-2022 at 15:58 IST

TRENDING NOW

Business News