सर्वाधिक पढ़ी गईं

लगातार तीसरे महीने निर्यात में गिरावट, दिसंबर 2020 में व्यापार घाटा 25.78% बढ़ा

लगातार तीसरे महीने दिसंबर 2020 में देश से निर्यात में गिरावट रही. पिछले साल दिसंबर 2020 में निर्यात 0.8 फीसदी गिरकर 1.97 लाख करोड़ रुपये रह गया.

January 2, 2021 2:47 PM
Exports falL in DecEMEBR trade deficit widens REVEALED IN COMMERCE MINISTRY DATAAEO certification includes multiple tiers including T1 wherein businesses are verified on the basis of document submission only while in T2, onsite verification is also done apart from document verification.

लगातार तीसरे महीने दिसंबर 2020 में देश से निर्यात में गिरावट रही. पिछले साल दिसंबर 2020 में निर्यात 0.8 फीसदी गिरकर 1.97 लाख करोड़ रुपये ( 2689 करोड़ अमेरिकी डॉलर) रह गया. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक पेट्रोलियम, लेदर और मैरिन प्रॉडक्ट्स के सेक्टर में गिरावट के कारण निर्यात में यह कमी आई. दिसंबर में आयात बढ़ने के कारण व्यापार घाटा भी 25.78 फीसदी बढ़कर 1.15 लाख करोड़ रुपये (1571 करोड़ डॉलर) हो गया. कॉमर्स मिनिस्ट्री द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक पिछले महीने दिसंबर 2020 में आयात 7.6 फीसदी बढ़कर 3.12 लाख करोड़ रुपये (4260 करोड़ डॉलर) हो गया. दिसंबर 2019 में 2711 करोड़ डॉलर का निर्यात और 3950 करोड़ डॉलर का आयात हुआ था. नवंबर 2020 में निर्यात में 8.74 फीसदी की गिरावट आई थी.

अप्रैल-दिसंबर 2020 में 15.8% गिरा निर्यात

अप्रैल-दिसंबर 2020 में मर्चेंटाइज एक्सपोर्ट 15.8 फीसदी सिकुड़कर 14.7 लाख करोड़ रुपये (20,055 करोड़ डॉलर) रह गया जबकि उसके पिछले साल समान अवधि अप्रैल-दिसंबर 2019 में 17.4 लाख करोड़ रुपये (23,827 करोड़ डॉलर) का निर्यात हुआ था. चालू वित्त वर्ष 2020-21 के शुरुआती नौ महीनों में आयात में 29.08 फीसदी की गिरावट आई और 18.9 लाख करोड़ रुपये (25.9 हजार करोड़ रुपये) का आयात हुआ था. अप्रैल-दिसंबर 2019 में 26.6 लाख करोड़ रुपये (36,418 करोड़ डॉलर) का आयात हुआ था.
दिसंबर 2020 में तेल आयात 10.37 फीसदी गिरकर 961 करोड़ डॉलर (70.2 हजार करोड़ रुपये) रह गया. अप्रैल-दिसंबर 2020 की बात करें तो इस अवधि में तेल आयात 44.46 फीसदी गिरकर 5371 करोड़ डॉलर (3.9 लाख करोड़ रुपये) रह गया.

यह भी पढ़ें- रिलायंस चेयरमैन मुकेश अंबानी को नए साल में पहला झटका

इनके निर्यात में बढ़ोतरी

दिसंबर 2020 में ऑयल मील्स (192.6 फीसदी), आयरन कोर (69.26 फीसदी), कार्पेट (21.12 फीसदी), फॉर्मा (17.44 फीसदी), मसाले (17.06 फीसदी) इलेक्ट्रॉनिक गुड्स (16.44 फीसदी), फल व सब्जियां (12.82 फीसदी) और केमिकल्स (10.73 फीसदी) के निर्यात में बढ़ोतरी हुई. इसके अलावा मीट, डेयरी व पोल्ट्री प्रॉडक्ट्स के निर्यात में 6.79 फीसदी की बढ़ोतरी रही. इसके अलावा भी अन्य उत्पादों के निर्यात में बढ़ोतरी रही.

सबसे अधिक निर्यात गिरावट पेट्रोलियम की

सबसे अधिक गिरावट की बात करें तो पेट्रोलियम के निर्यात में सबसे अधिक कमी आई. पेट्रोलियम के निर्यात में 40.47 फीसदी, ऑयल सीड्स के निर्यात में 31.80 फीसदी, लेदर व लेटर मैनुफैक्चर्स के निर्यात में 17.74 फीसदी की गिरावट रही. इसके अलावा कॉफी (16.39 फीसदी), रेडीमेड कपड़े (15.07), मैरिन प्रॉडक्ट्स (14.27 फीसदी) और तंबाकू (4.95) के भी निर्यात में कमी आई.

इनके आयात में हुई बढ़ोतरी

दिसंबर 2020 में दाल के आयात में 245.15 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई. गोल्ड के आयात में 81.82 फीसदी, वेजीटेबल ऑयल के आयात में 43.50 फीसदी और केमिकल्स के आयात में 23.3 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई. इनके अलावा इलेक्ट्रॉनिक सामान (20.90 फीसदी), मशीन टूल्स (13.46 फीसदी), कीमती पत्थर (7.81 फीसदी) और खाद (1.42 फीसदी) के आयात में बढ़ोतरी दर्ज की गई. हालांकि चांदी, ट्रांसपोर्ट इक्विपमेंट, कॉटन रॉ, कोक इत्यादि के आयात में गिरावट रही.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. लगातार तीसरे महीने निर्यात में गिरावट, दिसंबर 2020 में व्यापार घाटा 25.78% बढ़ा

Go to Top