सर्वाधिक पढ़ी गईं

Equity Vs Gold-Silver Vs Mutual Funds 2020: कौन रहा रिटर्न का किंग? साल 2021 में कहां लगाएं पैसा

Assets Allocations: साल 2020 जब खत्म होने वाला है, अपने एसेट अलोकेशन का आंकलन करना चाहिए.

Updated: Dec 23, 2020 2:17 PM
urban body, borrowing, funds, centre, citizen reformIn addition to the urban local body/ utility reforms, other reforms specified as a pre-condition to avail additional borrowing are One Nation One Ration Card, ease of doing business reform, and power sector reforms.

Year-end Assets Allocations: साल 2020 अब खत्म होने में बस अब कुछ ही दिन बचे हैं. नए साल यानी 2021 का जब आगाज होने जा रहा है, तो ऐसे में जरूरी है कि अपने एसेट अलोकेशन या निवेश का आंकलन कर लें. इस लिहाज से आने वाले समय पर अपनी एसेट अलोकेशन की स्ट्रैटेजी में बदलाव ला सकते हैं. साल 2020 की बात करें तो कैपिटल मार्केट और निवेशकों के लिहाज से यह बहुत ही अल रहा है. साल की शुरूआत कैपिटल मार्केट में जोरदार तेजी के साथ हुई थी, तो साल के अंत में भी बाजार अपने रिकॉर्ड हाई के करीब है. हालांकि मार्च से अगले कुछ महीनों तक कोरोना वायरस महामारी के चलते बाजार को जमकर नुकसान उठाना पड़ा, लेकिन बाद में रिकवरी आ गई. इस उतार चढ़ाव का असर इक्विटी, म्यूचुअल फंड से लेकर महंगी धातुओं में निवेश पर भी देखा गया.

सोना (Gold)

2020 में 30 फीसदी रिटर्न
इस साल 1 लाख की वैल्यू: 1,30,000 रुपये

साल 2020 में अबतक की बात करें तो गोल्ड ने निवेशकों को 30 फीसदी रिटर्न दिया है. सोना 2019 के अंत में 39208 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर बंद हुआ था. अभी इसमें 50000 रुपये के भाव के आस पास ट्रेड हो रहा है. हालांकि गोल्ड इस साल अगस्त में 56128 रुपये के अपने रिकॉर्ड हाई पर भी पहुंचा था.

कोरोना वायरस महामारी के चलते जहां मार्च से इक्विटी मार्केट में गिरावट शुरू हुई, सेफ हैवन के रूप में सोने में निवेश बढ़ता चला गया. सोना अगस्त में 56000 का स्तर पार कर गया. हालांकि उसके बाद से जैसे जैसे इक्विटी मार्केट में रिकवरी आई, सोने में कुछ बिकवाली देखने को मिली है. पिछले कुछ दिनों से सोना फिर तेज हुआ है.

चांदी (Silver)

2020 में 44 फीसदी रिटर्न
इस साल 1 लाख की वैल्यू: 1,45,000 रुपये

चांदी की बात करें तो इस साल जोरदार रैली देखने को मिली है. अबतक चांदी ने इस साल करीब 45 फीसदी का रिटर्न दिया है. सेफ हैवन डिमांड का फायदा पूरे साल चांदी को मिला है. मार्च महीने में गोल्ड सिल्वर रेश्यो 100 के पार चला गया था. जिसके बाद से चांदी में जमकर खरीददारी आई. अगस्त में चांदी 76000 रुपये प्रति किलो का भाव पार कर गई. हालांकि उसके बाद से इक्विटी में तेजी लौटने से यह डिस्काउंट पर ट्रेड कर रही है.

चांदी 2019 के अंत में 46750 रुपये के आस पास बंद हुई थी, जबकि इसका भाव अभी 66866 रुपये प्रति किलो के करीब चल रहा है

सेंसेक्स (Sensex)

2020 में रिटर्न: 12.11 फीसदी
1 लाख की इस साल वैल्यू: 1,12,110 रुपये

सेंसेक्स की बात करें तो इस साल अबतक निवेशकों को 12 फीसदी रिटर्न मिल चुका है. सेंसेक्स अभी 46295 के स्तर पर ट्रेड कर रहा है. 1 जनवरी के बाद से इसमें करीब 5000 अंकों की तेजी आ चुकी है. सेंसेक्स ने पहले फरवरी में अपना रिकॉर्ड हाई बनाया था, लेकिन कोविड 19 की वजह से इसमें भारी गिरावट आई और मार्च में यह 25639 के लो पर पहुंच गया. हालांकि जुलाई के बाद से इसमें रिकवरी शुरू हुई है. 21 दिसंबर को सेंसेक्स ने अपना आलटाइम हाई 47055.69 का स्तर टच किया.

निफ्टी (Nifty)

2020 में रिटर्न: 11.35 फीसदी
1 लाख की इस साल वैल्यू: 1,11,350 रुपये

निफ्टी ने इस साल अबतक निवेशकों को 11 फीसदी से ज्यादा रिटर्न दिया है. निफ्टी अभी 13549 के स्तर पर ट्रेड कर रहा है. 1 जनवरी के बाद से इसमें करीब 1380 अंकों की तेजी आ चुकी है. निफ्टी फरवरी में रिकॉर्ड हाई बनाने के बाद मार्च में 7511 के स्तर पर चला गया. हालांकि दिसंबर में इसने 13778 का आलटाइम हाई बनाया है.

म्यूचुअल फंड (Mutual Funds)

इस साल के मिडतक कासेरोना वायरस के चलते म्यूचुअल फंडों का 1 से 3 साल का रिटर्न बिगड़ गया था. लेकिन इक्विटी में तेजी आने से एक बार फिर म्यूचुअल फंड में निवेयाकों का पैसा बढ़ने लगा है. इस साल की बात करें तो ज्यादातर कटेगिरी में रिटर्न सुधरकर डबल डिजिट में चला गया है.

इक्विटी के लॉर्जकैप, मिडकैप, स्मालकैप सेग्मेंट में जहां 11 फीसदी, 21 फीसदी और 26 फीसदी रिटर्न मिला है, वहीं मल्टीकैप और लॉर्ज एंड मिडकैप में 11 और 12 फीसदी रिटर्न मिला है. ईएलएसएस में करीब 12 फीसदी रिटर्न मिला. डेट की बात करें तो लांग ड्यूरेशन व मिड टू लांग ड्यूरेशन पर 12 फीसदी और 10 फीसदी रिटर्न मिला है. मिड, शॉर्ट और लो ड्यूरेशन 7 फीसदी, 9 फीसदी और 6 फीसदी रिटर्न मिला है. लिहिक्वड फंड में करीब 4 फीसदी रिटर्न मिला है. डायनमिक और कॉरपोरेट बांड ने 9 से 10 फीसी रिटर्न दिए हैं.

FD (Fixed Deposit)

1 साल में औसत रिटर्न: 6.5 फीसदी (अलग अलग बेंकों का औसत)
1 साल में एक लाख की वैल्यू: 1,06,500 रुपये

PPF

1 साल में रिटर्न: 7.9 फीसदी (1 साल पहले की दर)
1 साल में एक लाख की वैल्यू: 1,07,900 रुपये

2021: अब क्या करें निवेशक

इक्विटी मार्केट

एक्सपर्ट और ब्रोकरेज हाउस साल 2021 में बाजार में रैली जारी रहने की बात कह रहे हैं. मॉर्गन स्टैनले ने अपनी एक हालिया रिपोर्ट में कहा था कि सेंसेक्स दिसंबर 2021 तक 50 हजार तक पहुंच सकता है. वहीं, BNP परिबास ने भी साल 2021 के लिए भारतीय शेयर बाजार पर ओवरवेट रेटिंग बरकरार रखी है. फ्रेंच इंटरनेशनल बैंकिंग ग्रुप BNP परिबास का मानना है कि साल 2021 में S&P BSE सेंसेक्स 50,500 का स्तर छूने में कामयाब रहेगा.

रिपोर्ट के अनुसार भारत का लांग टर्म के लिए इकोनॉमी को मजबूत करने पर फोकस है. डिमांड बढ़ाने के मजबूत उपाय किए जा रहे हैं. निवेश के उपायों पर भी जोर है. एक और फायदा यह है कि यहां क्वालिटी स्टॉक्स की उपलब्धता ज्यादा है. कंपनियों की अर्निंग सुधर रही है. आगे कंपनियों के मुनाफे में बढ़ोत्तरी होगी और बाजार का मार्केट कैप बढ़ेगा. हाई फ्रीक्वेंसी ग्रोथ इंडीकेटर्स मजबूत नजर आ रहे हैं. सरकार की पॉलिसी बेहतर रही है, भारतीय कंपनियों में बिजनेस एक्टिविटी बढ़ रही है. इस तरह से आगे बेहतर ग्रोथ की संभावना मजबूत हुई है.

बुलियन

वेंचुरा सिक्योरिटीज के हेड आफ कमोडिटीज, एनएस रामास्वामी गोल्ड पर अगले साल के लिए भी बुलिश हैं. उन्होंने गोल्ड के लिए अगले 1 साल में 63000 रुपये तक तेजी आने की उम्मीद जताई है. 2 साल में यह 65000 रुपये का भाव दू सकता है. उनका कहना है कि पिछले 4 महीनों में सोने में अच्छी खासी गिरावट आई है और यह 56100 के लेवल से 47800 के लेवल तक नीचे आ चुका है. उनका कहना है कि निचले सतरों से सोने में फिर तेजी है और यह अगर 53000 का स्तर पार करता है तो तेजी और बढ़ेगी. आगे 56200 का मजबूत रेजिस्टेंस दिख रहा है. यह लेवल क्रॉस होने पर सोना आगे 63000 रुपये का भाव भी देख सकता है. वहीं केडिया एडवाइजरी के डायरेक्टर अजय केडिया का मानपा है कि चांदी अगले साल फिर अपना रिकॉर्ड हाई बना सकती है. अर्थव्यवस्था में रिकवरी के बीच इंडस्ट्रियल डिमांड बढ़ने का फायदा चांदी को मिलेगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Equity Vs Gold-Silver Vs Mutual Funds 2020: कौन रहा रिटर्न का किंग? साल 2021 में कहां लगाएं पैसा

Go to Top