सर्वाधिक पढ़ी गईं

इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक IPO: पहले दिन 39% हुआ सब्सक्राइब, 22 अक्टूबर तक रहेगा मौका

इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक बैंकिंग आउटलेट के आधार पर देश का सबसे बड़ा स्मॉल फाइनेंस बैंक है, जबकि एसेट अंडर मैनेजमेंट और कुल जमा के आधार पर यह देश का दूसरा सबसे बड़ा एसएफबी है.

Updated: Oct 20, 2020 9:35 PM
Equitas Small Finance Bank IPO opens, you can subscribe till 22 october, Equitas SFB IPORepresentative Image

मंगलवार को खुला इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक का IPO पहले दिन 39 फीसदी सब्सक्राइब हुआ. NSE पर उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक, 517 करोड़ रुपये के इस IPO के तहत 11,58,50,001 शेयर ऑफर पर रखे गए थे, जिनमें से 4,54,01,850 शेयरों के लिए बिड प्राप्त हुईं.नॉन इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर कैटेगरी 3 फीसदी सब्सक्राइब हुई, जबकि रिटेल इंडीविजुअल इन्वेस्टर्स कैटेगरी को 85 फीसदी सब्सक्रिप्शन ​प्राप्त हुआ.

इस इश्यू को 22 अक्टूबर (गुरुवार) तक सब्सक्राइब किया जा सकता है. इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक (एसएफबी) बैंकिंग आउटलेट के आधार पर देश का सबसे बड़ा स्मॉल फाइनेंस बैंक है, जबकि एसेट अंडर मैनेजमेंट और कुल जमा के आधार पर यह देश का दूसरा सबसे बड़ा एसएफबी है.

इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक ने IPO का प्राइस बैंड 32-33 रुपये तय किया है. इस IPO के तहत 280 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे. इसके अलावा बैंक की होल्डिंग कंपनी इक्विटास होल्डिंग लिमिटेड के 7.2 करोड़ इक्विटी शेयरों का आवंटन ऑफर फॉर सेल के जरिए किया जाएगा. कंपनी IPO में कुल 15.2 करोड़ शेयर जारी करेगी. इसमें 8 करोड़ फ्रेश शेयर इश्यू किए जाएंगे.

इनके लिए रिजर्व रहेंगे कुछ शेयर

1 करोड़ रुपये की कीमत के शेयर बैंक कर्मचारियों और 51 करोड़ रुपये के शेयर इक्विटास होल्डिंग्स के शेयरहोल्डर्स के लिए रिजर्व रहेंगे. इस ऑफर के बाद बैंक में Equitas Holdings की हिस्सेदारी 95.49 के मौजूदा स्तर से घटकर 82-83 फीसदी पर रह जाएगी.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल ने इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक आईपीओ में निवेश की सलाह दी है. उन्होंने इसके लिए 64 रुपये का लक्ष्य तय किया है जो इश्यू प्राइस का करीब दोगुना है. ब्रोकरेज के अनुसार सुपीरियर एसेट डाइवर्सिफिकेशन इक्विटास की मजबूती है. इसके अलावा लाइबिलिटी प्रोफाइल रीजनेबल है, मैनेजमेंट बेहतर है, रिटर्न रेश्यो हेल्दी है और सबसे बड़ी बात वैल्युएशन वाजिब है. इक्विटास अच्छी तरह से कैपिटलाइज है, जो उसकी मजबूती है. रिटेल डिपॉजिट पर बैंक का फोकस है, जिससे उसे फायदा मिल रहा है. वहीं, डाइवर्सिफाई एसेट बुक के चलते यह ग्रोथ की राह पर है. एसेट क्वालिटी एक रिस्क दिख रहा है, लेकिन यह मैनेज हो सकता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक IPO: पहले दिन 39% हुआ सब्सक्राइब, 22 अक्टूबर तक रहेगा मौका
Tags:IPO

Go to Top