सर्वाधिक पढ़ी गईं

Diwali 2020: इस दिवाली चीन को 40 हजार करोड़ का झटका! ‘लोकल के लिए वोकल’ हुए इंडियन

Diwali 2020: इस साल कोरोना काल में पड़ रही दिवाली पर भले ही वैक्सीन तैयार होने की अच्छी खबर आने का इंतजार है लेकिन इससे देशवासियों का त्योहारी उत्साह कम नहीं है.

Updated: Nov 14, 2020 12:10 AM
Diwali 2020: No demand for chinese goods on this diwali, China is set to lose about 40000 crore rupee business this yearDiwali 2020: खरीदारी ने फेस्टिव सीजन के शुरू होने के बाद से धीरे-धीरे ट्रैक पर लौटना शुरू किया है.

Diwali 2020: इस साल कोरोना काल में पड़ रही दिवाली पर भले ही वैक्सीन तैयार होने की अच्छी खबर आने का इंतजार है लेकिन इससे देशवासियों का त्योहारी उत्साह कम नहीं है. दिल्ली सहित देशभर के बाजारों में खरीदारी चालू है. मार्च में लगे लॉकडाउन के बाद से एकदम ठप पड़ी खरीदारी ने फेस्टिव सीजन के शुरू होने के बाद से धीरे-धीरे ट्रैक पर लौटना शुरू किया है. पिछले 4 दिनों से खरीदारी में और तेजी आई है, जिससे व्यापारियों में उत्साह है और वे पिछले 8 महीनों से ठंडे पड़े कारोबार से पार पाने की उम्मीद कर रहे हैं.

हालांकि इस बार दिलचस्प बात यह है कि बाजारों से चीन का सामान एक तरह से गायब ही हो चुका है. भारत-चीन के बीच चल रहे तनाव और ट्रेडर्स के संगठनों की ओर से चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के आवाह्न के चलते बाजारों में भारतीय सामान की रौनक है.

आत्मनिर्भर भारत अभियान का गहरा असर

देश के व्यापारियों के शीर्ष संगठन कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल का कहना है कि चीनी वस्तुएं जो हर साल दिवाली पर बड़ा व्यापार करती थीं, इस बार उनका व्यापारियों एवं ग्राहकों द्वारा पूर्ण बहिष्कार किया जा रहा है और भारत में बने सामान की मांग अधिक है. चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के कैट के आवाह्न और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वोकल फॉर लोकल व आत्मनिर्भर भारत अभियान का गहरा असर लोगों पर हुआ है. बहिष्कार से चीन को लगभग 40 हजार करोड़ रुपये के व्यापार का नुकसान होना तय है.

Dhanteras 2020: धनतेरस पर बाजार फीका! सोने-चांदी की ऊंची कीमतों के बीच ग्राहकों का ठंडा रिस्पॉन्स

60 हजार करोड़ के कारोबार की उम्मीद

खंडेलवाल के मुताबिक, धनतेरस, दिवाली, गोवर्धन पूजन, भाई दूज, छठ पूजा और तुलसी विवाह, त्योहारों की इस पूरी शृंखला के जरिए देशभर के बाजारों में लगभग 60 हजार करोड़ रुपये का व्यापार होने का अनुमान है. इस कुल व्यापार में से प्रतिवर्ष चीन का व्यापार लगभग 40 हजार करोड़ का रहता था. लेकिन इस बार चूंकि चीनी मार्केट में नहीं है, लिहाजा चीन को बड़ा नुकसान होना तय है .

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Diwali 2020: इस दिवाली चीन को 40 हजार करोड़ का झटका! ‘लोकल के लिए वोकल’ हुए इंडियन
Tags:Diwali

Go to Top