सर्वाधिक पढ़ी गईं

Diwali 2020 Mutual Funds: म्यूचुअल फंड की इन स्कीम्स में करें निवेश, समय के साथ होंगे मालामाल

Diwali 2020: धनतेरस या दिवाली पर सोना खरीदने का प्लान है तो आपके पास गोल्ड म्यूचुअल फंड भी एक विकल्प है.

Updated: Nov 14, 2020 12:08 AM
Diwali 2020 Mutual FundDiwali 2020: धनतेरस या दिवाली पर सोना खरीदने का प्लान है तो आपके पास गोल्ड म्यूचुअल फंड भी एक विकल्प है.

Mutual Funds To Invest in Diwali 2020: दिवाली (Diwali) हो या धनतेरस (Dhanteras), आमतौर पर लोग इक्विटी या फिजिकल गोल्ड की खरीददारी करते हैं. अगर आपका धनतेरस या दिवाली पर सोना खरीदने का प्लान है तो आपके पास म्यूचुअल फंड भी एक विकल्प है. गोल्ड फंड में पैसा लगातार आप आने वाले दिनों में सोने में तेजी का फायदा उठा सकते हैं. म्यूचुअल फंड की इस कटेगिरी ने पिछले एक साल में सबसे ज्यादा रिटर्न दिया है. 1 साल में गोल्ड फंड का औसत रिटर्न 39 फीसदी से ज्यादा रहा है. कोरोना महामारी के चलते अनिश्चितता, ग्लोबल इकनॉमी में स्लोडाउन और दुनिया के कुछ इलाकों में जियो पॉलिटिकल टेंशन बढ़ने से सोने की चमक लगातार बनी हुई है. ये फैक्टर आगे भी सोने को सपोर्ट कर रहे हैं.

क्या होते हैं गोल्ड म्युचुअल फंड

गोल्ड फंड भी एक म्युचुअल फंड हैं. यहां पर निवेशकों को गोल्ड की कीमत के बराबर में यूनिट अलॉट कर दी जाती है. आमतौर पर ज्यादातर गोल्ड म्यूचुअल फंड की 1 यूनिट 1 ग्राम सोने के बराबर की मानी जाती है. लोग इन फंड में 1 यूनिट यानी 1 ग्राम सोने की भी खरीद सकते हैं. जैसे-जैसे गोल्ड के रेट में बदलाव आता है, वैसे-वैसे प्रति यूनिट के रेट में भी बदलाव आता रहता है. पिछले एक साल की बात करें तो सोने में जोरदार तेजी रही है, जिससे गोल्ड म्यूचुअल फंड में निवेश करने वालों को भी जमकर फायदा हुआ है. इसमें लिक्विडिटी का फायदा है, यहां निवेशक जब चाहें अपना गोल्ड बेच कर पैसा ले सकते हैं.

गोल्ड में तेजी का उठाएं फायदा

केडिया एडवाइजरी के डायरेक्टर अजय केडिया का कहना है कि मौजूदा समय में म्यूचुअल फंड के कुल पोर्टफोलियो में 10 फीसदी अलोकेशन इस कटेगिरी का हो सकता है. यूएस सहित कई बड़ी अर्थव्यवस्थाओं पर दबाव है. यूएस फेड ब्याज दरों को बढ़ाने के लिए अभी तैयार नहीं है. कोविड 19 के मामले यूएस में और यूरोप के कई देशों में चिंता बढ़ाए हुए हैं.जब तक बाजार में आम लोगों के लिए कोरोना वैक्सीन नहीं आती, बाजार में अनिश्चितता की स्थिति बनी रहेगी. ऐसे में सोना आगे फिर अपना रिकॉर्ड हाई पार करता दिख रहा है. इस तेजी का फायदा गोल्ड फंड के जरिए उठाया जा सकता है.

गोल्ड फंड के 1 साल में रिटर्न

पिछले एक साल की बात करें तो म्यूचुअल फंड की सभी कटेगिरी में में गोल्ड फंड का रिटर्न सबसे ज्यादा रहा है. इस सेग्मेंट में शामिल फंड ने 33 फीसदी तक रिटर्न दिया है.

कोटक गोल्ड फंड: 32.54 फीसदी
HDFC गोल्ड फंड: 32.44 फीसदी
Axis गोल्ड ETF: 32.22 फीसदी
निप्पॉन इंडिया गोल्ड सेविंग फंड: 31.76 फीसदी
ICICI प्रू रेगुलर गोल्ड सेविंग: 31.72 फीसदी
SBI गोल्ड फंड: 31.70 फीसदी
क्वांटम गोल्ड सेविंग्: 31 फीसदी

लंबी अवधि में अच्छा रिटर्न देने वाले फंड

इन्वेस्को गोल्ड फंड

5 साल में रिटर्न: 14 फीसदी
1 लाख की वैल्यू: 1.92 लाख रुपये
कम से कम निवेश: 1000 रुपये

कोटक गोल्ड फंड

5 साल में रिटर्न: 13.85 फीसदी
1 लाख की वैल्यू: 1.91 लाख रुपये
कम से कम निवेश: 5000 रुपये

एक्सिस गोल्ड फंड

5 साल में रिटर्न: 13.79 फीसदी
1 लाख की वैल्यू: 1.91 लाख रुपये
कम से कम निवेश: 5000 रुपये

ABSL गोल्ड फंड

5 साल में रिटर्न: 13.77 फीसदी
1 लाख की वैल्यू: 1.91 लाख रुपये
कम से कम निवेश: 1000 रुपये

SBI गोल्ड फंड

5 साल में रिटर्न: 13.39 फीसदी
1 लाख की वैल्यू: 1.87 लाख रुपये
कम से कम निवेश: 5000 रुपये

(source: value research)

(Note: हमने यहां जानकारी एक्सपर्ट से बात चीत और फंड के प्रदर्शन के आधार पर दी है. बाजार में जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Diwali 2020 Mutual Funds: म्यूचुअल फंड की इन स्कीम्स में करें निवेश, समय के साथ होंगे मालामाल

Go to Top