सर्वाधिक पढ़ी गईं

Dhanteras 2020: अगले धनतेरस तक सोना दे सकता है 27% रिटर्न, रिकॉर्ड कीमतों के बाद भी निवेश का बेस्ट टाइम

Dhanteras 2020 Gold Investment: पिछले साल धनतेरस से इस धनतेरस तक करीब 29 फीसदी रिटर्न देने के बाद भी सोने का आकर्षण बना हुआ है.

Updated: Nov 12, 2020 1:22 PM
Dhanteras, considered the most auspicious day in Hindu calendar for buying items, ranging from precious metals like gold and silver to utensils, is being celebrated for two days on Thursday and Friday this year.Dhanteras, considered the most auspicious day in Hindu calendar for buying items, ranging from precious metals like gold and silver to utensils, is being celebrated for two days on Thursday and Friday this year.

Buy Gold on Dhanteras 2020: पिछले साल धनतेरस से इस धनतेरस तक करीब 29 फीसदी रिटर्न देने के बाद भी सोने का आकर्षण बना हुआ है. एक्सपर्ट का कहना है कि इस साल धनतेरस पर सोने में निवेश करने का बेहतर समय दिख रहा है. अगले साल धनतेरस तक सोना एक बार फिर 25 से 27 फीसदी तक रिटर्न दे सकता है. ग्लोबल और घरेलू फैक्टर सोने के साथ हैं. जहां तक सोने के भाव की बात है, यह अपने रिकॉर्ड हाई से अच्छा खासा डिस्काउंट हो चुका है. ऐसे में 50 हजार के उपर भाव देखकर निवेशकों को घबराने की जरूरत नहीं है.

पिछले धनतेरस से मिला 29% रिटर्न

पिछले धनतेरस के बाद से सोने में इस धनतेरस तक निवेशकों को करीब 29 फीसदी का रिटर्न मिल चुका है. पिछले साल धनतेरस के आस पास सोना 38900 रुपये प्रति 10 ग्राम के करीब था. आज के दिन सोना 50300 रुपये के आस पास ट्रेड कर रहा है. हालांकि अच्छी बात यह है कि इस साल सोना अपने रिकॉर्ड हाई से करीब 6000 रुपये डिस्काउंट पर आ गया है.

इस साल अगस्त में सोने का भाव 56200 रुपये प्रति 10 ग्राम का भाव पार कर गया था, जो इसके लिए आल टाइम हाई है. अभी सोना 50300 रुपये प्रति 10 ग्राम के आस पास चल रहा है. एक्सपर्ट का कहना है कि 50 हजार रुपये के आस पास सोने में निवेश किया जा सकता है. यह आने वाले दिनों में एक बार फिर रिकॉर्ड हाई को पार कर जाएगा.

क्यों है सोना खीदने का बेस्ट टाइम

एंजेल ब्रोकिंग के अनुज गुप्ता का कहना है कि सोने के पीदे सबसे बड़ा टेक्निकल फैक्टर ये है कि अभी भी दुनियाभर की अर्थव्यवस्थाओं को लेकर चिंता बनी हुई है. यूएस फेडरल रिजर्व ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी करने का तैयार नहीं है. यूएस फेड की कमेंट्री से साफ है कि अमेरिका में अर्थव्यवस्था अभी पटरी पर नहीं आ पाई है. ऐसे में यह सोने के पॉजिटिव फैक्टर है.

दूसरा बड़ा कारण यह है कि यूएस में नए राष्ट्रपति का चुना जाना. अमेरिका में राहत कामों पर खर्च बढ़ना तय है. इससे डॉलर पर असर होगा, जो पहले से ही 10 साल के निचले स्तर पर है. डॉलर के कमजोर होने से गोल्ड को सपोर्ट मिलेगा. बिडेन के आने पर देश में पहले से चल रही इकोनॉमिक पॉलिसीज में बदलाव हो सकता है. इससे भी कुछ अनिश्चितता की स्थित होगी.

तीसरा बड़ा कारण है कि कोविड 19 को लेकर अभी अनिश्चितताएं बनी हुई हैं. भारत के कुछ शहरों में एक बार फिर कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. यूरोप के कुछ देशों में लॉकडाउन लगाना पड़ा है. यूएस में भी मामले कंट्रोल में नहीं है. सर्दियां बढ़ने पर मामलों में और तेजी आ सकती है. इससे हाई वैल्युएशन पर चल रहे बाजार एक बार फिर टूट सकते हैं.

घरेलू स्तर पर वेडिंग सीजन आ गया है. इसमें सोने की घरेलू डिमांड बढ़ती है. वैसे भी सोना सेफ हैवन निवेश के रूप में जाना जाता है. इन सभी वजहों से निवेशक इस धनतेरस सोने में निवेश कर सकते हैं.

अगले धनतेरस तक 27% मिल सकता है रिटर्न

केडिया एडवाइजरी के डायरेक्टर अजय केडिया का कहना है कि सोना अपने हाई से अच्छा खासा उिस्काउंट हुआ है. इसमें 50 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम के आस पास निवेश करना चाहिए. इस साल के अंत में सोना 53000 रुपये और अगले एक साल में 61000 रुपये प्रति 10 ग्राम का भाव दिखा सकता है. अनुत गुप्ता ने भी अगले एक साल का लक्ष्य 60000 रुपये प्रति 10 ग्राम रखा है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Dhanteras 2020: अगले धनतेरस तक सोना दे सकता है 27% रिटर्न, रिकॉर्ड कीमतों के बाद भी निवेश का बेस्ट टाइम

Go to Top