सर्वाधिक पढ़ी गईं

डाबर, पतंजलि ने शहद में मिलावट वाले दावे का किया खंडन, कहा- ब्रांड की छवि खराब करने की साजिश

डाबर और पतंजलि ने बुधवार को CSE के उन दावों का खंडन किया जिनमें उनके द्वारा बेची जा रहे शहद में शुगर सिरप (चीनी) से मिलावट होने की बात कही गई है.

December 2, 2020 9:53 PM
dabur patanjali rejected claims of CSE study on honey adulteration says attempt malign brandsडाबर और पतंजलि ने बुधवार को CSE के उन दावों का खंडन किया जिनमें उनके द्वारा बेची जा रहे शहद में शुगर सिरप (चीनी) से मिलावट होने की बात कही गई है.

डाबर और पतंजलि ने बुधवार को CSE के उन दावों का खंडन किया जिनमें उनके द्वारा बेची जा रहे शहद में शुगर सिरप (चीनी) से मिलावट होने की बात कही गई है. कंपनियों ने कहा कि ये दावे प्रेरित लगते हैं और इनका लक्ष्य ब्रांड्स की छवि को खराब करना है. उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि उनके द्वारा बेचे जाने वाले शहद को भारतीय स्रोतों से प्राकृतिक तौर पर इकट्ठा किया जाता है और इन्हें बिना किसी शुगर को ऐड या मिलावट के पैक किया जाता है.

FSSAI के नियमों का पालन करने वाला बताया

इसके अलावा कंपनियों के मुताबिक, फूड सेफ्टी और स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) द्वारा शहद को टेस्ट करने के लिए तय गए नियमों और मापदंडों का पालन किया जाता है. डाबर के प्रवक्ता ने कहा कि हाल की रिपोर्ट्स प्रेरित नजर आती हैं और इनका लक्ष्य हमारे ब्रांड की छवि को खराब करना है. वे अपने ग्राहकों को भरोसा दिलाते हैं कि डाबर का शहद 100 फीसदी शुद्ध और देसी है जिसे भारतीय स्रोतों से प्राकृतिक तरीके से इकट्ठा किया जाता है और बिना कोई शूगर या दूसरे मिलावटी तत्व को जोड़े पैक किया जाता है.

पतंजलि आयुर्वेद के मैनेजिंग डायरेक्टर आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि यह भारतीय प्राकृतिक शहद उद्योग और उत्पादकों को बदनाम करने की साजिश लगती है, जिससे प्रोसेस्ड शहद का प्रचार किया जा सके. उन्होंने कहा कि यह लाखों ग्रामीण किसानों और शहद उगाने वालों जिनमें खादी और गांव कमीशन की जगह प्रोसेस्ड/ आर्टिफिशियल/ वैल्यू-एडेड शहद बनाने वालों को देने की योजना है. बालकृष्ण ने शहद बनाने को बहुत कैपिटल और मशीनरी वाला उद्योग बताते हुए कहा कि वे 100 फीसदी शुद्ध शहद बनाते हैं जो शहद के लिए FSSAI द्वारा तय किए गए 100 से ज्यादा मापदंडों पर शुद्ध टेस्ट किया गया है.

तीस साल में पहली बार भारत से चावल खरीदेगा चीन, भारतीय कारोबारियों को मिला 1 लाख टन का ऑर्डर

CSE ने शहद में शूगर सिरप से मिलावट का किया था दावा

कोलकाता में आधारित इमामी समूह जो झंडू ब्रांड का मालिक है, कहा कि वह इस मामले में FSSAI द्वारा तय किए गए सभी नियमों का पालन करते हैं. इमामी के प्रवक्ता ने कहा कि इमामी एक जिम्मेदार संगठन है और उसका झंडू शुद्ध शहद भारत सरकार और उसकी ऑथराइज्ड इकाई जैसे FSSAI द्वारा तय किए गए गुणवत्ता के सभी नियमों और मापदंडों का पालन करता है.

सेंटर फॉर साइंस एंड इन्वायरमेंट (CSE) ने बुधवार को यह दावा किया था कि भारत में कई बड़े ब्रांड्स द्वारा बेचा जा रहे शहद में शूगर सिरप से मिलावट पाई गई है. स्टडी में CSE ने तीन कंपनियों द्वारा बेचे जा रहे ब्रांड्स का भी जिक्र किया था.

(Input: PTI)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. डाबर, पतंजलि ने शहद में मिलावट वाले दावे का किया खंडन, कहा- ब्रांड की छवि खराब करने की साजिश

Go to Top