मुख्य समाचार:

गिरावट निवेश का मौका लाती है! क्या COVID-19 क्रैश में दिग्गज निवेशक वॉरेन बफे ने खरीदे शेयर?

क्या वॉरेन बफे ने इस साल कोरोना वायरस की वजह से मार्केट क्रैश होने के बाद शेयरों में अपना निवेश बढ़ाया है.

May 3, 2020 9:06 AM
COVID-19 stock market crash, did warren buffet buy more stocks after market fall, Berkshire Hathaway march quarter result, वॉरेन बफे, Berkshire Hathaway AGMक्या वॉरेन बफे ने इस साल कोरोना वायरस की वजह से मार्केट क्रैश होने के बाद शेयरों में अपना निवेश बढ़ाया है.

दिग्गज निवेशक और बर्कशायर हैथवे (Berkshire Hathaway) के सीईओ वॉरेन बफे (Warren Buffet) का सबसे बड़ा मंत्र है कि शेयर बाजार में बड़ी गिरावट निवेश के नए मौके लाती है. बाजार की गिरावट में जब लोग घबराकर बिकवाली कर रहे होते हैं, उस दौरान स्मार्ट निवेशक सस्ते वैल्युएशन का फायदा उठाने के लिए और पैसा लगाते हैं. तो क्या वॉरेन बफे ने इस साल कोरोना वायरस की वजह से मार्केट क्रैश होने के बाद शेयरों में अपना निवेश बढ़ाया है. क्या उनकी कंपनी की होल्डिंग बढ़ गई है. क्या कंपनी ने अपने कैश का इस्तेमाल शेयर खरीदने में किया है. इसका जवाब जानकर आपको हैरानी हो सकती है.

शेयर खरीदने का इंतजार, इस साल नेट सेलर

शनिवार को बर्कशायर हैथवे की सालाना बैठक में कंपनी की ओर से यह जानकारी दी गई है कि इस साल अबतक वॉरेन बफे नेट सेलर रहे हैं. ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी की ओर से करीब 600 करोड़ डॉलर के शेयर अप्रैल में बेचे गए हैं. एजीएम में यह बताया गया है इस साल कंपनी ने अपनी होल्डिंग कम की है. रिपोर्ट के अनुसार वॉरेन बफे लंबे समय से ऐसे शेयर की तलाश में हैं, जिनमें अचानक ज्यादा रकम लगाई जाए, लेकिन बाजार की इस गिरावट में भी उनकी यह तलाश पूरी नहीं हो पाई है.

कंपनी के पास 13 लाख करोड़ ​कैश

AGM में यह जानकारी दी गई है कि बर्कशायर हैथवे के पास मार्च के अंत तक करीब 13730 करोड़ डॉलर कैश बचा हुआ है. इस साल कैश में 1000 करोड़ डॉलर की बढ़ोत्तरी हुई है. मार्च तिमाही में भारी भरकम घाटे के बाद भी कैश बढ़ने के पीछे कारण यह है कि कंपनी ने इस साल भारी मात्रा में शेयर बेचे और नए निवेश में सतर्कता बरती.

कई हिस्सों में की खरीददारी

बर्कशायर हैथवे ने मार्च तिमाही में कई हिस्सों में शेयरों की खरीददारी की. इसका सबसे बड़ा कारण है बफे को बीते कुछ समय में कोई ऐसी कंपनी नहीं मिली है जिसके स्टॉक्स वो तुरंत ही खरीद लें. बर्कशायर हो​ल्डिंग्स की कई कंपनियों के स्टॉक्स में तेजी से गिरावट देखने को मिली है. इसमें अमेरिकन एक्सप्रेस, बैंक आफ अमेरिका, वेल्स फार्गो, डेल्टा, साउथवेस्ट और यूनाइटेड एयरलाइंस के स्टॉक्स शामिल हैं.

इस साल वॉरेन बफे की 1.3 लाख करोड़ घटी दौलत

इस साल अबतक की बात करें तो वॉरेन बफे की दौलत में 1720 करोड़ डॉलर यानी करीब 1.3 लाख करोड़ की कमी आई है. ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक अभी उनकी कुल दौलत 5.4 लाख करोड़ रह गई है और वह दुनिया के 5वें सबसे अमीर शख्स हैं.

मार्च तिमाही में घाटा

बर्कशायर हैथवे को मार्च तिमाही में करीब 4970 करोड़ डॉलर यानी करीब 3.7 लाख करोड़ का घाटा हुआ है. एक साल पहले सामान अवधि में कंपनी को 2166 करोड़ डॉलर (करीब 1.62 लाख करोड़ रुपये) का मुनाफा हुआ था. कोरोना वायरस महामारी की वजह बफे होल्डिंग स्टॉक्स में भारी गिरावट आई. हालांकि, बर्कशायर हैथवे का ऑपरेटिंग प्रॉफिट 6 फीसदी बढ़कर 587 करोड़ डॉलर (करीब 44.05 हजार करोड़ रुपये) हो गया है.

24 लाख फीसदी से ज्यादा रिटर्न देने वाली कंपनी

एक साल पहले तक की बात करें तो वॉरेन बफे की कंपनी बर्कशायर हैथवे ने निवेशकों को 24 लाख फीसदी से ज्यादा रिटर्न दिया था. ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी ने 1964 से मई 2019 तक निवेशकों को 2,472,627% रिटर्न दिया है. ये आंकड़ा बेंचमार्क के मुकाबले करीब 165 गुना अधिक था. यानी अगर 55 साल पहले किसी ने बर्कशायर हैथवे में 10,000 डॉलर का निवेश किया होगा, तो उसकी कीमत 17 करोड़ डॉलर से अधिक होती. बता दें कि मई 2019 से दिसंबर 2019 तक भी कंपनी का प्रदर्शन बेहतर रहा है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. गिरावट निवेश का मौका लाती है! क्या COVID-19 क्रैश में दिग्गज निवेशक वॉरेन बफे ने खरीदे शेयर?

Go to Top