मुख्य समाचार:

COVID-19: 45 मिनट में निवेशकों के 10 लाख करोड़ साफ, मार्च में किस दिन कितना डूबा बाजार में पैसा

जानकारों के अनुसार यह अनुमान लगाना मुश्किल है कि नियर टर्म में शेयर बाजार की चाल कैसी रहेगी.

March 23, 2020 10:56 AM
COVID-19 impact on investors wealth in stock market in march 2020, coronavirus impact on stock market, sensex, nifty, top losers, top gainers, lower circuit in sensex, BSE market capजानकारों के अनुसार यह अनुमान लगाना मुश्किल है कि नियर टर्म में शेयर बाजार की चाल कैसी रहेगी.

COVID-19 Impact on Investors Wealth: कोरोना वायरस के फैल रहे मामलों के बीच शेयर बाजार में कुछ भी अच्छा नहीं हो रहा है. बाजार के जानकार भी नहीं समझ पा रहे हैं कि बाजार की यह गिरावट कहां आकर थमेगी. कुछ एक्सपर्ट तो अब इसे असामान्य गिरावट कह रहे हैं. उनका कहना है कि बाजार के बारे में अब अनुमान लगाना बहुत मुश्किल है. फिलहाल सोमवार को भी बाजार खुलते ही बड़ी गिरावट में चला गया. वहीं 45 मिनट के अंदर ही सेंसेक्स में लोअर सर्किट लग गया और कारोबार को 45 मिनट तक रोकना पड़ा. सेंसेक्स में 2992 अंकों की गिरावट आ गई. इस गिरावट के साथ ही बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप घटकर 1,05,91,409.24 करोड़ रह गया. यानी एक सेशन में निवेशकों के करीब 10 लाख करोड़ रुपये डूब गए.

शुक्रवार को सेंसेक्स 29,915.96 के स्तर पर बंद हुआ था. इस दौरान बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 1,16,09,143.29 करोड़ रुपये था. यानी 45 मिनट के ट्रेडिंग में निवेशकों को करीब 10 लाख करोड़ रुपये की चपत लगी. सिर्फ मार्च की बात करें तो निवेशकों के करीब 40 लाख करोड़ साफ हो चुके हैं. 2 मार्च को ​कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन करीब 1,45,80,863.90 करोड़ रुपये था.

मार्केट में गिरावट की प्रमुख वजह

  • कोरोना वायरस का प्रभाव 190 देशों में हैं. इसके कुल मरीजों की संख्या 3.37 लाख हो गई है. वहीं इससे होने वाले डेथ के आंकड़े बढ़कर 14641 हो गए हैं. इससे दुनियाभर में लॉकडाउन की स्थिति आ गई है, जिससे इंडस्ट्रियल एक्विटी सुस्त पड़ गई है. पहले से ही दुनिया स्लोडाउन के खतरे में थी, अब परेशानी और बढ़ गई है.
  • कोरोना वायरस के चलते दुनियाभर की अर्थव्यस्थाओं पर मंदी का खतरा बन गया है. इसके चलते अमेरिकी, एशियाई और यूरोपीय शेयर बाजारों में जमकर बिकवाली देखने को मिल रही है. डाउ जोंस का प्रदर्शन 1987 के बाद से सबसे बुरा रहा है.
  • ओपेक देशों और नॉन ओपेक देशों के बीच क्रूड प्रोडक्शन कम करने पर सहमति न बनने के बाद से प्राइस वासर छिड़ गया है. जिसके बाद क्रूड में 1991 के बाद से सबसे बड़ी गिरावट आई. क्रूड इस साल 60 फीसदी सस्ता होकर 26 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर ट्रेड कर रहा है.
  • इस महीने कई ग्लोबल एजेंसियों ने ग्लोबल ग्रोथ का अनुमान कम करते हुए संभावित मंदी की बात कही है. एस एंड पी ग्लोबल रेटिंग्स ने कहा है कि कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के बीच ग्लोबल इकोनॉमी बड़ी मंदी के दौर में प्रवेश कर रही है.

मार्च में रोज निवेशकों को 3 लाख करोड़ की चपत

अगर 28 फरवरी की बात करें तो बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 1.46 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा था. वहीं, 23 मार्च 2020 को सुबह 10 बजे तक यह घटकर 1.05 लाख करोड़ रुपये रह गया. यानी मार्च के 13 कारोबारी दिनों में इसमें करीब 41 लाख करोड़ की कमी आई. इस लिहाज से अगर रोज का औसत देखें तो यह 3 लाख करोड़ के करीब है. यानी मार्च महीने में निवेशकों के रोज 3 लाख करोड़ साफ हो रहे हैं.

किस दिन कितना मार्केट ​कैप

2 मार्च                 1,45,80,863.90 करोड़
3 मार्च                 1,48,19,366.75 करोड़
4 मार्च                 1,47,04,461.76 करोड़
5 मार्च                 1,47,59,908.91 करोड़
6 मार्च                 1,44,31,224.41 करोड़
9 मार्च                 1,37,46,946.76 करोड़
11 मार्च                1,37,13,558.72 करोड़
12 मार्च               1,25,70,652.63 करोड़
13 मार्च               1,29,26,242.82 करोड़
16 मार्च               1,21,63,952.59 करोड़
17 मार्च               1,19,52,066.11 करोड़
18 मार्च               1,13,53,329.30 करोड़
19 मार्च               1,09,76,781.00 करोड़
20 मार्च              1,16,09,143.29 करोड़
23 मार्च              1,05,91,409.24 करोड़ (खबर लिखे जाने तक)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. COVID-19: 45 मिनट में निवेशकों के 10 लाख करोड़ साफ, मार्च में किस दिन कितना डूबा बाजार में पैसा

Go to Top