सर्वाधिक पढ़ी गईं

कोरोना के चलते लगे प्रतिबंधों से 30% का कारोबारी नुकसान, खुदरा बाजारों में घटे आधे ग्राहक: कैट

कैट के मुताबिक लॉकडाउन और नाईट कर्फ्यू के चलते खुदरा बाजार में ग्राहकों की संख्या आधी रह गई है. कैट ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को लॉकडाउन की बजाय नए विकल्प सुझाए थे.

April 11, 2021 4:04 PM
Covid restrictions 30 percent business loss in one week due to fresh curbs says traders body CAITकोरोना के चलते लगाए गए रिस्ट्रिक्शंस के चलते खुदरा बाजार में 30 फीसदी का कारोबारी नुकसान हुआ है.

देश भर में कोरोना केसेज के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. इसके चलते कई राज्यों ने ट्रैवल और ट्रेड को लेकर कई रिस्ट्रिक्शंस लगाए हैं. देश के कारोबारी समुदाय की सबसे बड़ी संस्था कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) के मुताबिक इन रिस्ट्रिक्शंस के चलते खुदरा बाजार में 30 फीसदी का कारोबारी नुकसान हुआ है. कोरोना संक्रमण थामने के लिए राज्यों द्वारा लगाए गए नाईट कर्फ्यू, आंशिक लॉकडाउन इत्यादि जैसे उपायों से महज एक हफ्ते के भीतर इतना भारी नुकसान हुआ है. कैट के मुताबिक लॉकडाउन और नाईट कर्फ्यू ने उपभोक्ताओं के दिमाग में भय का माहौल तैयार कर दिया है. कंफेडरेशन देश भर के 40 हजार से अधिक ट्रेड एसोसिएशंस के 5 करोड़ कारोबारियों का प्रतिनिधित्व करता है.
कैट के मुताबिक एक से दूसरे राज्यों में सामानों की आवाजाही भी कम हुई और कारोबारियों के बीच इस तरह के लेन-देन में 15-20 फीसदी की गिरावट आई है. इसके अलावा खुदरा बाजार में ग्राहकों की संख्या भी आधी यानी 50 फीसदी रह गई है.

RBI के इस एलान से कमजोर हुआ रुपया, तीन महीने तक निवेश के बाद अप्रैल में विदेशी निवेशकों ने निकाले अब तक 929 करोड़

कैट ने लॉकडाउन को लेकर महाराष्ट्र सीएम को दिया था सुझाव

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया और सेक्रेटरी प्रवीण खंडेलवाल के मुताबिक बाजार में ग्राहकों की कम उपस्थिति और कारोबारी गिरावट का आंकड़ा महाराष्ट्र, पंजाब, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, राजस्थान और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में व्यापारियों द्वारा जुटाए गए डेटा पर आधारित है. दिल्ली, पंजाब, गुजरात, ओडिशा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में नाईट कर्फ्यू का पहले ही एलान किया जा चुका है जबकि महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ समेत कुछ राज्यों ने रेसिट्रिक्टेड लॉकडाउन लगाया है. कैट ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पूरी तरह लॉकडाउन की बजाय कारोबारी समय को दोपहर 11 बजे से शाम 5 बजे तक नियत करने का सुझाव दिया था.

कोरोना के MSMEs पर प्रभाव का ऑफिशियल डेटा नहीं

कैट के मुताबिक कोरोना का एमएसएमईज पर गहरा प्रभाव पड़ा है लेकिन कितनी एमएसएमईज पर प्रभाव पड़ा है, इसका कोई ऑफिशियल डेटा उपलब्ध नहीं है. एमएसएमई मिनिस्टर नितिन गडकरी द्वारा फरवरी 2021 में राज्यसभा में दिए गए एक सवाल के मुताबिक इन उद्योगों की मौजूदगी न सिर्फ फॉर्मल सेक्टर में है बल्कि इनफॉर्मल सेक्टर में भी है. इसके अलावा केंद्र सरकार के पास इसका भी डेटा नहीं रहता है कि इनमें से कितनी यूनिट्स स्थाई तौर पर बंद हो चुकी हैं या अस्थाई तौर पर.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. कोरोना के चलते लगे प्रतिबंधों से 30% का कारोबारी नुकसान, खुदरा बाजारों में घटे आधे ग्राहक: कैट

Go to Top