सर्वाधिक पढ़ी गईं

कोविड-19 की दूसरी लहर में व्यापारियों को 8 करोड़ रु के कारोबार का नुकसान, स्थानीय लॉकडाउन और कर्फ्यू वजह

भारत में करीब 8 करोड़ व्यापारियों को अप्रैल के दौरान 6.25 लाख करोड़ रुपये के कारोबार का नुकसान हुआ है.

May 9, 2021 6:20 PM
covid-19 second wave caused traders loss of eight crore rupees local lockdown reasonभारत में करीब 8 करोड़ व्यापारियों को अप्रैल के दौरान 6.25 लाख करोड़ रुपये के कारोबार का नुकसान हुआ है.

राज्य सरकार द्वारा लगाए गए कई कोविड प्रतिबंधों जिसमें लॉकडाउन, कर्फ्यू आदि शामिल हैं, से भारत में करीब 8 करोड़ व्यापारियों को अप्रैल के दौरान 6.25 लाख करोड़ रुपये के कारोबार का नुकसान हुआ है. व्यापारियों के लिए मुख्य संस्था कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स ने एक बयान में अपने तहत आने वाले 8 करोड़ व्यापारियों का प्रतिनिधित्व करने वाली 40 हजार से ज्यादा एसोसिएशन से डेटा लिया गया है. CAIT ने कहा कि देश में अप्रैल महीने के लिए कोरोना महामारी की वजह से कारोबार का कुल नुकसान करीब 6.25 लाख करोड़ रुपये का है. सरकार को कुल 75 हजार करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान हुआ है.

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसी भरतिया और सेक्रेटरी जनरल प्रवीण खंडेलवाल के मुताबिक कुल 6.25 लाख करोड़ रुपये के कारोबारी नुकसान में से, रिटेल कारोबार को करीब 4.25 लाख करोड़ के कारोबार के नुकसान का अनुमान है, जबकि होलसेल कारोबार को करीब दो लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. कैट ने कहा कि निश्चित ही कारोबार को नुकसान के आंकड़े केवल ज्यादा नहीं, बल्कि यह कारोबार की बड़ी तबाही के बारे में बात करते हैं, लेकिन कोविड के कारण मौतों की संख्या को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है.

कैट ने राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की अपील की

कन्फेडरेशन ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजे संवाद में महामारी को काबू में करने के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की अपील की. उसने तीसरी लहर से निपटने के लिए एक बाल चिकित्सकों की टास्क फोर्स के गठन की प्रार्थना की है, जिसमें बच्चे भी संक्रमित हो सकते हैं.

फेडरेशन ऑफ रिटेलर एसोसिएशन ऑफ इंडिया (FRAI), जो देश में करीब 4 करोड़ सूक्ष्म, छोटे और मध्य व्यापारियों का प्रतिनिधित्व करती है, ने फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन को पिछले साल बताया था कि लॉकडाउन प्रतिबंधों से छोटे व्यापारियों की मासिक कमाई में कम से कम करीब 40 फीसदी की कमी आ सकती है. FRAI के सेक्रेटरी जनरल विनायक कुमार ने कहा था कि इसका असर विशेषकर गैर-जरूरी श्रेणी पर पड़ेगा, जबकि किराना स्टोर को पिछले साल की तरह कुछ राहत मिल सकती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. कोविड-19 की दूसरी लहर में व्यापारियों को 8 करोड़ रु के कारोबार का नुकसान, स्थानीय लॉकडाउन और कर्फ्यू वजह

Go to Top