सर्वाधिक पढ़ी गईं

कोविड-19 संकट से रियल एस्टेट सेक्टर को झटका, जुलाई-सितंबर के दौरान घरों की बिक्री में 57% की गिरावट

रियल एस्टेट ब्रोकरेज कंपनी प्रोपटाइगर ने बुधवार को कहा कि आठ बड़े शहरों में कोरोना वायरस महामारी की वजह से घरों की बिक्री में सालाना आधार पर 57 फीसदी की गिरावट हुई है.

October 14, 2020 4:20 PM
covid 19 crisis impact on real estate sector housing sales declined 57 percent in july september quarter says reportरियल एस्टेट ब्रोकरेज कंपनी प्रोपटाइगर ने बुधवार को कहा कि आठ बड़े शहरों में कोरोना वायरस महामारी की वजह से घरों की बिक्री में सालाना आधार पर 57 फीसदी की गिरावट हुई है.

रियल एस्टेट ब्रोकरेज कंपनी प्रोपटाइगर (PropTiger) ने बुधवार को कहा कि आठ बड़े शहरों में कोरोना वायरस महामारी की वजह से घरों की बिक्री में सालाना आधार पर 57 फीसदी की गिरावट हुई है. इन शहरों में 35,132 यूनिट्स की बिक्री हुई है लेकिन सेल में पिछली तिमाही के मुकाबले काफी सुधार आया है. जुलाई से सितंबर 2019 के दौरान आठ बड़े शहरों में आवासीय प्रॉपर्टी की बिक्री 81,886 यूनिट्स रही है.

अप्रैल-जून तिमाही से 85 फीसदी बढ़ी बिक्री

हालांकि, सितंबर तिमाही में सेल अप्रैल-जून तिमाही से 85 फीसदी बढ़ी जिसकी वजह देशव्यापी लॉकडाउन के बाद डिमांड में इजाफा होना है. यह जानकारी प्रोपटाइगर द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए जारी की गई रियल इनसाइट Q3 2020 रिपोर्ट से मिली है. जिन आठ शहरों को प्रोपटाइगर ने ट्रैक किया है, उनमें अहमदाबाद, बेंगलुरू, चैन्नई, हैदराबाद, कोलकाता, दिल्ली-एनसीआर, मुंबई मेट्रोपोलियन रीजन (MMR) और पुणे शामिल हैं.

प्रोपटाइगर और हाउसिंग डॉट कॉम के सीईओ ध्रुव अग्रवाल ने कहा कि हमें अर्थव्यवस्था में शुरुआती अच्छे संकेत दिख रहे हैं जिसमें आवासीय क्षेत्र भी शामिल है. हालांकि, सेल और लॉन्च में सालाना आधार पर गिरावट हुई है, लेकिन डिमांड और सप्लाई अप्रैल-डून तिमाही से काफी बढ़ी है. उन्होंने वर्तमान के त्योहारी सीजन को रियल एस्टेट सेक्टर के लिए महत्वपूर्ण समय है जिससे अगले 12 महीनों के लिए डिमांड का आउटलुक तय होगा.

त्योहारी सीजन में और महंगी होगी थाली! सब्जियों के साथ-साथ दालों के भी बढ़ रहे दाम

वर्तमान तिमाही के दौरान सेल में बढ़ोतरी की उम्मीद

पिछले पांच सालों के दौरान घरों की कीमत स्थिर और होम लोन पर ब्याज दरें 15 साल के निचले स्तर पर रहने की वजह से अग्रवाल ने भरोसा जताया कि सेल वर्तमान की तिमाही के दौरान पर्याप्त बढ़ेगी. उन्होंने कहा कि डेवलपर्स द्वारा ऑफर किए जा रहे डिस्काउंट और मुफ्त ऑफर भी डिमांड को बढ़ाने में मदद करेंगे. अग्रवाल ने बताया कि MMR और पुणे में हाउसिंग सेल जुलाी से सितंबर तिमाही के दौरान दोबारा सुधरी है. ऐसा महाराष्ट्र सरकार द्वारा स्टैम्प ड्यूटी में कटौती करने के कारण हुई है. उन्होंने दूसरे राज्यों को भी इस कदम को फॉलो करने और प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन पर स्टैम्प ड्यूटू में कटौती करने का सुझाव दिया.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. कोविड-19 संकट से रियल एस्टेट सेक्टर को झटका, जुलाई-सितंबर के दौरान घरों की बिक्री में 57% की गिरावट

Go to Top