मुख्य समाचार:

CoronaVirus Treatment: अक्टूबर-नवंबर तक तैयार हो सकती है वैक्सीन, सीरम इंस्टीट्यूट के CEO ने नवीन पटनायक को बताया

सीरम इंस्टीट्यूट एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा तैयार की जा रही है कोविड19 वैक्सीन का उत्पादन करेगी.

Updated: Jul 22, 2020 7:20 PM
Coronavirus treatment, COVID-19 vaccine by October-november 2020, adar Poonawalla, serum institute of india, covid19 treatment, WHO, covid19 drugएस्ट्राजेनेका की वैक्सीन ह्यूमन ट्रायल्स के तीसरे चरण में है.

CoronaVirus Vaccine: सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) को उम्मीद है कि इस साल अक्टूबर/नवंबर तक कोविड-19 की वैक्सीन बन जाएगी. यह आशा कंपनी के सीईओ अदार पूनावाला (Adar Poonawala) ने जताई है. बता दें कि सीरम इंस्टीट्यूट दुनिया में सबसे बड़ी वैक्सीन मैन्युफैक्चरर है. सीरम इंस्टीट्यूट ने ब्रिटिश कंपनी एस्ट्राजेनेका के साथ साझेदारी की है. इसके तहत वह एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा तैयार की जा रही है कोविड-19 वैक्सीन का उत्पादन करेगी. एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन ह्यूमन ट्रायल्स के तीसरे चरण में है.

इसके अलावा सीरम इंस्टीट्यूट को निमोनिया की अपनी स्वदेशी वैक्सीन विकसित करने के लिए भी भारतीय दवा नियामक DCGI की मंजूरी मिल गई है. अदार पूनावाला ने ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए हुई एक बातचीत में आशा जताई कि कोविड19 की वैक्सीन अक्टूबर-नवंबर 2020 तक तैयार हो सकती है. इसके ट्रायल का अगला चरण भारत में अगस्त मध्य में शुरू हो सकता है.

पहले चरण के ट्रायल में विश्वसनीय परिणाम

ओडिशा के मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी एक प्रेस नोट के मुताबिक, पूनावाला ने सूचित किया है कि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन ने पहले चरण के ट्रायल में विश्वसनीय परिणाम दिए हैं. आगे कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और ओडिशा सरकार एक दूसरे के संपर्क में रह सकते हैं और वैक्सीन तैयार हो जाने पर सहयोग को आगे ले जा सकते हैं. पटनायक ने पूनावाला से सहयोग मांगा है कि आवश्यक अनुमतियां मिलने के बाद वैक्सीनेशन के लिए ओडिशा को प्राथमिकता में रखा जाए.

प्रॉडक्शन का 50% केवल भारत के लिए

इससे पहले पूनावाला ने एक इंटरव्यू में कहा था कि एस्ट्रोजेनेका की वैक्सीन तैयार हो जाने पर सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया इसका बड़े पैमाने पर प्रॉडक्शन करेगी. दिसंबर तक वैक्सीन के 30-40 करोड़ डोज बना लिए जाएंगे. उनका यह भी कहना है कि सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा वैक्सीन के कुल प्रॉडक्शन में से 50 फीसदी भारत के लिए होगा और बाकी 50 फीसदी अन्य देशों के लिए.

पूनावाला के मुताबिक, हम वैक्सीन की कीमत कम से कम रखेंगे. इस पर शुरुआत में प्रॉफिट नहीं लिया जाएगा. भारत में इसकी कीमत 1000 रुपये के आसपास या इससे कम हो सकती है. वैक्सीन की अधिकतर खरीद सरकारों द्वारा होगी, लिहाजा उम्मीद है कि लोगों को यह इम्यूनाइजेशन प्रोग्राम के जरिए फ्री में मिलेगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. CoronaVirus Treatment: अक्टूबर-नवंबर तक तैयार हो सकती है वैक्सीन, सीरम इंस्टीट्यूट के CEO ने नवीन पटनायक को बताया

Go to Top