मुख्य समाचार:

लॉकडाउन: जरूरी चीजों की निर्बाध आपूर्ति के लिए ट्रेडर्स आए आगे, कहा- CAIT को मिले व्यापारी पास जारी करने का जिम्मा

इस बारे में कैट ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को लेटर लिखा है.

April 5, 2020 9:34 PM

CAIT OFFER SUPPORT TO GOVERNMENT FOR SMOOTH FUNCTIONING OF SUPPLY CHAIN OF ESSENTIAL COMMODITIES

वर्तमान में चल रहे राष्ट्रीय लॉकडाउन के तहत देश भर में सुचारू और निर्बाध आपूर्ति श्रृंखला को जारी रखने के लिए कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने सरकार को देश भर के व्यापारिक समुदाय के सहयोग की पेशकश की है. इस बारे में कैट ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को लेटर लिखा है. कैट ने आश्वासन दिया है कि व्यापार समुदाय इस संकट की घड़ी में सरकार के साथ एकजुटता के साथ खड़ा है.

कैट लॉक डाउन के असर के बारे में प्रतिदिन देश के सभी राज्यों के प्रमुख व्यापारी नेताओं के साथ दैनिक रूप से वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से सप्लाई चेन का आकलन करता है. इसके आधार पर समय-समय पर गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों और सलाह के बावजूद व्यापारियों और ट्रांसपोर्टरों को आपूर्ति श्रंखला के सुचारू संचालन में कई बाधाओं और कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है.

पास प्राप्त करने में हो रही परेशानी

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भारतीय एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि आवश्यक वस्तुओं के थोक विक्रेताओं से खुदरा विक्रेताओं तक आवश्यक वस्तुओं की आवाजाही के लिए आवश्यक पास प्राप्त करने में काफी परेशानी आ रही है. उन्होंने आगे कहा कि थोक व्यापारी एवं वितरकों के पास कम से कम अगले 15-20 दिनों के लिए आवश्यक वस्तुओं के पर्याप्त भंडार हैं, लेकिन आवश्यक वस्तुओं के खुदरा विक्रेताओं के पास से अगले कुछ दिनों में स्टॉक समाप्त होने की सम्भावना है क्योंकि खुदरा विक्रेताओं के स्टॉक को अभी तक भरा नहीं गया है.

भरतिया और खंडेलवाल ने सुझाव दिया कि पास की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए आवश्यक वस्तुओं में काम करने वाले व्यापारियों को पास जारी करने का अधिकार और उनके मजदूरों को काम करने के लिए सुविधा हेतु पास जारी करने का जिम्मा कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) को दिया जाना चाहिए. इसी तरह ट्रांसपोर्टरों के लिए अखिल भारतीय ट्रांसपोर्ट वेलफेयर एसोसिएशन (एटवा) को यह अधिकार दिया जा सकता है. पासेज का दुरुपयोग न हो उसके लिए कैट ने सुझाव दिया है कि राज्य सरकारों के एक या दो अधिकारी प्रत्येक राज्य में व्यापार और ट्रांसपोर्ट नेताओं के साथ जोड़े जा सकते हैं और सरकार द्वारा दिए गए मानदंडों के आधार पर आवश्यक पास जारी किए जा सकते हैं. इससे निश्चित रूप से आवश्यक वस्तुओं की सुचारू आपूर्ति में तुरंत सुधार आएगा.

अब घर बैठे कर सकेंगे कोरोना का टेस्ट, बायोन ने लॉन्च की पहली कोविड-19 एट-होम स्क्रीनिंग किट

FCI और NAFED ने बढ़ा दिए दाम

यह भी कहा गया कि एफसीआई और नैफेड ने बाजार मूल्य से बहुत अधिक कीमत पर आवश्यक सामान बेचना शुरू कर दिया है. एफसीआई गेहूं को प्रति क्विंटल 2450 रुपये पर बेच रहा है जबकि बाजारों की दर 2050 रुपये प्रति क्विंटल है. इसी तरह नेफेड के पास चना, मूंग दाल और सरसों का पर्याप्त स्टॉक है, जिसे वे बाजार दर से अधिक पर बेच रहे हैं. इन दोनों संस्थानों को बाजार मूल्य से नीचे बेचने की सलाह दी जानी चाहिए और शीघ्र उत्पादन सुनिश्चित करने के लिए सामान मिलरों को भेजना चाहिए.

व्यापारी व कर्मचारियों को भी मिले 50 लाख का कवर

भरतिया और खंडेलवाल दोनों ने यह भी सुझाव दिया कि चूंकि व्यापारी और उनके कर्मचारी भी अपना जीवन दांव पर लगा रहे हैं, इसलिए उन्हें मेडिकल, पैरा मेडिकल, स्वच्छता कर्मचारियों की तरह 50 लाख रुपये का बीमा कवर दिया जाना चाहिए. उन्होंने यह भी आग्रह किया कि आवश्यक वस्तुओं की एक व्यापक सूची सबकी जानकारी के लिए घोषित की जानी चाहिए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. लॉकडाउन: जरूरी चीजों की निर्बाध आपूर्ति के लिए ट्रेडर्स आए आगे, कहा- CAIT को मिले व्यापारी पास जारी करने का जिम्मा

Go to Top