मुख्य समाचार:

कोरोना वायरस: 1 माह में निवेशकों के डूब गए 6 लाख करोड़, सेंसेक्स 1600 अंक धड़ाम; 70% तक टूटे शेयर

पिछले एक माह में सेंसेक्स में करीब 4 फीसदी और निफ्टी में 4.31 फीसदी गिरावट रही है.

February 26, 2020 10:31 AM
Coronavirus Impact on Investors wealth, corona impact on indian stock market, sensex, nifty, coronavirus impact on your investment in stock market, midcap stocks, smallcap stocks, largecap stocks, china trade, global economy worryपिछले एक माह में सेंसेक्स में करीब 4 फीसदी और निफ्टी में 4.31 फीसदी गिरावट रही है.

Coronavirus Impact on Indian Investors Wealth: कोरोना वायरस चीन से निकलकर अब दूसरे देशों में भी फैल रहा है. 41 देशों में इसका असर देखा जा रहा है. मंगलवार को 500 से ज्यादा संक्रमण और 12 डेथ के मामले सामने आए हैं. फिलहाल इससे ग्लोबल ट्रेड बुरी तरह से प्रभावित हुआ है और दुनियाभर के शेयर बाजारों में बड़ी गिरावट दिख रही है. घरेलू शेयर बाजार की बात करें तो सेंसेक्स 26 फरवरी को सुबह 9:30 बजे 40 हजार के नीचे आ गया. वहीं निफ्टी भी 11750 के नीचे ट्रेड कर रहा है. पिछले एक माह में सेंसेक्स में 1600 अंकों यानी करीब 4 फीसदी और निफ्टी में 530 अंकों यानी 4.31 फीसदी गिरावट रही है. बीएसई मिडकैप और स्मालकैप इंडेक्स भी 1 महीने में 521 और 430 अंक टूट गए.

1 माह में निवेशकों के डूबे 6 लाख करोड़

पिछले एक महीने में घरेलू शेयर बाजार की बड़ी गिरावट के बीच निवेशकों के 6 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा डूब गए. आज सुबह बीएसई पर लिस्टेड कुल कंपनियों का मार्केट कैप 1,53,85920 करोड़ रुपये था. वहीं, 1 माह पहले की बात करें तो सेंसेक्स 41613 के स्तर पर था, और उस दौरान मार्केट कैप 1,60,09959 करोड़ रुपये था. यानी 1 माह में कंपनियों का मार्केट कैप 6.24 लाख करोड़ घट गया.

बीएसई पर सबसे ज्यादा टूटने वाले सेक्टर

मेटल इंडेक्स: 13 फीसदी
आटो इंडेक्स: 11.35 फीसदी
रियल्टी इंडेक्स: 9.5 फीसदी
पावर इंडेक्स: 9.43 फीसदी
कैपिटल गुड्स: 9 फीसदी
आएल एंड गैस: 8 फीसदी
एनर्जी इंडेक्स: 8 फीसदी

इन शेयरों ने सबसे ज्यादा डुबोया पैसा

गायत्री प्रोजेक्ट्स: 69 फीसदी
विनाती आर्गनिक्स: 55.7 फीसदी
सद्भाव इंजीनियरिंग: 39 फीसदी
पराग मिल्क फूड्स: 37.66 फीसदी
जेएंडके बैंक: 34 फीसदी
जीआईसी हाउसिंग फाइनेंस: 33 फीसदी
एनसीसी: 33 फीसदी
फ्यूचर कंज्यूमर: 30 फीसदी
जैन इरीगेशन: 29.55 फीसदी
GSFC: 29.52 फीसदी

एक तिमाही तक रहेगा असर

ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल के अनुसार कोरोना वायरस का संक्रमण काफी लंबे समय तक खिंच गया है, जिससे चीन सहित उसके साथ ट्रेड से जुड़े देशों की इंडस्ट्री पर असर दिख रहा है. दुनियाभर के एक्सपोर्ट का करीब 12 फीसदी हिस्सेदारी चीन की है. बता दें कि भारत सहित कई देशों में चीन का बड़ा एक्सपोर्ट है और वहां से आने वाले जरूरी पार्ट का इस्तेमाल घरेलू कंपनियां करती हैं. ऐसे में मैन्युफैक्चरिंग सप्लाई चेन बाधित होने का असर कम से कम इन कंपनियों पर 3 महीने रहेगा. इसमें एग्रो केमिकल्स, मेटल, फार्मा, आयल एंड गैस, केमिकल और आटो इंडस्ट्री भी शामिल है.

कोरोना से अबतक 2700 डेथ

कुल मामले: 80,598
डेथ: 2,712
रिकवर: 28,110
मौजूदा समय में संक्रमित की संख्या: 49,776
माइल्ड केस: 40,556 (81%)
क्रिटिकल केस: 9220 (19%)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. कोरोना वायरस: 1 माह में निवेशकों के डूब गए 6 लाख करोड़, सेंसेक्स 1600 अंक धड़ाम; 70% तक टूटे शेयर

Go to Top