सर्वाधिक पढ़ी गईं

Gold: कोरोना से मंदी का डर! 50,000 रुपये/10 ग्राम जा सकते हैं सोने के दाम, ये 4 फैक्टर डाल रहे असर

दुनियाभर में कोरोना के बढ़ते मामले और इसका आर्थिक गतिविधियों पर हो रहे असर से ग्लोबल सुस्ती का संकट गहराता जा रहा है.

March 9, 2020 5:58 PM
coronavirus impact! gold may touch 50k per 10 gram level in spot market by next Diwali here four main reasonsसुस्ती की आशंका में निवेशक सुरक्षित निवेश के लिए सोने को तरजीह दे रहे हैं.

Gold Rate: कोरोनावायरस के खौफ का असर सोने की कीमतों पर भी देखा जा रहा है. दुनियाभर में संक्रमण के बढ़ते मामले और इसका आर्थिक गतिविधियों पर हो रहे असर से ग्लोबल सुस्ती गहराने की आशंका बढ़ती जा रही है. इसके चलते सुरक्षित निवेश के रूप मे सोने की डिमांड बढ़ रही है. इसका असर वायदा और हाजिर दोनों ही भाव पर पड़ रहा है. राजधानी में सराफा बाजार में सोने के भाव सोमवार को 45,063 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुुंच गए. वहीं, वायदा बाजार में MCX पर सोना 44,712 रुपये प्रति दस ग्राम तक पहुंच गया. एक्सपर्ट मान रहे हैं कि सोने का वायदा भाव इस होली से दिवाली तक 48,000 रुपये तक जा सकता है. वहीं, हाजिर भाव भी 50,000 रुपये प्रति दस ग्राम का लेवल छू सकता है.

दिल्ली के हाजिर बाजार में सोमवार को चांदी के दाम हालांकि 710 रुपये गिरकर 47,359 रुपये प्रति किलो तक आ गए. जबकि पिछले कारोबारी सत्र यह 48,096 रुपये प्रति किलो पर दर्ज की गई थी. एचडीएफसी सिक्युरिटीज के सीनियर एनॉलिस्ट (कमोडिटी) तपन पटेल का कहना है कि क्रूड में जोरदार गिरावट के चलते सोने की कीमतों में तेजी है. क्रूड सोमवार को 30 फीसदी से ज्यादा टूट गया. वहीं, कोरोना वायरस के चलते दुनियाभर के बाजार में संकट पहले से ही बना हुआ है. पटेल का कहना है कि सोने की कीमतों में सुरक्षित निवेश के रूप में तरजीह मिल रही है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना 1680 डॉलर प्रति औस पर पहुंच गया है.

‘ब्लैक गोल्ड के लिए ब्लैक मंडे’: इस साल क्रूड 50% तक सस्ता, मंदी के बीच क्या मोदी सरकार के लिए बनेगा वरदान?

स्लोडाउन, करंसी, चीन पैकेज और डिमांड

एंजल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड करंसी) अनुज गुप्ता का कहना है कि दुनिया में स्लोडाउन की आशंका के चलते सोने की कीमतों को सपोर्ट मिल रहा है. आने वाले दिनों में फेस्टिव डिमांड खासकर अक्षय ​तृतीया की डिमांड की संभावना से सोने की कीमतों को और बूस्ट मिल सकता है. गुप्ता के अनुसार, चीन सरकार की तरफ पैकेज दिये जाने की बात से साफ है कि वहां की अर्थव्यवस्था दबाव में है. इससे सुरक्षित निवेश के रूप में सोने की डिमांड बढ़ना तय माना जा रहा है.

अनुज गुप्ता का कहना है कि सोने की कीमतों पर एक बड़ा असर करंसी का भी हो रहा है. डॉलर के मुकाबजे भारतीय रुपये ने सोमवार को इंट्रा डे में 74 के लेवल पार कर गया. इससे साफ है कि रुपये के कमजोर होने से आयातित सोना महंगा होगा और रिटेल में इसका असर दिखाई जाएगा.

50,000 रुपये तक जा सकते हैं भाव

अनुज गुप्ता का कहना है कि सोने की कीमतों आने वाले कुछ महीनों में उतार चढ़ाव बना रहा सकता है. कोरोनावायरस के संकट के बाद क्रूड में प्राइस वार जैसे डेवपमेंट सामने आने के बाद सोने के भाव आने के पूरे संकेत हैं.

गुप्ता के अनुसार, इस होली से अगली तक दिवाली तक वायदा बाजार एमसीएक्स पर सोना 48,000 रुपये प्रति दस ग्राम का स्तर दिखा सकता है. वहीं, दिवाली तक हाजिर बाजार में सोने के भाव 50,000 रुपये प्रति दस ग्राम तक पहुंच सकते हैं.

गुप्ता का कहना है कि निवेशकों को मौजूदा दौर में सोने में निवेश को लेकर जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए. अनुज का कहना है कि निवेशकों को एमसीएक्स पर सोने में खरीदारी के लिए 42,000 रुपये प्रति दस ग्राम के स्तर का इंतजार करना चाहिए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Gold: कोरोना से मंदी का डर! 50,000 रुपये/10 ग्राम जा सकते हैं सोने के दाम, ये 4 फैक्टर डाल रहे असर

Go to Top