मुख्य समाचार:

कोरोना संकट: ट्रेडर्स की सरकार से राहत पैकेज देने की मांग, सप्लाई चैन ठप होने के कारण परेशान व्यापारी

व्यापारियों और MSME सेक्टर ने सरकार से राहत पैकेज देने की मांग की है.

March 13, 2020 7:54 PM
coronavirus causes trouble for traders they demand stimulus package from governmentकन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने सरकार से राहत पैकेज देने की मांग की है.

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का प्रकोप देखा जा रहा है. भारत में भी कोरोना के मामले बढ़कर कुल 81 हो चुके हैं. दुनिया भर के शेयर बाजारों में इसकी वजह से गिरावट हो रही है. भारत के व्यापारियों पर भी इसका असर दिखने लगा है. व्यापारियों और MSME सेक्टर ने सरकार से राहत पैकेज देने की मांग की है. दरअसल, कोरोना वायरस की वजह से चीन से आने वाले सामान की सप्लाई पर असर हुआ है. इसके साथ ही कोरोना की वजह से लोग चीनी सामान को खरीदने से बच रहे हैं. इसलिए ट्रेडर्स की मांग है कि ऐसी स्थिति में घरेलू उत्पादन को बढ़ाने की जरूरत है और इसके लिए सरकार को आर्थिक मदद करनी चाहिए.

MSME सेक्टर कच्चे माल के लिए चीन पर निर्भर

MSME फोरम के अध्यक्ष रजनीश गोयनका ने हुए कहा कि MSME सेक्टर काफी हद तक अपने कच्चे माल के लिए चीन और दूसरे देशों पर निर्भर है, लेकिन अगर सरकार फंडिंग और कुछ प्रोत्साहन प्रदान करती है, तो यह क्षेत्र आत्म निर्भर बन सकता है. ट्रेडर्स के मुताबिक भारत से निर्यात को और ज्यादा बढ़ावा दिया जाना चाहिए. इसके साथ घरेलू उत्पादन में तेजी लाने और सप्लाई चैन बेहतर करने के लिए सरकार को टैक्स लाभ के पैकेज का एलान करना चाहिए.

Gold, Silver Rate Today: सोना खरीदने का बेहतर मौका! एक दिन में 1000 रुपये से भी ज्यादा हुआ सस्ता

कैट ने पॉलिमर नोट शुरू करने को भी कहा था

इसके अलावा कैट ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक चिट्ठी भेजकर भारत में पेपर करेंसी की जगह पर पॉलिमर नोट शुरू करने को कहा है. कैट के मुताबिक इससे देशभर में डिजिटल भुगतान को बढ़ावा मिलेगा. कैट ने इससे पहले सरकार को कहा था कि विभिन्न लोगों के संपर्क में आने की वजह से पेपर करेंसी से वायरस फैल सकता है और लोगों के स्वास्थ्य के लिए यह एक खतरा है. इसी सिलसिले में कैट ने पीएम मोदी को खत भेजा है.

प्रधानमंत्री को भेजे पत्र में कैट ने कहा कि दुनिया के बड़ी संख्या में विभिन्न देशों ने आधिकारिक मुद्रा के रूप में पॉलीमर नोटों को अपनाया है और भारत सरकार के लिए यह भी सही समय है कि वह कागजी मुद्रा के स्थान पर पॉलीमर नोटों को अपनाए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. कोरोना संकट: ट्रेडर्स की सरकार से राहत पैकेज देने की मांग, सप्लाई चैन ठप होने के कारण परेशान व्यापारी

Go to Top