सर्वाधिक पढ़ी गईं

केमकॉन स्पेशिएलिटी की 115% प्रीमियम पर हुई लिस्टिंग, हैप्पिएस्ट माइंड्स को भी छोड़ा पीछे

Chemcon Specialty Chemicals IPO: केमिकल बनाने वाली कंपनी केमकॉन स्पेशियलिटी केमिकल्स लिमिटेड की शेयर बाजार में बंपर लिस्टिंग हुई है.

Updated: Oct 01, 2020 11:03 AM
Chemcon IPOThe offer would see Linus Private Limited, Mabel Private Limited , GW Confectionery Pte Ltd and GW Crown Pte Ltd line up as existing shareholders trimming their stake in the company.

Chemcon Specialty Chemicals IPO: केमिकल बनाने वाली कंपनी केमकॉन स्पेशियलिटी केमिकल्स लिमिटेड की शेयर बाजार में बंपर लिस्टिंग हुई है. कंपनी का स्टॉक बीएसई पर 730.95 रुपये के भाव पर लिस्ट हुआ. जबकि आईपीओ के लिए इश्यू प्राइस 340 रुपये प्रति शेयर था. एनएसई पर कंपनी का शेयर 731 रुपये पर लिस्ट हुआ. बता दें कि एक्सपर्ट ने भी केमकॉन के बंपर लिस्टिंग की उम्मीद जताई थी. कंपनी का 65 फीसदी रेवेन्यू फार्मा इंडस्ट्री से आता है. स्पेशिएलिटी केमिकल्स बनाने में कंपनी लीडिंग पोजिशन पर है.

लिस्टिंग गेन के मामले में केमकॉन ने हैप्पिएस्ट माइंड्स को भी पीछे छोड़ दिया है. हैप्पिएस्ट माइंड्स की शेयर बाजार में 111 फीसदी प्रीमियम पर लिस्टिंग हुई थी. 166 रुपये का इश्यू प्राइस था, जबकि शेयर बाजार में 351 रुपये पर लिस्ट हुआ.

लिस्टिंग के बाद शेयर टूटा

केमकॉन के शेयरों में लिस्टिंग के बाद गिरावट दिख रही है. शेयर लिस्ट होने के बाद 743.80 रुपये के हाई तक पहुंचा. हालांकि सुबह 11 बजे तक शेयर करीब 16.5 फीसदी टूटकर 610.60 रुपये के भाव पर आ गया.

340 रुपये था अपर प्राइस बैंड

केमिकल बनाने वाली कंपनी केमकॉन स्पेशियलिटी केमिकल्स लिमिटेड का 318 करोड़ रुपये का आईपीओ 21 सितंबर को सब्सक्रिप्शन के लिए खुला था और 23 सितंबर को बंद हुआ था. इसका प्राइस बैंड प्रति इक्विटी शेयर 338–340 रुपये रखा गया था. न्यूनतम 44 इक्विटी शेयरों का एक लॉट था और इसके बाद 44 इक्विटी शेयरों के गुणक में बोली लगाई जा सकती थी. कंपनी का कहना है कि नए इश्यू से प्राप्त रकम का उपयोग अपने मैन्युफैक्चरिंग सेंटर के विस्तार के लिए कैपिटल एक्सपेंडिचर, वर्किंग एक्सपेंडिचर की पूर्ति और सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए करना चाहती है.

क्या है केमकॉन का बिजनेस

केमकॉन हेक्सामिथाइल्डिसिलजेन (HMDS) और क्लोरोमिथाइल आइसोप्रोपाइल कार्बोनेट (CMIC) जैसे विशेष रसायनों का निर्माण करती है. इनका मुख्य रूप से इस्तेमाल फार्मा इंडस्ट्री में होता है. कंपनी ऑइलफील्ड इंडस्ट्री में कम्प्लीशन फ्लूड के तौर पर उपयोग किए जाने वाले इनऑर्गेनिक ब्रोमाइड का भी उत्पादन करती है. वित्त वर्ष 2020 में, कंपनी का आपरेटिंग रेवेन्यू 262.05 करोड़ रुपये, EBITDA 70.26 करोड़ रुपये और शुद्ध लाभ 48.85 करोड़ रुपये है. वित्त वर्ष 2018-20 के दौरान कंपनी की बिक्री में 29% CAGR की बढ़ोतरी हुई है, जबकि EBITA में 25% और PAT में 36% की बढ़ोतरी हुई है.

लीड मैनेजर्स

इन्टेंसिव फिस्कल सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड तथा एम्बिट कैपिटल प्राइवेट लिमिटेड इस इश्यू के लिए लीड मैनेजर नियुक्त किया गया है. इश्यू के बाद प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 100 फीसदी से घटकर 74.47 फीसदी हो जाएगी.

केमकॉन पर एक्सपर्ट

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने आईपीओ पर भरोसा जताया है. स्पेशिएलिटी केमिकल्स बनाने में कंपनी अच्छे पोजिशन पर है. इसमें मार्केट लीडर बनने की क्षमता है. कंपनी की वित्तीय सेहत भी बेहतर दिख रही है. चीन के साथ टेंशन के बीच केमिकल बनाने वाली कंपनियों का भविष्य बेहतर दिख रहा है. कंपनी के पास क्लाइंट बेस भी मजबूत है. हालांकि प्रोडक्ट पोर्टफोलियो लिमिटेड रहने से एक चिंता भी दिख रही है. ब्रोकरेज हाउस एंजेल ब्रोकिंग ने भी इसे सब्सक्राइब करने की सलाह दी थी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. केमकॉन स्पेशिएलिटी की 115% प्रीमियम पर हुई लिस्टिंग, हैप्पिएस्ट माइंड्स को भी छोड़ा पीछे
Tags:IPO

Go to Top