मुख्य समाचार:

इस साल 10% तक उछल चुका है चना, इन वजहों से आगे और बढ़ सकते हैं दाम

चने की कीमत इस साल की शुरुआत से अब तक 10 फीसदी तक बढ़ चुकी है.

April 3, 2019 3:02 PM
gram, chana, chana rate, chana price go up, chana price up, angel comodity, commodiy price, chana price, चना भाव, चना महंगा, चना आयात, chana import, boost in chana price4800 रुपये प्रति कुंतल तक पहुंच भाव सकता है.

चने की कीमत इस साल की शुरुआत से अब तक 10 फीसदी तक बढ़ चुकी है. हालांकि इसकी कीमतों की उड़ान अभी थमने वाली नहीं है और उम्मीद जताई जा रही है कि एक महीने के भीतर इसकी कीमतों में और भी बढ़ोतरी हो सकती है. इस समय चना करीब 4300 रुपये प्रति कुंतल के भाव पर ट्रेड हो रहा है. चने की सबसे अधिक खेती राजस्थान, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में होती है. चने में तेजी की अहम वजह आयात पर रोक और रकबा घटना बताया जा रहा है.

आयात पर प्रतिबंध और कम आवक से बढ़े Chana Rate

एंजेल कमोडिटी में कमोडिटी रिसर्च के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट अनुज गुप्ता के अनुसार, इस महीने के अंत तक Chana Rate 4800 प्रति कुंतल को पार कर जा सकता है. गुप्ता ने बताया कि केंद्र सरकार ने ऑस्ट्रेलिया से चने के आयात पर प्रतिबंध लगाया हुआ है जिसके कारण चने के भाव में बढ़ोतरी हो रही है.

इंपोर्ट ड्यूटी को 30-40 फीसदी से बढ़ाकर 60 फीसदी करने के कारण भी विदेशों से इसकी आवक कम हो रही है. इसके अलावा इस साल चने का रकबा भी घटा है जिसके कारण इसके आवक में कमी हो रही है.

अनुज गुप्ता के मुताबिक इस महीने के अंत तक आवक में अगर बढ़ोतरी होती तो चने की कीमतों में गिरावट संभव थी लेकिन रकबा कम होने और आयात पर प्रतिबंध होने के कारण इसकी कीमतों में कमी नहीं आ पाएगी. इसकी वजह से ट्रेडर्स अनुमान लगा रहे हैं कि अगले महीने तक भाव में काफी उछाल होगा. एंजेल कमोडिटी के अनुसार, अगर 2 महीने में इसमें गिरावट नहीं आई तो पूरे साल भर इसमें तेजी देखने को मिलेगी.

11 लाख हेक्टेअर घटा है रकबा

2017-18 में देश भर में करीब 107.573 लाख हेक्टेअर में चने की बुआई हुई थी जबकि 2018-19 में यह घटकर 96.594 लाख हेक्टेअर पहुंच गया. यह आंकड़ा डायरेक्टरोट ऑफ पल्सेज डेवलपमेंट भोपाल का है. बुवाई क्षेत्र में 10.979 लाख हेक्टेअर की भारी गिरावट से उत्पादन कम होने का अनुमान लगाया जा रहा. 2017-18 में चौथे अग्रिम अनुमान के मुताबिक 1.123 करोड़ टन चना उत्पादित हुआ.

4800 रुपये/कुंतल तक पहुंच सकता है भाव

अप्रैल के मध्य से सरकार चना खरीदना शुरू करेगी. 2018-19 सत्र के लिए चने का मिनिमम सपोर्ट प्राइस 4620 रुपये प्रति कुंतल रखा गया है और अगर सरकार इसकी खरीदारी अधिक करती है तो जल्द ही चने के भाव एमएसपी के भाव को पार कर देगी और अगले ही महीने में यह 4800 रुपये प्रति कुंतल के स्तर को भी पार कर सकता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. इस साल 10% तक उछल चुका है चना, इन वजहों से आगे और बढ़ सकते हैं दाम

Go to Top