सर्वाधिक पढ़ी गईं

फुटवियर इंडस्ट्री को सरकार ने दी बड़ी राहत, मानकों के पालन के लिए बढ़ाई डेडलाइन

केंद्र सरकार ने फुटवियर उद्योग द्वारा बीआईएस मानकों के पालन के लिए डेडलाइन को आगे बढ़ा दिया है.

December 5, 2020 1:04 PM
central government increased deadline for footwear industry to follow bis standardsफुटवियर इंडस्ट्री को अपग्रेड करने में कैट मदद करेगी.

केंद्र सरकार ने फुटवियर उद्योग द्वारा बीआईएस मानकों के पालन के लिए डेडलाइन को आगे बढ़ा दिया है. अब इन मानकों के मुताबिक फुटवियर बनाने के लिए डेडलाइन अगले साल 1 जुलाई कर दी गई है. इससे पहले यह डेडलाइन इस साल 29 अक्टूबर तक ही थी. केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल के आदेश पर उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (DPIIT) ने अधिसूचनाएं जारी कर दी हैं.
कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री बी सी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया कि जारी अधिसूचनाओं के मुताबिक अब मानक चिह्न धारण करने और भारतीय मानक ब्यूरो से लाइसेंस लेकर मानकों के अनुसार फुटवियर बनाने की डेडलाइन अगले साल 1 जुलाई तक हो गई है. कैट के मुताबिक इससे देश का फुटवियर व्यापार और उद्योग तेजी से बढ़ेगा.

सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ पूनावाला Asian of the Year, कोरोना के खिलाफ लड़ाई ने दिलाया यह सम्मान

इस वजह से डेडलाइन बढ़ाने की हुई थी मांग

भारत के फुटवियर उद्योग अभी भी मशीनों की बजाय कारीगरों पर आधारित हैं जबकि बीआईएस मानकों के पालन के लिए निर्माण इकाइयों को अपग्रेड करना पड़ेगा. भरतिया और खंडेलवाल के मुताबिक इस समय फुटवियर व्यापार और उद्योग में बीआईएस मानकों का पालन करने के लिए क्षमताएं और अन्य आवश्यक सुविधाएं नहीं थीं, इसलिए देश भर से कई फुटवियर संघों ने डेडलाइन बढ़ाने का अनुरोध किया था. कैट ने इस आग्रह को मानते हुए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल से अनुरोध किया था कि बीआईएस मानकों के पालन के लिए लिए सरकार कुछ समय और दे दे.

फुटवियर इंडस्ट्री को अपग्रेड करने में कैट करेगी मदद

डेडलाइन बढ़ाए जाने के बाद अब जहां भी फुटवियर के क्लस्टर हैं, कैट उन जगहों पर फुटवियर कॉम्प्लेक्स और फुटवियर कंपोनेंट्स पार्ट को स्थापित करने में फुटवियर निर्माताओं और व्यापारिक संगठनों की मदद करेगी. इसके अलावा कैट आवश्यक मशीनरी की खरीद, तकनीकी जानकारी, फुटवियर डिजाइनिंग केंद्रों और परीक्षण प्रयोगशालाओं की स्थापना में भी मदद करेगी. जरूरत पड़ने पर कैट सरकार से भी सहयोग देने का आग्रह करेगा.

भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा चमड़ा उत्पादक

चीन के बाद भारत फुटवियर का दूसरा सबसे बड़ा वैश्विक उत्पादक है. वैश्विक फुटवियर उत्पादन का 13% फीसदी भारत से होता है. भारत विभिन्न श्रेणियों के फुटवियर का उत्पादन करता है. चमड़े के जूते का उत्पादन कम है. भारत में चमड़े के करीब 90.9 करोड़ जोड़ी जूतों का उत्पादन होता है जबकि गैर चमड़े के करीब 105.6 करोड़ जूतों का उत्पादन होता है. इसके अलावा 10 करोड़ चमड़े के जूते के टुकड़े यहां तैयार होते हैं. भारत में करीब 206.5 करोड़ जोड़ी जूतों का उत्पादन होता है. निर्यात की बात करें तो भारत से करीब 11.5 करोड़ फुटवियर का निर्यात होता है.
भारत में घरेलू फुटवियर इंडस्ट्री लगभग 320 करोड़ डॉलर (23,615 करोड़ रुपये) का है और यह सालाना 11-12 फीसदी की दर से बढ़ रहा है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. फुटवियर इंडस्ट्री को सरकार ने दी बड़ी राहत, मानकों के पालन के लिए बढ़ाई डेडलाइन

Go to Top