मुख्य समाचार:
  1. गांवों में बढ़ी डिमांड और दिल्ली-मुंबई में महंगा हुआ सीमेंट, जानिए UltraTech, ACC, Ambuja ने कितनी बढ़ाई कीमत

गांवों में बढ़ी डिमांड और दिल्ली-मुंबई में महंगा हुआ सीमेंट, जानिए UltraTech, ACC, Ambuja ने कितनी बढ़ाई कीमत

इन कंपनियों में अल्ट्राटेक और अंबुजा सीमेंट जैसी बड़ी कंपनियां शामिल हैं.

April 9, 2019 4:58 PM
Cement gets costlier: UltraTech, ACC hike prices this much in Mumbai, Delhiसीमेंट की कीमतें बढ़ाए जाने की प्रमुख वजह ग्रामीण इलाकों में बढ़ती मांग है. (Representative Image)

ग्रामीण इलाकों में बिल्डिंग मैटेरियल की बढ़ती ​मांग को देखते हुए सीमेंट (Cement) कं​पनियों ने दिल्ली और मुंबई में सीमेंट की कीमतों में 25-30 रुपये प्रति बोरी की बढ़ोत्तरी की है. इन कंपनियों में अल्ट्राटेक और अंबुजा सीमेंट जैसी बड़ी कंपनियां शामिल हैं. यह जानकारी फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन को सीमेंट डीलर्स से मिली है.

दिल्ली और मुंबई में अल्ट्राटेक, ACC और अंबुजा अपने 50 किलो की सीमेंट बोरी 345-350 रुपये में बेच रही हैं. वहीं अन्य ब्रांड जैसे श्री सीमेंट, जेके लक्ष्मी के सीमेंट की कीमत 310-315 रुपये प्रति 50 किलो है.

ये हैं मुख्य वजह

दिल्ली के सीमेंट डीलर्स के मुताबिक, सीमेंट की कीमतें बढ़ाए जाने की प्रमुख वजह ग्रामीण इलाकों में बढ़ती मांग है, जो कि कटाई का सीजन होने के चलते है. सीमेंट कंपनियों के मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव्स के मुताबिक, मांग में वृद्धि के अलावा सीमेंट कंपनियों की इनपुट कॉस्ट बढ़ना भी एक वजह है. इस वक्त ट्रांसपोर्टेशन, कच्चा माल और बिजली सभी कुछ महंगा है.

मुंबई के एक डीलर ने बताया कि मुंबई के अलावा महाराष्ट्र की अन्य जगहों पर भी सीमेंट की मांग में काफी तेजी है.

अप्रैल में हमेशा से बढ़ती है Cement की कीमत

सीमेंट निर्माताओं के मुताबिक, अप्रैल में हमेशा से सीमेंट की कीमतें बढ़ती हैं क्योंकि यह वित्त वर्ष का पहला महीने होता है. साथ ही यह कंस्ट्रक्शन सीजन भी होता है. ब्रोकरेज फर्म आनंद राठी ने इस सप्ताह एक रिपोर्ट में कहा कि अप्रैल में सीमेंट की कीमतों के साथ सरकारी इंफ्रास्ट्रक्चर एक्टिविटी में भी तेजी होती है.

ये कारण भी हैं

सीमेंट की मांग बढ़ने के अन्य कारणों में सस्ते घरों को लेकर सरकार का ज्यादा जोर, इंफ्रास्ट्रक्चर पर बढ़ा खर्च और कुछ सुधार जैसे रियल एस्टेट (रूरल एंड डेवलपमेंट) एक्ट या रेरा, GST आदि शामिल हैं.

जनवरी से अब तक कैसी रही ग्रोथ

रिलायंस सिक्योरिटीज के मुताबिक, सीमेंट की मांग काफी प्रभावकारी है. 2019 में जनवरी में ग्रोथ डबल डिजिट में रही, हालांकि फरवरी में थोड़ी कम रही. मार्च में ग्रोथ माह दर माह आधार पर यह सुधरी है और सालाना आधार पर ग्रोथ संतुलित रही है.

Story By: Monika Yadav

Go to Top