मुख्य समाचार:

Boycott China: 9 अगस्त से ट्रेडर्स छेड़ेंगे ‘चीन भारत छोड़ो’ अभियान, 600 शहरों में होगा सार्वजनिक प्रदर्शन

यह आंदोलन चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के कैट के राष्ट्रीय अभियान 'भारतीय सामान-हमारा अभिमान' का हिस्सा है.

Updated: Aug 06, 2020 6:31 PM
CAIT to launch China Quit India campaign on 9 August, trade Associations will stage a demonstration in about 600 cities of the countryसरकार से मांग की जाएगी कि भारत में 5जी नेटवर्क लागू करने में चीनी कम्पनी हुवावे को तुरंत प्रतिबंधित किया जाए. Image: Reuters

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) के बैनर तले 9 अगस्त को देश भर के व्यापारी संगठन चीन के खिलाफ एक नया आंदोलन ‘चीन भारत छोड़ो’ का आगाज करने वाले हैं. यह आंदोलन चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के कैट के राष्ट्रीय अभियान ‘भारतीय सामान-हमारा अभिमान’ का हिस्सा है. 9 अगस्त को सभी राज्यों के लगभग 600 शहरों में सामाजिक दूरी एवं सुरक्षा के सभी नियम का पालन करते हुए व्यापारी सार्वजनिक प्रदर्शन करेंगे.

कैट के चीन भारत छोड़ो अभियान के अंतर्गत सरकार से मांग की जाएगी कि भारत में 5जी नेटवर्क लागू करने में चीनी कम्पनी हुवावे को तुरंत प्रतिबंधित किया जाए. साथ ही देश की जिन स्टार्टअप इकाइयों में चीनी कम्पनियों ने निवेश किया है, उस चीनी निवेश को वापिस किया जाए और ऐसे स्टार्टअप को उसके बदले में आवश्यक वित्तीय सहायता मुहैया कराई जाए. जहां सरकार ने 59 चीनी ऐप को भारत में प्रतिबंधित किया है, उसी के अनुसार बाकी बचे चीनी ऐप को भी सरकार तुरंत प्रतिबंधित करे.

आत्मनिर्भर भारतीय बाजार बनाना बहुत जरूरी

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि जिस तरह से चीन ने एक लम्बी योजना के तहत गत 20 वर्षों में भारत के रिटेल बाजार पर चीनी उत्पादों द्वारा क​ब्जा कर लिया है, उसे देखते हुए व बदली परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए चीनी उत्पादों से देश के रिटेल बाजार को आजाद कर आत्मनिर्भर भारतीय बाजार बनाना बहुत जरूरी है. इस वजह से चीन पर अपनी निर्भरता को कम करने के लिए कैट ने चीन भारत छोड़ो की आवाज बुलंद करने का आवाह्न किया है.

उन्होंने कहा कि हाल ही में रक्षाबंधन के त्योहार को हिंदुस्तानी राखी के रूप में मनाने के कैट के अभियान को देश के लोगों ने समर्थन दिया और चीनी राखी का पूर्ण रूप से बहिष्कार किया. इससे चीन को इस बार राखी व्यापार से 4 हजार करोड़ रुपये की चपत लगी है. इससे यह स्पष्ट है कि यदि देश के लोग संकल्प लेकर चीनी सामान का बहिष्कार करें तो भारत का व्यापार बहुत जल्द चीन से आजादी पा सकता है.

Amazon Prime Day Sale Cheapest Products: सबसे सस्ते प्रोडक्ट्स; 300 रु से कम में घड़ी, बैग, LED समेत कई आइटम

इस बार की दिवाली रहेगी पूरी तरह हिंदुस्तानी

भरतिया एवं खंडेलवाल ने आज यह घोषणा की कि देश में आगामी सभी त्योहार भारतीय सामान का उपयोग कर ही मनाए जाएंगे, चीन के किसी भी सामान का कोई उपयोग नहीं होगा. उन्होंने बताया कि आगामी त्योहारों में जन्माष्टमी, गणेश चतुर्थी, नवरात्रि, दशहरा, धनतेरस, दिवाली , भैया दूज, छठ पूजा और तुलसी विवाह शामिल हैं और ये सभी त्योहार पूर्ण रूप से भारतीय त्योहारों में रूप में मनाए जाएंगे, खास तौर पर इस वर्ष की दिवाली देश भर में हिंदुस्तानी दिवाली के रूप में मनाई जाएगी.

ये कदम भी उठाए सरकार

भरतिया व खंडेलवाल ने कहा कि केन्द्र सरकार ने इस मुद्दे की गम्भीरता से समझते हुए ऐसे सभी आवश्यक कदम उठाए हैं, जिनसे सरकार की विभिन्न परियोजनाओं में चीनी कम्पनियों की भागीदारी खारिज हुई है. उसी तर्ज पर सीमा से सटे क्षेत्रों, सुरक्षा से सम्बंधित क्षेत्रों, हाइवे और अन्य परियोजनाओं के निर्माण में ऐसी सभी चीनी मशीनों को प्रतिबंधित किया जाए जिसमें आईओटी डिवाइस लगी हैं. ये डिवाइस चीन स्थित कम्पनियों को ऐसी महत्वपूर्ण सूचनाएं साझा कर सकती हैं, जिनका दुरुपयोग हो सकता है जैसे- मशीनों द्वारा क्या काम चल रहा है, कितनी गहराई तक काम हो रहा है. देश की सुरक्षा के लिए उपरोक्त सभी कदम उठाने आवश्यक हैं.

Amazon Prime Day Sale: 70% तक सस्ता खरीदें स्मार्टफोन्स, इलेक्ट्रॉनिक्स और अपैरल, 7 अगस्त तक है मौका

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Boycott China: 9 अगस्त से ट्रेडर्स छेड़ेंगे ‘चीन भारत छोड़ो’ अभियान, 600 शहरों में होगा सार्वजनिक प्रदर्शन

Go to Top