मुख्य समाचार:
  1. आम बजट 2018: क्या 5 लाख के टैक्स छूट का अपना सपना पूरा करेंगे अरुण जेटली?

आम बजट 2018: क्या 5 लाख के टैक्स छूट का अपना सपना पूरा करेंगे अरुण जेटली?

साल 2015-16 में 3.7 करोड़ लोगों ने इनकम टैक्स रिटर्न फाइल की थी. इसमें से 1.95 करोड़ लोगों ने अपनी आमदनी 2.5 से 5 लाख रुपये बताई थी.

January 10, 2018 4:46 PM
आम बजट, अरुण जेटली, नरेन्द्र मोदी, नरेंद्र मोदी, भारत के वित्त मंत्री, आम बजट 2018, income tax slab, budget 2018, narendra modi, arun jaitley, finance minister, budget, business news in hindi, budget 2018 latest news, budget 2018 news in hindi अरुण जेटली ने साल 2014 में लोकसभा चुनाव के दौरान मांग उठाई थी कि इनकम टैक्स से छूट की सीमा को 2 लाख से बढ़ाकर 5 लाख रुपये किया जाना चाहिए. (PTI)

एक फरवरी को आम बजट पेश होने वाला है. इस साल बजट में मध्यमवर्गीय परिवारों को राहत मिलने की उम्मीद है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मंत्रालय इनकम टैक्स में छूट का दायरा बढ़ाने पर विचार कर रहा है. उम्मीद की जा रही है कि इनकम टैक्स छूट की सीमा 2.5 लाख से बढ़ाकर 3 लाख की जा सकती है. यानी 3 लाख की आय तक इनकम टैक्स देने की कोई जरूरत नहीं रह जाएगी.

वर्तमान में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने साल 2014 में लोकसभा चुनाव के दौरान मांग उठाई थी कि इनकम टैक्स से छूट की सीमा को 2 लाख से बढ़ाकर 5 लाख रुपये किया जाना चाहिए. लेकिन सत्ता में आने के बाद अब तक अरुण जेटली इस मांग को पूरा नहीं कर सके हैं. पिछले चार सालों में महंगाई बढ़ी है लेकिन 4 बजट में टैक्स छूट की सीमा 60 साल से कम लोगों के लिए 2.5 लाख रुपये तक ले जा सके हैं. टैक्स में जरुर कटौती की गई है. साल 2017 के बजट में 2.5 लाख से 5 लाख तक के आय वालों लोगों के लिए टैक्स रेट को 10 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत कर दिया गया था.

मौजूदा इनकम टैक्स स्लैब

2.5 लाख तक- कोई टैक्स नहीं

2.5-5 लाख तक- 5%

5-10 लाख तक- 20%

10 लाख से ऊपर- 30%

साल 2018-19 का आम बजट मोदी सरकार के मौजूदा कार्यकाल का आखिरी पूर्ण बजट होगा. साल 2015-16 में 3.7 करोड़ लोगों ने इनकम टैक्स रिटर्न फाइल की थी. इसमें से 1.95 करोड़ लोगों ने अपनी आमदनी 2.5 से 5 लाख रुपये बताई थी. ऐसे में छूट की सीमा में 50 हजार रुपये की बढ़ोतरी से जहां लाखों टैक्स देने वालों को फायदा होगा लेकिन सरकारी खजाने को नुकसान होगा. ऐसे समय में क्या वित्तमंत्री राजस्व में कमी का जोख़िम उठाएंगे?

Go to Top