मुख्य समाचार:

SBI में निवेशकों को मिल सकता है 57% रिटर्न, इन 5 वजहों से शेयर में दिख सकती है शानदार तेजी

Buy SBI: ब्रोकरेज हाउस CLSA ने एसबीआई के शेयर के लिए 310 रुपये का लक्ष्य रखा है. यह करंट प्राइस 198 से 57 फीसदी ज्यादा है.

August 24, 2020 11:50 AM
SBI, SBI Stocks, State Bank of India Stock. Should You Buy SBI Stock, why should you buy SBI, brokerage house CLSA Buy rating on SBI, SBI asset quality, SBI profit and income, SBI CASA, deposit growth in SBI, loan growth of SBI, SBI retail growthब्रोकरेज हाउस CLSA ने एसबीआई के शेयर के लिए 310 रुपये का लक्ष्य रखा है. यह करंट प्राइस 198 से 57 फीसदी ज्यादा है.

SBI Stock Rating-Buy: देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने कोविड-19 के बाद भी जून तिमाही में बेहतर वित्तीय प्रदर्शन किया है. जून तिमाही में बैंक का शुद्ध लाभ 81 फीसदी बढ़कर 4,189.34 करोड़ रुपये रहा है. वहीं, इस दौरान बैंक ने अपनी एसेट क्वालिटी को और बेहतर किया है और फंसे हुए कर्ज का रेश्यो कम हो गया. एक्सपर्ट नतीजों को देखते हुए बैंक के शेयर पर बुलिश दिख रहे हैं. एक्सपर्ट का मानना है कि बैंक का वैल्युएशन बेहद ही आकर्षक है. यहां से बैंक का शेयर लांग टर्म में 50 फीसदी से ज्यादा रिटर्न देने का क्षमता रखता है. ब्रोकरेज हाउस CLSA ने शेयर के लिए 310 रुपये का लक्ष्य रखा है. यह करंट प्राइस 198 से 57 फीसदी ज्यादा है.

बैंक की एसेट क्वालिटी में सुधार

बैंक का ग्रॉस एनपीए जून तिमाही में 5.44 फीसदी रह गया है, जो पिछले साल की समान अवधि में 7.53 फीसदी था. वहीं बैंक का नेट एनपीए भी घटकर 1.8 फीसदी रह गया, जो एक साल पहले 3.07 फीसदी था. बैंक का फंसा हुआ कर्ज कम होने से एकल शुद्ध लाभ 81 फीसदी बढ़कर 4,189.34 करोड़ रुपये रहा. वहीं, एंटरग्रेटेड मुनाफा 62 फीसदी बढ़कर 4,776.50 करोड़ हो गया है. बैंक की आय 87,984.33 करोड़ रुपये रहा है. नेट इंटरेस्ट इनकम 26,641 करोड़ रुपये रहा.

ब्रोकरेज हाउस CLSA ने शेयर को लेकर दिए 5 प्वॉइंट

1. एसेट क्वालिटी के मामले में बैंक दूसरे बड़े सरकारी बैंकों की तुलना में बेहतर पोजिशन में है. कोविड—19 के दौर में भी बैंक की एसेट क्वालिटी में सुधार हुआ है. बैंक का ग्रॉस एनपीए जून तिमाही में 5.44 फीसदी रह गया है, वहीं बैंक का नेट एनपीए भी घटकर 1.8 फीसदी रह गया

2. एसबीआई का मार्केट शेयर लगातार बढ़ रहा है. जबकि अन्य सरकारी बैंकों का मार्केट शेयर निजी बैंकों की तुलना में घटा है. रिटेल एसेट्स, कासा रेश्यो, ओवरआल लोन और डिपाूजिट के मामले में बैंक की पोजिशन बेहतर हुई है.

3. यस बैंक बेलआउट पैकेज बेहतर तरीके से स्ट्रक्चर होने का फायदा एसबीआई को मिलेगा.

4. SBI की सभी सब्सिडियरी कंपनियों में ग्रोथ बेहतर है. पिछले 3 से 5 साल में इनमें 25-40% सीएजीआर के हिसाब से ग्रोथ देखने को मिली है और अपने अपने क्षेत्र में ज्यादा कंपनियां मार्केट लीडर हैं. इन्हें SBI के डिस्ट्रीब्यूशन स्ट्रेंथ का फायदा मिल रहा है.

5. SBI का वैल्युएशन आकर्षक है. एसबीआई ने पिछले साल नवंबर में अपने एक साल का हाई 351 है. यानी अभी शेयर अपने 1 साल के हाई से 44 फीसदी डिस्काउंट पर ट्रेड कर रहा है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. SBI में निवेशकों को मिल सकता है 57% रिटर्न, इन 5 वजहों से शेयर में दिख सकती है शानदार तेजी
Tags:SBI

Go to Top