सर्वाधिक पढ़ी गईं

Bitcoin: रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचा बिटक्वॉइन, पहली बार 50,000 डॉलर के पार

बिटक्वॉइन (Bitcoin) मंगलवार को पहली बार 50,000 डॉलर के आंकड़े को पार कर गया.

February 16, 2021 8:18 PM
Bitcoin on record high crossed 50,000 dollarबिटक्वॉइन (Bitcoin) मंगलवार को पहली बार 50,000 डॉलर के आंकड़े को पार कर गया.

बिटक्वॉइन (Bitcoin) मंगलवार को पहली बार 50,000 डॉलर के आंकड़े को पार कर गया. बिटक्वॉइन ने बार-बार नई ऊंचाई को हासिल किया है और इसकी रफ्तार रूक नहीं रही है. बिटक्वॉइन के बढ़ने की वजह है कि ज्यादा कंपनियों ने डिजिटल करेंसी को मंजूरी दी है जिससे इसकी भुगतान के वैध माध्यम के तौर पर इसे अपनाया जा रहा है. बिटक्वॉइन को ज्यादातर वैल्यू के स्टोर पर देखा जाता है जैसे सोना और कुछ जगहों में इसे सामान या सेवाओं के तौर पर अपनाया जाता है.

बिटक्वॉइन को मिल रही ज्यादा स्वीकृति

कंपनियां इसे लेकर आशंकित रही हैं जिसकी वजह इसकी अस्थिरता है. हालांकि, पिछले सोमवार इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला ने डिजिटल करेंसी के बाजार को झटका दिया था, जब उसने कहा था कि वे नई निवेश रणनीति के भाग के तौर पर बिटक्वॉइन में 1.5 अरब डॉलर खरीद रहे हैं और वे जल्द ही अपनी कारों के बदले बिटक्वॉइन को मंजूर करेगी. इसके बाद Virginia के ब्लू रिज बैंक ऑफ Charlottesville ने कहा था कि वह पहला कमर्शियल बैंक बनेगा जो अपनी शाखाओं पर बिटक्वॉइन का एक्सेस उपलब्ध कराएगा. रीजनल बैंक ने बुधवार को कहा था कि कार्डधारक बिटक्वॉइन को उसके 19 एटीएम पर खरीद और रिडीम कर सकते हैं.

अमेरिका के सबसे पुराने बैंक BNY Mellon ने एक दिन बाद कहा कि वे क्लाइंट्स को उपलब्ध कराने वाली सेवाओं में डिजिटल करेंसी को शामिल करेगा. मास्टरकार्ड ने कहा कि वह अपने नेटवर्क पर चुनिंदा क्रिप्टो करेंसी को सपोर्ट करना शुरू करेगी. ज्यादातर लोगों का मानना है कि करेंसी के तौर पर बिटक्वॉइन के बड़े स्तर की ओर धीरे-धीरे आगे बढ़ रहे हैं. Berkeley में यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफॉर्निया के फाइनेंस प्रोफेसर Richard Lyons ने कहा कि यह अनिवार्य है. Lyons ने कहा कि बिटक्वॉइन और दूसरी डिजिटल करेंसी अगले पांच सालों में ट्रांजैक्शन वाली मुद्रा बन जाएंगी. यह रातों-रात नहीं होने वाला है.

Gold, Silver Rates: सोने में आई मामूली गिरावट, चांदी की कीमतों में रही तेजी

क्या है बिटक्वॉइन?

बिटक्वॉइन एक वर्चुअल करेंसी हैं . यह अन्य करंसी की तरह जैसे डॉलर, रुपये या पाउन्ड की तरह भी इस्तेमाल की जा सकती है. ऑनलाइन पेमेंट के अलावा इसको डॉलर और अन्य मुद्राओं में भी एक्सचेंज किया जा सकता है. यह करंसी बिटक्वॉइन के रूप में साल 2009 में चलन में आई थी. आज इसका इस्तेमाल ग्लोबल पेमेंट के लिए किया जा रहा है. बिटक्वॉइन की ख़रीद और बिक्री के लिए एक्सचेंज भी हैं. दुनियाभर के बड़े बिजनेसमैन और कई बड़ी कंपनियां वित्तीय लेनदेन में दुनिया की सबसे महंगी करेंसी बिटक्वॉइन दुनिया की सबसे महंगी करेंसी बन गई है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Bitcoin: रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचा बिटक्वॉइन, पहली बार 50,000 डॉलर के पार

Go to Top