scorecardresearch

Cryptocurrency News: इस साल 30 हजार डॉलर से नीचे आ सकता है Bitcoin, इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट फर्म का अनुमान

Bitcoin Outlook 2022: Invesco का अनुमान है कि इस साल बिटकॉइन में पिछले साल के पीक के मुकाबले 50 प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट आ सकती है.

Bitcoin may slide below $30,000 this year as the crypto bubble begins to burst: Invesco
दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) में पिछले साल नवंबर में जबरदस्त तेजी देखी गई थी.

Bitcoin Outlook 2022: दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) में पिछले साल नवंबर में जबरदस्त तेजी देखी गई थी और इसकी कीमत रिकॉर्ड 68,000 डॉलर से पार पहुंच गई थी. अब ग्लोबल इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट फर्म Invesco ने अनुमान जताया है कि इस साल बिटकॉइन में पिछले साल के पीक के मुकाबले 50 प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट हो सकती है, क्योंकि बिटकॉइन का बुलबुला फूट रहा है. इनवेस्को के एसेट एलोकेशन ग्लोबल हेड पॉल जैक्सन ने कहा कि बिटकॉइन का बड़े पैमाने पर मार्केटिंग हमें 1929 की अमेरिकन स्टॉक मार्केट क्रैश में स्टॉकब्रोकरों की गतिविधि की याद दिलाता है.

अक्टूबर के अंत तक 34,000 से 37,000 डॉलर तक हो सकती गिरावट

जैक्सन ने कहा, “हम जानते हैं कि यह कैसे समाप्त हुआ और बिटकॉइन पहले से ही लगभग 42,000 डॉलर (7 जनवरी 2022 तक) गिर गया है.” जैक्सन ने Bitcoin को फाइनेंशियल माइनिया कहा. उन्होंने कहा कि किसी भी फाइनेंशियल माइनिया के पीक पर पहुंचने के बाद एक साल में उसमें 45% तक की गिरावट देखने को मिलती है. बिटकॉइन में भी ऐसा पैटर्न दिख सकता है. बिटकॉइन की कीमत अक्टूबर के अंत तक गिरकर 34,000 डॉलर – 37,000 डॉलर हो सकती है. यह इस बात पर निर्भर करता है कि पीक को डिफाइन करने के लिए डेली या मंथली डेटा का इस्तेमाल किया जाता है.

Reliance Retail ने रोबोटिक्स स्टार्टअप Addverb Tech में खरीदी 54% हिस्सेदारी, 983 करोड़ रुपये में सौदा हुआ

नवंबर में 68 हजार डॉलर को पार कर गया था बिटकॉइन

CoinMarketCap.com के आंकड़ों से पता चलता है कि बिटकॉइन जुलाई 2020 में लगभग 9,000 डॉलर से बढ़कर पिछले साल अप्रैल में 63,000 डॉलर से अधिक हो गया था, जो जुलाई में 30,000 डॉलर से नीचे गिर गया था. नवंबर में यह लगभग 68,000 डॉलर के पीक पर पहुंच गया और तब से इसकी कीमत नीचे गिर रही है. 2022 के पहले सप्ताह में बिटकॉइन 41,500 डॉलर तक पहुंच गया और वर्तमान में इस रिपोर्ट को दर्ज करने के समय यह 41,661 डॉलर पर कारोबार कर रहा था.

राकेश झुनझुनवाला की फेवरिट Nazara Technologies का बड़ा एलान, ऐड टेक कंपनी Datawrkz में खरीदेगी 55% हिस्सेदारी

इस साल 30 हजार डॉलर से ज्यादा की गिरावट का अनुमान

जैक्सन का कहना है कि बिटकॉइन के प्राइस में बढ़ोतरी और कमी एक ‘फाइनेंशियल मानिया’ की तरह थी. जिसमें कीमतें चरम पर पहुंचने से पहले तीन साल तक बढ़ती हैं, इसके बाद अगले तीन सालों में इसकी कीमतों में गिरावट होती है. जैक्सन का मानना है कि इस साल बिटकॉइन का 30,000 डॉलर से नीचे गिरना कोई बड़ी बात नहीं है. कीमत के पीक से पहले और बाद में 12 महीने की अवधि को ‘Maniac phase’ के रूप में जाना जाता है. इसके विपरीत, इन्वेस्टमेंट बैंक गोल्डमैन सैक्स ने इस महीने की शुरुआत में बिटकॉइन की कीमत में बढ़ोतरी की भविष्यवाणी की थी. गोल्डमैन सैक्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, डिजिटल एसेट्स को व्यापक रूप से अपनाने के बाई-प्रोडक्ट के रूप में सोने से मार्केट शेयर लेने से क्रिप्टो अगले पांच वर्षों में 100,000 डॉलर से थोड़ा अधिक हो सकता है.

(Article: Sandeep Soni)

(इस स्टोरी में क्रिप्टोकरेंसी के बारे में सुझाव/सिफारिशें संबंधित कमेंटेटर/रिपोर्ट द्वारा दी गई हैं. फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन इसमें कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है. कृपया क्रिप्टोकरेंसी में लेनदेन/निवेश करने से पहले अपने वित्तीय सलाहकार से परामर्श लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News