सर्वाधिक पढ़ी गईं

बिटक्वॉइन 22000 डॉलर के पार: 1 साल में निवेशकों के 5 लाख बन गए 16 लाख, कैसे काम करती है करंसी

Bitcoin on Record High: बिटक्वॉइन ने गुरूवार के कारोबार में पहली बार 22000 डॉलर का भी स्तर पार कर लिया है.

Updated: Dec 17, 2020 10:55 AM
Bitcoin on Record HighThe Supreme Court had lifted the RBI ban on banks and financial institutions from offering services to businesses or individuals dealing in digital currencies.

Bitcoin on Record High: बिटक्वॉइन में रिकॉर्ड तेजी जारी है. बुधवर को पहली बार 20000 डॉलर का लेवल पार करने के बाद गुरूवार के कारोबार में बिटक्वॉइन ने पहली बार 22000 डॉलर का भी स्तर पार कर लिया है. आज के कारोबार में बिटक्वॉइन करीब 13 फीसदी मजबूत होकर 22158 डॉलर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया. सुबह 10:15 बजे के करीब बिटक्वॉइन 21850 डॉलर के पासर ट्रेड कर रहा था. इस साल की बात करें तो 1 जनवरी के बाद से इस क्रिप्टोकरंसी का रिटर्न जहां 208 फीसदी रहा है. वहीं पिछले 5 साल में यानी दिसंबर 2015 से दिसंबर 2020 के बीच इसने निवेशकों को 4800 फीसदी से भी ज्यादा रिटर्न दिया है.

1 और 5 साल का रिटर्न

इस साल की बात करें तो 1 जनवरी 2020 को बिटक्वॉइन 7180 डॉलर के स्तर पर था. जो आज 22000 डॉलर पर पहुंच गया. यानी निवेशकों का पैसा यहां 208 फीसदी बढ़ गया. वहीं 5 साल की बात करें तो 15 दिसंबर 2015 को एक बिटक्वॉइन का भाव 415 डॉलर के करीब था. यानी तबसे इसमें 4800 फीसदी की तेजी आ चुकी है.

1 साल में 5.3 लाख के बने 16.3 लाख

साल के शुरूआत में देखें तो 7180 डॉलर के हिसाब से एक बिटक्वॉइन की कीमत करीब 5.3 लाख रुपये थी. वहीं मौजूदा भाव 21820 डॉलर के हिसाब से इसका भाव अब बढ़कर 16.38 लाख रुपये हो गई है. बता दें कि जब 2009 में बिटक्वॉइन शुरू हुआ था तो उसकी कीमत 1 रुपये से भी कम थी.

2009 में 36 पैसे था भाव

बिटक्वॉइन 2009 में पहली बार आई थी, जब इसकी वैल्यू महज 36 पैसे थी. बिटक्वॉइन की पॉपुलैरिटी का अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि इसका भाव 11 साल में 36 पैसे से बढ़कर 16 लाख से भी ज्यादा हो गया.

साल 2017 में बना था रिकॉर्ड

बता दें कि इसके पहले साल 2017 में बिटक्वॉइन बेहद चर्चा में आ गया था, जब उसने रिकॉर्ड तेजी दिखाई थी. 2017 के शुरूआत में एक बिटक्वॉइन की कीमत 1000 डॉलर के आस पस थी. जबकि दिसंबर 2017 में यह रिकॉर्ड तेजी के साथ 19,783 डॉलर के भाव पर चला गया. यानी एक साल में यहां निवेशकों का पैसा 19 गुना से ज्यादा बढ़ गया था. उसी के बाद से क्रिप्टोकरंसी की वैधता को लेकर कई सवाल भी उठे थे. हालांकि दिसंबर 2017 की तेजी के बाद से 2 साल से भी ज्यादा समय तक बिटक्वॉइन पर दबाव देखने को मिला था. लेहिकन इसमें एक बार फिर रैली शुरू हो गई है. एक्सपर्ट इसके आगे भी जारी रहने की बात कह रहे हैं.

क्या है बिटक्वॉइन?

बिटक्वॉइन एक वर्चुअल करेंसी हैं . यह अन्य करंसी की तरह जैसे डॉलर, रुपये या पाउन्ड की तरह भी इस्तेमाल की जा सकती है. ऑनलाइन पेमेंट के अलावा इसको डॉलर और अन्य मुद्राओं में भी एक्सचेंज किया जा सकता है. यह करंसी बिटक्वॉइन के रूप में साल 2009 में चलन में आई थी. आज इसका इस्तेमाल ग्लोबल पेमेंट के लिए किया जा रहा है. बिटक्वॉइन की ख़रीद और बिक्री के लिए एक्सचेंज भी हैं. दुनियाभर के बड़े बिजनेसमैन और कई बड़ी कंपनियां वित्तीय लेनदेन में दुनिया की सबसे महंगी करेंसी बिटक्वॉइन दुनिया की सबसे महंगी करेंसी बन गई है.

कैसे काम करती है यह करंसी

बिटक्वॉइन को अपने कंप्यूटर या मोबाइल फोन पर बिटक्वॉइन वॉलेट के रूप में इंस्टॉल कर सकते हैं. इससे आपका पहला बिटक्वॉइन एड्रेस बनेगा और जरूरत पड़ने पर आप एक से ज्यादा एड्रेस भी बना सकते हैं. अब आप फ्रेंड्स को भी अपना बिटक्वॉइन एड्रेस दे सकते हैं. इसके बाद आप उनसे पेमेंट ले या पेमेंट कर सकते हैं.

रिस्क भी है

बिटक्वॉइन जैसी वर्चुअल करंसी में कभी भी भारी उतार-चढ़ाव देखने को मिल जाता है. पिछले 5 सालों में कई मौकों पर बिटक्वॉइन में बिना किसी संकेत के भारी गिरावट आ गई. तो कई बार इसमें भारी तेजी भी आई. 2013 में अप्रैल महीने में बिटक्वॉइन की कीमत एक ही रात में 70 फीसदी से अधिक गिरी थी. वहीं 2017 में दिसंबर महीने में इसमें कई गुना तेजी आई. बिटकॉइन में एक रिस्क यह भी है कि इसका कइ्र बार इस्तेमाल हैकिंग जैसे कामों में होता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. बिटक्वॉइन 22000 डॉलर के पार: 1 साल में निवेशकों के 5 लाख बन गए 16 लाख, कैसे काम करती है करंसी
Tags:Bitcoin

Go to Top