सर्वाधिक पढ़ी गईं

Cryptocurrency: बिटक्वाइन के दाम फिर 60 हजार डॉलर के नजदीक, अमेरिका में ETF को मंजूरी मिलने की उम्मीद में क्रिप्टोकरेंसी ने लगाई छलांग

ब्लूमबर्ग न्यूज की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि यूएस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन अमेरिका के पहले फ्यूचर ईटीएफ को मंजूरी दे सकता है. अगले सप्ताह इसमें ट्रेडिंग शुरू हो सकती है.

October 15, 2021 7:09 PM

अमेरिका में क्रिप्टोकरेंसी बिटक्वाइन (Bitcoin) शुक्रवार को 60 हजार डॉलर के नजदीक पहुंच गया. शुक्रवार को छह महीने में पहली बार यह क्रिप्टोकरेंसी अपने शिखर के लगभग पहुंचा है. दरअसल अमेरिकी रेगुलेटर की ओर से इस क्रिप्टोकरेंसी में फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट के आधार पर ईटीएफ (ETF) को मंजूरी मिलने की उम्मीद बढ़ गई है. इस वजह से इसकी कीमतों में इतनी उछाल देखी जा रही है.

ईटीएफ को मंजूरी मिलने की उम्मीद में बढ़ी कीमत

क्रिप्टोकरेंसी निवेशकों को अमेरिका में बिटक्वाइन में पहले ईटीएफ को मंजूरी मिलने का इंतजार कर रहे हैं. हाल में आई रैली में इसकी अहम भूमिका मानी जा रही है. माना जा रहा है कि ईटीएफ को मंजूरी मिलने के बाद इसे मुख्यधारा की करेंसी के तौर पर मान्यता मिलने लगेगी. दुनिया का सबसे बड़ा क्रिप्टोकरेंसी बिटक्वाइन 17 अप्रैल से 4.7 फीसदी बढ़ चुका है. ब्लूमबर्ग न्यूज की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि यूएस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन अमेरिका के पहले फ्यूचर ईटीएफ को मंजूरी दे सकता है. अगले सप्ताह इसमें ट्रेडिंग शुरू हो सकती है.

एशिया स्थित क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज AAX के रिसर्च और स्ट्रेटजी हेड बेन केसलिन का कहना है कि माना जा रहा है कि चौथी तिमाही अमेरिका में बिटक्वाइन ईटीएफ के मामले में चीजें काफी आगे बढ़ जाएंगी. VanEck Bitcoin Trust, प्रोशेयर्स ( ProShares) इनवेस्को (Invesco) वेकेरी (Valkyrie) और ग्लैक्सी डिजिटल फंड जैसे कई फंड मैनेजर्स ने अमेरिका में बिटक्वाइन एक्सचेंज लॉन्च करने के लिए अप्लाई किया है. कनाडा और यूरोप में इस साल क्रिप्टो ईटीएफ लॉन्च हो चुका है.

Swing Pricing Framework: स्विंग प्राइजिंग से घटेगा रिटर्न? जानिए निवेशकों को इससे क्या है नफा-नुकसान

अमेरिका में निवेशकों को सुरक्षा का भरोसा

एसईसी के चेयरमैन गेरी जेन्सलर ने कहा था कि क्रिप्टो मार्केट में कई टोकेन शामिल होते हैं, जो गैर रजिस्टर्ड सिक्योरिटीज भी हो सकते हैं. इससे प्राइस मैन्यूपुलेशन को बढ़ावा मिल सकता है. इससे लाखों निवेशकों का निवेश डूब सकता है. ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रोशेयर्स और इन्वेस्को ने फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट पर जो प्रपोजल दिया है वे म्यूचुअल फंड नियमों के तहत दाखिल किए गए हैं. गेरी जेन्सलर ने कहा कि इन नियमों तहत निवेशकों को काफी सुरक्षा मिली हुई है.

Wipro Outlook: विप्रो के रिजल्ट्स से उत्साहित निवेशक कर रहे जमकर खरीदारी, मार्केट एक्सपर्ट्स ने दी ये सलाह

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Cryptocurrency: बिटक्वाइन के दाम फिर 60 हजार डॉलर के नजदीक, अमेरिका में ETF को मंजूरी मिलने की उम्मीद में क्रिप्टोकरेंसी ने लगाई छलांग

Go to Top