Bharti Airtel Q1 Result: भारती एयरटेल का मुनाफा 5.5 गुना बढ़कर 1607 करोड़, रेवेन्यू में 22% इजाफा, ARPU में हुई नंबर वन

Bharti Airtel Q1FY23 Result : मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही के दौरान भारती एयरटेल का ARPU बढ़कर 183 रुपये हो गया, जो मार्केट लीडर रिलायंस जियो से बेहतर है.

Bharti Airtel Q1 Result: भारती एयरटेल का मुनाफा 5.5 गुना बढ़कर 1607 करोड़, रेवेन्यू में 22% इजाफा, ARPU में हुई नंबर वन
भारती एयरटेल ने पहली तिमाही के लिए शानदार नतीजे घोषित किए हैं.

Bharti Airtel Q1 FY23 Result : देश की प्रमुख टेलिकॉम कंपनी भारती एयरटेल ने मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही यानी अप्रैल-जून 2022 के दौरान शानदार नतीजों का एलान किया है. इस अवधि के दौरान कंपनी के कंसॉलिडेटेड शुद्ध लाभ में सालाना आधार (YoY) पर 5.5 गुना का शानदार उछाल दर्ज किया गया और यह 284 करोड़ से बढ़कर 1607 करोड़ रुपये पर जा पहुंचा. इसी दौरान कंपनी की रेवेन्यू में भी 22 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली. कंपनी के प्रदर्शन में आए इस सुधार के लिए 4G सब्सक्राइबर्स की संख्या बढ़ने के साथ ही साथ डेटा की खपत (Data Consumption) में हुई बढ़ोतरी को भी जिम्मेदार माना जा रहा है.

Syrma SGS Tech IPO: ढाई महीने बाद आने वाला है आईपीओ; 840 करोड़ का इश्यू, चेक करें GMP, प्राइस बैंड समेत तमाम डिटेल

ARPU में जियो से आगे निकली भारती एयरटेल

टेलिकॉम इंडस्ट्री में किसी भी कंपनी के प्रदर्शन को जांचने का एक महत्वपूर्ण आधार ARPU यानी एवरेज रेवेन्यू प्रति यूज़र (Average Revenue Per User) को माना जाता है. भारती एयरटेल ने इस पैमाने पर भी काफी अच्छा प्रदर्शन किया है. मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही में कंपनी की ARPU 183 रुपये रही है, जबकि पिछले साल की इसी अवधि में यह 146 रुपये थी. भारती एयरटेल के लिए अच्छी बात यह है कि इस मामले में यह इंडस्ट्री की लीडर रिलायंस जियो और तीसरे नंबर की कंपनी वोडाफोन आइडिया से बेहतर स्थिति में है. जियो का ARPU 175.7 रुपये और वोडाफोन आइडिया का ARPU महज 128 रुपये है. कंपनी ने पिछले साल नवंबर में टैरिफ में बढ़ोतरी का एलान करते समय कहा था कि मोबाइल उपभोक्ता का औसत ARPU कम से कम 200 रुपये होना चाहिए, जिसे आगे चलकर 300 रुपये तक पहुंचाना होगा. ऐसा होने पर ही कंपनी का बिजनेस मॉडल लाभदायक बन पाएगा. जानकारों का मानना है कि पिछले साल टैरिफ में की गई यब बढ़ोतरी ही कंपनी के ARPU में बढ़ोतरी की प्रमुख वजह है.

Short Term Stock Tips: 1 महीने के लिए करना है निवेश, मिल सकता है 8%-16% रिटर्न, इन 4 शेयरों पर लगाएं दांव

एवरेज डेटा खपत में 16.6% का इजाफा

एयरटेल के मुताबिक पहली तिमाही के दौरान कंपनी के एक मोबाइल ग्राहक की औसत मोबाइल डेटा खपत (consumption per mobile data customer) 19.5 जीबी प्रति माह रही, जो पिछले साल की इसी अवधि के मुकाबले 16.6 फीसदी अधिक है. वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही के दौरान कंपनी की कंसॉलिडेटेड ऑपरेशनल रेवन्यू भी बढ़कर 32,805 करोड़ रुपये हो गई, जबकि पिछले साल की इसी अवधि में यह 26,854 करोड़ रुपये रही थी. यानी इस दौरान कंपनी की रेवन्यू में करीब 22 फीसदी की तेजी आई है. कंपनी ने यह जानकारी रेगुलेटरी फाइलिंग में दी है.

भारती एयरटेल नेक्स्ट जेनरेशन 5G मोबाइल सेवाएं लॉन्च करने की तैयारी में तेजी से जुटी हुई है. पिछले हफ्ते ही कंपनी ने सरकारी नीलामी के दौरान 43,084 करोड़ रुपये खर्च करके 19,867 मेगाहर्ट्ज़ (Mhz) 5G स्पेक्ट्रम खरीदा है. इस नीलामी में 5G स्पेक्ट्रम खरीदने के मामले में भारती एयरटेल, रिलायंस जियो के बाद दूसरे नंबर पर रही है. रिलायंस जियो ने 88,078 करोड़ रुपये में 24,740 Mhz स्पेक्ट्रम खरीदा है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News