मुख्य समाचार:

सोने में आ चुकी है तेजी! अब चांदी पर दांव लगाने की बारी, 1 साल में 60 हजार तक जा सकता है भाव

चांदी अभी सस्ती है और लॉकडाउन खुलने से इंडस्ट्रियल डिमांड बढ़ने की उम्मीद है. ऐसे में अब चांदी में अच्छी रैली शुरू होगी.

Published: June 10, 2020 11:08 AM
Silver, Gold, best time to invest safe heaven assets class Silver, Industrial demand of Silver may increase as Unlock, open lockdown and economy, should you invest in Silver at current scenario, चांदी, सोना, सिल्वर, गोल्डचांदी अभी सस्ती है और लॉकडाउन खुलने से इंडस्ट्रियल डिमांड बढ़ने की उम्मीद है. ऐसे में अब चांदी में अच्छी रैली शुरू होगी.

Opportunity To Invest In Silver: कोरोना संकट के काल में जहां इक्विटी मार्केट या म्यूचुअल फंड में बड़ी गिरावट देखने को मिली. सोने में निवेशकों ने जमकर पैसा कमाया. इस साल की बात करें तो अबतक सोने ने करीब 18 फीसदी रिटर्न दिया है. रुपये में बात करें तो सोना इस साल 7000 रुपये से ज्यादा महंगा हो गया. उस रेश्यो में चांदी में तेजी नहीं रही है. गोल्ड सिल्वर रेश्यो अभी भी 100 के करीब है. एक्सपर्ट का कहना है कि कोरोना क्राइसिस की वजह से सोने में तेजी अब डिस्काउंट हो रही है. लॉकडाउन खुलने से दुनियाभर की इक्विटी मार्केट में एक बार फिर तेजी दिखने लगी है. कम से कम शॉर्ट टर्म के लिए सोने में तेजी अब थमती नजर आ रही है. ऐसे में अगर गोल्ड की तेजी डरा रही है तो मौजूदा समय में चांदी आपके लिए सबसे बेहतर विकल्प हो सकता है.

सोने के मुकाबले चांदी बहुत सस्ती

केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया का कहना है कि सोने में तेजी से गोल्ड और सिल्वर रेश्यो पिछले दिनों 120 के पार चला गया था. यह 100 साल में सबसे ज्यादा था. अभी भी यह रिकवर होकर 97 के पार बना हुआ है. यानी सोने के मुकाबले चांदी अभी बहुत सस्ती है. चांदी 1 जनवरी के आस पास 47666 रुपये प्रति किलो पर थी, जो अभी 48500 के आस पास थी. इस बीच चांदी में फरवरी और मार्च में गिरावट भी आई. चांदी अभी सस्ती है और लॉकडाउन खुलने से इंडस्ट्रियल डिमांड बढ़ने की उम्मीद है. ऐसे में अब चांदी में अच्छी रैली शुरू होगी.

कैसे करें चांदी में मुनाफे की ट्रेडिंग

केडिया का कहना है कि चांदी अभी 48500 रुपये प्रति किलो के भाव के आस पास ट्रेड कर रहा है. अगर चांदी में कोई भी गिरावट आती है तो 1 साल में 58 हजार से 60 हजार का टारगेट लेकर निवेश करना चाहिए. उनका मानना है कि अगले एक साल में चांदी में 10 से 12 हजार प्रति किलो की तेजी संभव है.

इन वजहों से चांदी बेस्ट विकल्प!

  • पिछले 1 साल की बात करें तो चांदी में तेजी नहीं आई है. चांदी भी सेफ हैवन माने जाने वाला एसेट क्लास है.
  • दूसरी ओर सोने में रिकॉर्ड तेजी आ चुकी है और यह अब महंगा हो चुका है.
  • दुनियाभर में लॉकडाउन खुलने से अब चांदी की इंडस्ट्रियल मांग बढ़ने की उम्मीद है.
  • चांदी आकर्षक भाव पर है, ऐसे में इंडस्ट्री की ओर से मांग बढ़ सकती है.
  • लॉकडाउन के चलते कई माइन्स बंद पड़ी हैं. ऐसे में सप्लाई में भी कमी आने से डिमांड बढ़ेगी.
  • देश में इस साल बेहतर मानसून रहने की उम्मीद है, ऐसे में रूरल डिमांड बढ़ेगी.
  • भारत में सोलर पावर पर लगातार काम हो रहा है, जिसमें चांदी की बड़ी खपत होती है.
  • लॉकडाउन से उबरने के बाद आने वाले दिनों में फेस्टिव डिमांड तेज होगी.

गोल्ड सिल्वर रेश्यो के बारे में समझें

गोल्ड-सिल्वर रेश्यो ये दर्शाता है कि एक औंस सोने से आप कितनी चांदी की खरीदारी कर सकते हैं. अभी गोल्ड सिल्वर रेश्यो 97 पर है, जिसका मतलब है कि 1 औंस गोल्ड खरीदने के लिए 97 औंस चांदी चाहिए. साफ है कि सोने की तुलना में चांदी अभी बहुत ज्यादा सस्ती हो चुकी है. यह रेश्यो जितना ज्यादा होगा, उसका मतलब है कि चांदी की तुलना में सोना ज्यादा महंगा हुआ है. वहीं कम होने का मतलब है कि चांदी में तेजी आ रही है. 10 साल के गोल्ड सिल्वर का औसत रेश्यो 62 रहा है, जबकि मौजूदा समय में यह रेश्यो 97 के आस-पास है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. सोने में आ चुकी है तेजी! अब चांदी पर दांव लगाने की बारी, 1 साल में 60 हजार तक जा सकता है भाव

Go to Top