मुख्य समाचार:

2019: इस साल लॉर्जकैप का चला सिक्का; इन शेयरों ने 40 से 50% तक ​दिया रिटर्न

सुस्ती की खबरों के बाद भी लॉर्जकैप शेयरों के अच्छे प्रदर्शन से बाजार ने रिकॉर्ड हाई बनाया.

December 13, 2019 12:53 PM
Large Cap Stocks, Bluechips, Large Cap stocks performance in 20919 YTD, best large cap stocks, Invest In Large Cap Stocks, year end 2019, stock marketसुस्ती की खबरों के बाद भी लॉर्जकैप शेयरों के अच्छे प्रदर्शन से बाजार ने रिकॉर्ड हाई बनाया.

साल 2019 अब खत्म होने जा रहा है. इस साल की बात करें तो पूरे साल किसी न किसी वजह से शेयर बाजार में उतार चढ़ाव देखने को मिला है. अब साल के अंत में देखें तो जहां मिडकैप और स्मालकैप इंडेक्स में 5 और 10 फीसदी गिरावट देखने को मिली है. वहीं, सेंसेक्स में 12 फीसदी और निफ्टी 50 में 10 फीसदी से ज्यादा तेजी देखने को मिली है. ये दोनों इंडेक्स लॉर्जकैप शेयरों का प्रतिनिधित्व करते हैं. एक्सपर्ट भी मान रहे हैं कि लगातार कमजोर अर्थव्यवस्था की खबरों के बाद भी लॉर्जकैप शेयरों के अच्छे प्रदर्शन से बाजार अपने रिकॉर्ड हाई पर पहुंच गया है. हालांकि इनमें भी चुनिंदा शेयरों का प्रदर्शन मजबूत रहा है.

इस साल की झलकियां

  • इस साल की बात करें तो देश में लोकसभा चुनाव हुए. जिसके पहले बाजार में पॉलिटिकल अनसर्टेनिटी का फैक्टर चला और निवेशक सतर्क रहे.
  • इस बीच जियो पॉलिटिकल टेंशन और ट्रेड वार की खबरों ने भी बाजार को निराश किया. दुनियाभर के निवेशकों ने इक्विटी से निवेश निकालकर सेफ माने जाने वाले एसेट क्लास गोल्ड में निवेश किया.
  • मई के अंत में मोदी सरकार के दोबारा सत्ता में वापसी के बाद शेयर बाजार नई ऊंचाइयों पर पहुंच गया. हालांकि उसके बाद बजट में अर्थव्यवस्था को उबारने को लेकर कोई क्लीयर रोडमैप न होने से बाजार में बड़ी गिरावट आई.
  • इस साल एनबीएफसी सेक्टर में लिक्विडिटी की कमी ने मांग कमजोर किया. खासतौर से आटो सेक्टर में निराशा छाई रही.
  • सितंबर और अक्टूबर के दौरान सरकार की ओर से कई बार बूस्टर पैकेज का एलान किया गया, जिसमें कॉरपोरेट अैक्स में कटौती भी शामिल है. इसके बाद से बाजार के सेंटीमेंट में कुछ सुधार हुआ और ​कई निगेटिव खबरों के बाद भी नवंबर में बाजार ने रिकॉर्ड हाई बनाया.

सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाले लॉर्जकैप

बजाज फाइनेंस (Bajaj Finance) 

नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी बजाज फाइनेंस में इस साल अब तक 54 फीसदी तेजी रही है. इस दौरान कंपनी का शेयर 2641 रुपये के भाव से बढ़कर 12 दिसंबर को 4056 रुपये के भाव तक पहुंच गया. इस दौरान बजाज फाइनेंस का मार्केट कैप बढ़कर 244054.11 करोड़ रुपये पहुंच गया. मार्केट कैप के मामले में यह बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों में 11वीं सबसे बड़ी कंपनी है.

कंपनी के 6 महीने का औसत वॉल्यूम 1,949,382 है. कंपनी का P/E 49.43 है. कंपनी नॉन बैंकिंग फाइनेंस सेक्टर में कारोबार करती है. कंज्यूमर प्रोडक्ट के अलावा कंपनी आटो और होम लोन भी प्रोवाइड करते हैं. सितंबर तिमाही में बजाज फाइनेंस का मुनाफा सालाना आधार पर 63 फीसदी बढ़कर 1506 करोड़ रुपये हो गया है.

एयरटेल (Airtel) 

टेलिकॉम कंपनी भारती एयरटेल इस साल लॉर्जकैप सेग्मेंट में दूसरी टॉप गेनर रही है. इस साल अबतक एयरटेल ने 53 फीसदी रिटर्न दिया है. इस साल शेयर का भाव 287 रुपये से बढ़कर 438.30 रुपये हो गया है. एयरटेल का मार्केट कैप 224,933.89 करोड़ रुपये है, जबकि कंपनी का P/E 56.35 है. सितंबर तिमाही में एयरटेल को 23,044 करोड़ रुपये का भारी भरकम नुकसान हुआ था. ऐसा एजीआर इश्यू के लिए 28,450 करोड़ प्रोविजंस करने के चलते हुआ. हालांकि टैरिफ बढ़ाने के एलान के बाद एक्सपर्ट मान रहे हैं कि इससे एयरटेल को बड़ा फायदा होगा और वह मुनाफे से दबाव कम कर सकेगी.

ICICI बैंक 

ICICI बैंक ने इस साल अबतक करीब 49 फीसदी रिटर्न दिया है. शेयर का भाव इस साल 360 रुपये से बढ़कर 535 रुपये के भाव तक पहुंच गया. अभी ICICI बैंक का मार्केट कैप बढ़कर 346,032.15 करोड़ रुपये पहुंच गया. मार्केट कैप के मामले में यह बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों में 6ठीं सबसे बड़ी कंपनी है.

बैंक का P/E 67.36 है. जबकि 6 महीने का औसत वॉल्यूम 23,887,392 है. कंपनी के 52 हफ्तों का रेंज 336- 537 के बीच रहा है. सितंबर तिमाही में ICICI बैंक का मुनाफा 6.09 फीसदी गिरा है, हालांकि एसेट क्वालिटी गेहतर हुई है. बैंक का ग्रॉस एनपीए गिरकर ग्रॉस एडवांस का 6.37 फीसदी रह गया. एक साल पहले की सितंबर तिमाही में ग्रॉस एनपीए 8.54 फीसदी पर था.

रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) 

रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) में इस साल अबतक करीब 40 फीसदी तेजी रही है. इस दौरान शेयर 1121 रुपये के भाव से बढ़कर 12 दिसंबर को 1567.50 रुपये के भाव तक पहुंच गया. इस दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैप बढ़कर 10 लाख करोड़ के पार पहुंचा जो अब 9.94 लाख करोड़ के करीब है. आरआईएल घरेलू शेयर बाजार में सबसे बड़ी मार्केट कैप वाली कंपनी है.

कंपनी के 6 महीने का औसत वॉल्यूम 9,073,857 है. कंपनी का P/E 23.67 है. कंपनी का करोबार पेट्रोलियम के अलावा रिटेल और टेलिकॉम सेक्टर में भी है. सितंबर तिमाही की बात करें तो कंपनी को रिकॉर्ड तिमाही मुनाफा हुआ है. टेलिकॉम और रिटेल में भी कंपनी मुनाफे में रही है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. 2019: इस साल लॉर्जकैप का चला सिक्का; इन शेयरों ने 40 से 50% तक ​दिया रिटर्न

Go to Top