मुख्य समाचार:

Best Mutual Fund to Invest in 2020: निवेश के लिए चुनें बेस्ट म्यूचुअल फंड, 10 साल में 5 गुना तक बढ़ा चुके हैं दौलत

Best Mutual Fund to Invest in India: इक्विटी सेग्मेंट में म्यूचुअल फंड का रिटर्न बेहतर होने लगा है.

Published: July 30, 2020 1:27 PM
best mutual funds,best mutual fund to invest,best mutual funds for 2020,best mutual fund for long term,best mutual fund for short term,best mutual fund to invest today,best mutual funds in india,best mutual fund to invest in india,best mutual fund for sipBest Mutual Fund to Invest in India: इक्विटी सेग्मेंट में म्यूचुअल फंड का रिटर्न बेहतर होने लगा है.

Best Mutual Fund to Invest 2020 in india: पिछले 3 महीने के दौरान इक्विटी मार्केट में जो रिकवरी आई है, उसका असर अब म्यूचुअल फंंड बाजार पर दिखने लगा है. खासतौर से इक्विटी फंडों में अब हलचल देखने को मिल रही है. इक्विटी सेग्मेंट की हर कटेगिरी में अब पिछले 3 महीने का रिटर्न देखें तो डबल डिजिट में पहुंच गया है. वहीं अलग अलग स्कीम की बात करें तो निवेशकों को 3 महीने में 40 फीसदी तक रिटर्न मिला है. एक्सपर्ट का कहना है कि साल 2020 म्यूचुअल फंड बाजारों के लिए भी उतार चढ़ाव वाला रहा है. लेकिन लो वैल्युएशन का फायदा उठाने का सही समय है. शेसर बाजार में तेजी का फायदा यहां मिलेगा. एक्सपर्ट इक्विटी सेग्मेंट में लॉर्जकैप, मल्टीकैप के अलावा लॉर्जकैप एंड मिडकैप चुनने की सलाह दे रहे हैं. उनका कहना है कि अर्थव्यवस्था के रिकवरी फेज में सबसे पहले लार्जकैप बेहतर प्रदर्शन करते हैं.

कटेगिरी: लॉर्ज एंड मिडकैप फंड

1. मिराए एसेट इमर्जिंग ब्लूचिप फंड

10 साल का रिटर्न: 18.15%
10 साल में 1 लाख निवेश की वैल्यू: 5.30 लाख
10 साल में 10 हजार मंथली SIP की वैल्यू: 31.67 लाख

मिनिमम निवेश: 5000 रुपये
मिनिमम SIP: 1000 रुपये
लांच डेट: 09 जुलाई, 2008
लांच के बाद से रिटर्न: 18.45%
एसेट: 9,834 करोड़ (30 जून, 2020)
एक्सपेंस रेश्यो: 1.76% (30 जून, 2020)
रिस्क ग्रेड: लो
रिटर्न ग्रेड: हाई
होल्डिंग: HDFC बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज, ICICI बैंक, इंफोसिस

2. केनरा रोबेको इमर्जिंग इक्विटीज फंड

10 साल का रिटर्न: 15.52%
10 साल में 1 लाख निवेश की वैल्यू: 4.23 लाख
10 साल में 10 हजार मंथली SIP की वैल्यू: 27.83 लाख

मिनिमम निवेश: 5000 रुपये
मिनिमम SIP: 1000 रुपये
लांच डेट: 01 मार्च, 2005
लांच के बाद से रिटर्न: 15.63%
एसेट: 5,162 करोड़ (30 जून, 2020)
एक्सपेंस रेश्यो: 1.97% (30 जून, 2020)
रिस्क ग्रेड: एवरेज
रिटर्न ग्रेड: हाई
होल्डिंग: रिलायंस इंडस्ट्रीज, HDFC बैंक, ICICI बैंक, एयरटेल

कटेगिरी: मल्टीकैप फंड

3. SBI फोकस्ड इक्विटी फंड

10 साल का रिटर्न: 13.80%
10 साल में 1 लाख निवेश की वैल्यू: 3.64 लाख
10 साल में 10 हजार मंथली SIP की वैल्यू: 23.29 लाख

मिनिमम निवेश: 5000 रुपये
मिनिमम SIP: 500 रुपये
लांच डेट: 11 अकटूबर, 2004
लांच के बाद से रिटर्न: 18.23%
एसेट: 8,962 करोड़ (30 जून, 2020)
एक्सपेंस रेश्यो: 1.88% (30 जून, 2020)
रिस्क ग्रेड: एवरेज से कम
रिटर्न ग्रेड: हाई
होल्डिंग: HDFC बैंक, बजाज फाइनेंस, एसबीआई, एयरटेल

4. इन्वेस्को इंडिया मल्टीकैप फंड

10 साल का रिटर्न: 12.52%
10 साल में 1 लाख निवेश की वैल्यू: 3.25 लाख
10 साल में 10 हजार मंथली SIP की वैल्यू: 21.66 लाख

मिनिमम निवेश: 1000 रुपये
मिनिमम SIP: 500 रुपये
लांच डेट: 17 मार्च, अक्टूबर 2008
लांच के बाद से रिटर्न: 12.89%
एसेट: 846 करोड़ (30 जून, 2020)
एक्सपेंस रेश्यो: 2.47% (30 जून, 2020)
रिस्क ग्रेड: एवरेज
रिटर्न ग्रेड: हाई
होल्डिंग: आरआईएल, HDFC बैंक, इंफोसिस, ICICI बैंक

कटेगिरी: लॉर्जकैप फंड

5. मिराए एसेट लार्जकैप फंड

10 साल का रिटर्न: 12.49%
10 साल में 1 लाख निवेश की वैल्यू: 3.24 लाख
10 साल में 10 हजार मंथली SIP की वैल्यू: 23.08 लाख

मिनिमम निवेश: 5000 रुपये
मिनिमम SIP: 1000 रुपये
लांच डेट: 04 अप्रैल, 2008
लांच के बाद से रिटर्न: 13.95%
एसेट: 16,381 करोड़ (30 जून, 2020)
एक्सपेंस रेश्यो: 1.66% (30 जून, 2020)
रिस्क ग्रेड: एवरेज से कम
रिटर्न ग्रेड: हाई
होल्डिंग: HDFC बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज, इंफोसिस, ICICI बैंक

6. Axis ब्लूचिप फंड

10 साल का रिटर्न: 10.80%
10 साल में 1 लाख निवेश की वैल्यू: 2.79 लाख
10 साल में 10 हजार मंथली SIP की वैल्यू: 22.36 लाख

मिनिमम निवेश: 5000 रुपये
मिनिमम SIP: 1000 रुपये
लांच डेट: 05 जनवरी, 2010
लांच के बाद से रिटर्न: 11.07%
एसेट: 14,522 करोड़ (30 जून, 2020)
एक्सपेंस रेश्यो: 1.70% (30 जून, 2020)
रिस्क ग्रेड: लो
रिटर्न ग्रेड: हाई
होल्डिंग: HDFC बैंक, इंफोसिस, कोटक महिंद्रा बैंक, बजाज फाइनेंस

(सोर्स: वैल्यू रिसर्च)

BPN फिनकैप कंस्लटेंट्स प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्‍टर एके निगम का कहना है कि मौजूदा समय में लॉर्जकैप, मल्टीकैप और लॉर्ज एंड मिडकैप म्यूचुअल फंड सेग्मेंट में बेस्ट विकल्प दिख रहे हैं. अर्थव्यवस्था में जब भी रिकवरी आती है, सबसे पहले लॉर्जकैप ही परफॉर्म करते हैं. कोरोना संकट को देखते हुए बात करें तो इस चुनौती से भी पहले वही कंपनियां बाहर निकलेंगी, जिनके पास पर्याप्त कैश है. इनमें लॉर्जकैप कंपनियां ही प्रमुख हैं. वहीं, मल्टीकैप में यह फ्लेक्सिबिलिटी होती है कि वह बाजार के अवसरों के अनुसार पोर्टफोलियो को अलग अलग मार्केट कैप वाली कंपनियों में मूव कर सकते हैं.

(नोट: हमने यहां जानकारी म्यूचुअल फंड के प्रदर्शन के आधार पर दी है. बाजार के जोखिम को देखते हुए निवेश के पहले एक्सपट्र की सलाह लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Best Mutual Fund to Invest in 2020: निवेश के लिए चुनें बेस्ट म्यूचुअल फंड, 10 साल में 5 गुना तक बढ़ा चुके हैं दौलत

Go to Top