सर्वाधिक पढ़ी गईं

Mid-Cap Funds: FY22 के लिए बेस्ट मिडकैप फंड, 5 साल में 1 लाख को बना चुके हैं 2.5 लाख

Mutual Fund Investment: बीते 1 साल की बात करें तो इक्विटी म्यूचूअल फंड की ज्यादातर कटेगिरी ने निवेशकों की जेब भर दी है. मिडकैप और स्मालकैप सेग्मेंट में औसत रिटर्न 94 फीसदी और 110 फीसदी रहा है.

April 7, 2021 12:59 PM
Mid-Cap Mutual FundsMid-Cap Mutual Funds: बीते 1 साल की बात करें तो इक्विटी म्यूचूअल फंड की ज्यादातर कटेगिरी ने निवेशकों की जेब भर दी है.

Mid-cap Mutual Fund: बाजार में अस्थिरता के बावजूद इक्विटी म्यूचुअल फंड में एक बार फिर निवेश देखने को मिल रहा है. बीते 1 साल की बात करें तो इक्विटी म्यूचूअल फंड की ज्यादातर कटेगिरी ने निवेशकों की जेब भर दी है. मिडकैप और स्मालकैप सेग्मेंट में औसत रिटर्न 94 फीसदी और 110 फीसदी रहा है. वहीं लॉर्जकैप सेग्मेंट में भी 70 फीसदी के आस पास रिटर्न मिला. साफ है कि छोटे और मिडकैप शेयरों ने बाउंसबैक किया है, जो लंबे समय से अंडरपरफॉर्मर रहे थे. लॉकडाउन के बाद इकोनॉमिक ग्रोथ आउटलुक बेहतर होने की स्थिति में इन शेयरों में तेजी आई है. एक ओर जहां कई फ्रेंटलाइन शेयर हाई वैल्युएशन पर हैं, छोटी और मझोली कंपनियों के लिए कई अच्छे शेयरों का वैल्युएशन अभी भी आकर्षक है. इसी के चलते एक्सपर्ट नए वित्त वर्ष में मिडकैप और स्मालकैप फंड को तरजीह दे रहे हैं.

1 साल: किस कटेगिरी में कितना रिटर्न

इक्विटी स्मालकैप फंड: 110 फीसदी

इक्विटी मिडकैप फंड:  94 फीसदी

इक्विटी लॉर्जकैप फंड:  75 फीसदी

इक्विटी लॉर्ज एंड मिडकैप फंड: 81 फीसदी

इक्विटी वैल्यू ओरिएंटेड फंड: 88 फीसदी

इक्विटी ELSS: 78 फीसदी

सेक्टोरल कटेगिरी में

इक्विटी फार्मा: 71 फीसदी

इक्विटी टेक्नोलॉजी: 129 फीसदी

इक्विटी बैंकिंग: 81 फीसदी

सेक्टोरल इंफ्रा: 90 फीसदी

सेक्टोरल थीमैटिक: 82 फीसदी

सेक्टोरल एनर्जी: 107 फीसदी

सेक्टोरल पीएसयू: 46 फीसदी

सेक्टोरल कंजम्पशन: 65 फीसदी

सेक्टोरल इंटरनेशनल: 58 फीसदी

मिडकैप में तेजी बढ़ने का अनुमान

बीएनपी फिनकैप के डायरेक्टर एके निगम का कहना है कि मौजूदा दौर में बाजार में उतार चढ़ाव जरूर है, लेकिन कुछ और करेक्शन के बाद बाजार में स्टेबिलिटी आएगी. आगे इकोनॉकि ग्रोथ आउटलुक बेहतर है. आरबीआई ने भी वित्त वर्ष 2022 में जीडीपी ग्रोथ डबल डिजिट में रहने का अनुमान जताया है. आगे कंजम्पशन बेहतर होने की उम्मीद है. इसका फायदा देश की छोटी और मिड आकार वाली कंपनियों को मिलेगा. दूसरी ओर लॉर्जकैप का वैल्युएशन अभी भी ज्यादा है. ऐसे में मिडकैप आगे आउटपरफॉर्म कर सकते हैं.

हालांकि यह ध्यान रखने वाली बात है कि मिड कैप इक्विटी फंड जोरदार रिटर्न दे सकते हैं, लेकिन उनमें बाजार का जोखिम भी अधिक होता है. ऐसे में अगर निवेशकों में जोखिम अधिक लेने की क्षमता है, वे इस सेग्मेंट को देख सकते हैं. निवेश का निर्णय लेने से पहले अपने वित्तीय लक्ष्यों और जोखिम लेने की क्षमता का आंकलन जरूर करना चाहिए. वहीं इसमें कम से कम 10 साल का लक्ष्य लेकर ही निवेश करना चाहिए. इन फंडों पर रखें नजर….

एक्सिस मिडकैप फंड

5 साल का रिटर्न: 20%

1 लाख निवेश की वैल्यू: 2.5 लाख रुपये

एसेट्स: 9757 करोड़ रुपये (28 फरवरी, 2021)

एक्सपेंस रेश्यो: 0.51% (28 फरवरी, 2021)

कोटक इमर्जिंग इक्विटी फंड

5 साल का रिटर्न: 19%

1 लाख निवेश की वैल्यू: 2.43 लाख रुपये

एसेट्स: 10,431 करोड़ रुपये (28 फरवरी, 2021)

एक्सपेंस रेश्यो: 0.55% (28 फरवरी, 2021)

PGIM इंडिया मिडकैप अपॉर्चुनिटी फंड

5 साल का रिटर्न: 19%

1 लाख निवेश की वैल्यू: 2.40 लाख रुपये

एसेट्स: 934 करोड़ रुपये (28 फरवरी, 2021)

एक्सपेंस रेश्यो: 0.55% (28 फरवरी, 2021)

Invesco इंडिया मिडकैप फंड

5 साल का रिटर्न: 18%

1 लाख निवेश की वैल्यू: 2.32 लाख रुपये

एसेट्स: 1393 करोड़ रुपये (31 मार्च, 2021)

एक्सपेंस रेश्यो: 0.73% (28 फरवरी, 2021)

DSP मिडकैप फंड

5 साल का रिटर्न: 18%

1 लाख निवेश की वैल्यू: 2.27 लाख रुपये

एसेट्स: 10558 करोड़ रुपये (28 फरवरी, 2021)

एक्सपेंस रेश्यो: 0.85% (28 फरवरी, 2021)

(source: value research)

(Disclaimer: म्यूचुअल फंड में निवेश बाजार के जोखिमों के अधीन है. निवेश से पहले अपने स्तर पर पड़ताल कर लें या अपने फाइनेंशियल एडवाइजर से परामर्श कर लें. फाइनेंशियल एक्सप्रेस किसी भी फंड में निवेश की सलाह नहीं देता है.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Mid-Cap Funds: FY22 के लिए बेस्ट मिडकैप फंड, 5 साल में 1 लाख को बना चुके हैं 2.5 लाख

Go to Top