मुख्य समाचार:

5 साल में आधे भारत के पास होगा Jio का सिम, मुकेश अंबानी जल्द ला सकते हैं IPO: रिपोर्ट

रिलायंस जियो के सहारे डिजिटल किंग बनने की राह पर चल पड़े मुकेश अंबानी जल्द ही इसके लिए इनिशियल पब्लिक आफरिंग यानी IPO ला सकते हैं.

Updated: Jun 18, 2020 11:12 AM
reliance jio, Bernstein report, jio market share will be 50 pc in India till end of 2025, Jio IPO, Mukesh Ambani may bring IPO of Jio, foreign investment in Jio, facebook, relecom, RIL telecom arm, Digital Platfor, Jio Platformsoonमुकेश अंबानी जल्द ही रिलायंस जियो के लिए इनिशियल पब्लिक आफरिंग यानी IPO ला सकते हैं.

रिलायंस जियो के सहारे डिजिटल किंग बनने की राह पर चल पड़े मुकेश अंबानी जल्द ही इसके लिए इनिशियल पब्लिक आफरिंग यानी IPO ला सकते हैं. वहीं जियो इसी रफ्तार से बढ़ता रहा तो 5 साल बाद यानी 2025 तक तकरीबन 50 फीसदी मोबाइल यूजर्स जियो की सेवाओं का इस्तेमाल करेंगे. उस दौरान तक रिलायंस जियो के पास करीब 50 करोड़ ग्राहक होंगे. ये बातें बर्न्‍सटेन रिसर्च ने अपनी रिपोर्ट में कही है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि दिसंबर में हमने अपने लास्ट अपडेट में रिलायंस जियो को भारतीय टेलीकॉम इंडस्‍ट्री का नया बादशाह बताया था. इसके बाद हमने कई विदेशी निवेशकों को इसमें निवेया करते हुए देखा है. विदेशी कंपनियों को भी जियो में बड़ी उम्मीद दिख रही है. विदेशी कंपनियों द्वारा जियो में निवेया की शुरूआत फेसबुक से हुई. सबसे पहले फेसबुक ने इसमें 43,573.62 करोड़ रुपये के निवेश के साथ 9.99 फीसदी हिस्‍सेदारी खरीदने का एलान किया. इसके बाद 8 प्राइवेट इक्विटी निवेशकों ने इसमें 60,753.33 करोड़ रुपये का और निवेश किया. जियो में 8 हफ्ते के अंदर 1.04 लाख करोड़ का निवेश आया. इसके बदले जियो ने 22 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी बेची.

जल्द आ सकता है आईपीओ

बर्न्‍सटेन रिसर्च ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि अगले कुछ साल के अंदर मुकेश अंबानी जियो के लिए आईपीओ ला सकते हैं. रिपोर्ट के अनुसार तकतब जियो का ARPUs (एवरेज रेवेन्यू प्रति यूजर) में और सुधार होगा. वहीं अगले 3 साल में जियो का सर्विस रेवेन्यू बढ़कर दोगुना हो सकता है. रिपोर्ट के अनुसार आगे भी कुछ दिग्गज कंपनियों की निगाहें जियो पर हैं. आगे और भी निवेश आ सकते हैं. इस पैसों से आरआईएल को डेट फ्री कंपनी बनने में मदद मिलेगी.

FY23 में 50 करोड़ ग्रोहक

बर्न्‍सटेन का अनुमान है कि वित्‍त वर्ष 2022-23 तक जियो के 50 करोड़ से ज्‍यादा मोबाइल सब्‍सक्राइबर हो जाएंगे. वित्‍त वर्ष 2019-20 में इनकी संख्‍या 38.8 करोड़ थी. वित्‍त वर्ष 2024-25 तक इसका सब्‍सक्राइबर बेस 56.9 करोड़ तक पहुंच जाने के आसार हैं. चालू वित्‍त वर्ष में जियो की बाजार हिस्‍सेदारी बढ़कर 40 फीसदी हो जाने की उम्‍मीद है. बीते वित्‍त वर्ष के दौरान यह 36 थी. वित्‍त वर्ष 2024-25 तक यह हिस्‍सेदारी 48 फीसदी हो जाने के आसार हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. 5 साल में आधे भारत के पास होगा Jio का सिम, मुकेश अंबानी जल्द ला सकते हैं IPO: रिपोर्ट

Go to Top