मुख्य समाचार:

Bajaj Finance: यहां 1.3 लाख के बन गए 1 करोड़, 10 साल में 7726% रिटर्न; क्या अब थमेगी रफ्तार

पिछले 10 साल की बात हो या पिछले 5 साल की, फाइनेंस कंपनी बजाज फाइनेंस लॉर्जकैप शेयरों में रिटर्न चार्ट पर अव्वल रहा है.

April 10, 2020 4:17 PM
Bajaj Finance stock, Bajaj Finance continue top on return chart since last 10 years, Bajaj Finance stock given 77 times return, crorepati stock, should you buy Baja Finance, brokerage on bajaj financeपिछले 10 साल की बात करें तो बजाज फाइनेंस लॉर्जकैप शेयरों में रिटर्न चार्ट पर अव्वल रहा है.

पिछले 10 साल की बात हो या पिछले 5 साल की, फाइनेंस कंपनी बजाज फाइनेंस लॉर्जकैप शेयरों में रिटर्न चार्ट पर अव्वल रहा है. पिछले 10 साल ये यह शेयर निवेशकों को लगातार कमाई करवाता आ रहा है. 10 साल में बजाज फाइनेंस ने करीब 7726 फीसदी रिटर्न दिया है. वहीं, पिछले 5 साल में कंपनी का रिटर्न करीब 466 फीसदी रहा है. हालांकि इस साल कोरोना वायरस के चलते शेयर के प्रदर्शन पर असर पड़ा है. फिलहाल मौजूदा लॉकडाउन की सिथति के चलते एक्सपर्ट मान रहे हैं कि कंपनी के प्रदर्शन पर बुरा असर होगा. ऐसे में क्या आगे शेयर में तेजी थमेगी या पहले की तरह जारी रहेगी.

10 साल में 1.3 लाख बन गया 1 करोड़

पिछले 10 साल की बात करें तो बजाज फाइनेंस ने निवेशकों का पैसा करीब 77 गुना बए़ा दिया है. 10 साल पहले शेयर का भाव 33 रुपये था, जो आज बढ़कर 2550.55 रुपये के भाव पर पहुंच गया. यानी शेयर में करीब 7726 फीसदी रिटर्न निवेशकों ने कमाया. इस लिहाज से सिर्फ 10 हजार का निवेश बढ़कर 7.5 लाख रुपये हो गया. वहीं 1.3 लाख का निवेश बढ़कर 1 करोड़ रुपये हो गया.

5 साल में रिटर्न चार्ट पर टॉपर

पिछले 5 साल की बात करें तो भी यह सेंसेक्स 30 के शेयरों में रिटर्न चार्ट पर टॉप पर रहा है.
पिछले 5 साल के दौरान शेयर ने करीब 466 फीसदी रिटर्न दिया है. इस दौरान शेयर करीब 450 रुपये के भाव से बढ़कर 2551 रुपये पर पहुंच गया. यानी करीब 5.5 गुना रिटर्न.

लॉकडाउन से बिजनेस पर असर

बजाज फाइनेंस कंज्यूमर सेक्टर में बड़ी फाइनेंस कंपनी है. लेकिन कोविड 19 के चलते देशभर में लॉकडाउन की स्थिति है. इससे कंपनी के बिजनेस पर असर पड़ रहा है. नए कस्टमर से बिजनेस जीरो स्अेज में पहुंच रहा है. लॉकडाउन कब खत्म होगा, इसे लेकर भी अनिश्चितता है. ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल ने लॉकडाउन के चलते ग्रोथ और एसेट क्वालिटी दोनों को लेकर चिंता जताई है. ब्रोकरेज के अनुसार मैनजमेंट अभी ग्रोथ की बजाए क्वालिटी, रिकवरी और कास्ट कंट्रोल पर फोकस कर रहा है, जिससे ग्रोथ बैकसीट पर आ गया है. ऐसा आने वाली 2 से 3 तिमाही तक देखा जा सकता है.

शेयर का टारगेट घटा

रिपोर्ट के अनुसार कंपनी के लिए मार्च तिमाही हमेशा बेहतर रही है. एयूमएम ग्रोथ में मार्च तिमाही सबसे बड़ा कंट्रीब्यूटर रहा है. करीब 40 फीसदी कंट्रीब्यूशन इसी तिमाही में रहता है. लेकिन इस बार लॉकडाउन के चलते ऐसा नहीं हुआ है. ब्रोकरेज हाउस ने शेयर के लिए बॉय की जगह होलड रेटिंग दी है और टारगेट 2331 रुपये कर दिया है.

ग्लेबल ब्रोकरेज हाउस HSBC ने भी शेयर के लिए अपना टारगेट 4860 रुपये से घटाकर 3750 रुपये कर दिया है. ब्रोकरेज के अनुसार लॉकडाउन से कंपनी के बिजनेस पर निगेटिव असर पड़ेगा. हालांकि कंपनी अभी भी प्रतियोगी कंपनियों की तुना में अच्छी पोजिशन पर है, इसलिए ब्रोकरेज ने खरीद की सलाह दी है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Bajaj Finance: यहां 1.3 लाख के बन गए 1 करोड़, 10 साल में 7726% रिटर्न; क्या अब थमेगी रफ्तार

Go to Top