सर्वाधिक पढ़ी गईं

Ruchi Soya के बोर्ड में शामिल हुए बाबा रामदेव, छोटे भाई राम भारत सालाना 1 रुपये वेतन पर एमडी

आचार्य बालाकृष्ण को एक बार फिर से कंपनी का चेयरमैन नियुक्त किया गया है. उन्हें भी सालाना 1 रुपये की सैलरी मिलेगी.

November 28, 2020 4:16 PM
Baba Ramdev wiil be on board of Ruchi Soya and brother Ram Bharat to be MD on 1 rs salary annualyपिछले साल रूचि सोया का पतंजलि समूह ने अधिग्रहण कर लिया था.

सोया फूड ब्रांड न्यूट्रीला बनाने वाली कंपनी रूचि सोया के बोर्ड में योग गुरु बाबा रामदेव, उनके छोटे भाई राम भारत और दोस्त आचार्य बालकृष्ण को शामिल किया जायगा. रूचि सोया को पतंजलि आयुर्वेद ने अधिग्रहण कर लिया था. रूचि सोया इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने शेयरहोल्डर्स से राम भारत को कंपनी का एमडी बनाने के लिए मंजूरी मांगा है. आचार्य बालकृष्ण को कंपनी का चेयरमैन नियुक्त किया गया है. आचार्य बालकृष्ण और राम भारत को सालाना एक रुपया वेतन मिलेगा.

यह भी पढ़ें- पोस्ट ऑफिस सेविंग्स अकाउंट में 11 दिसंबर तक कर लें यह काम, नहीं तो देना होगा चार्ज

राम भारत इससे पहले थे सार्वकालिक निदेशक

रूचि सोया इंडस्ट्रीज ने शेयरधारकों को जो नोटिस भेजकर मंजूरी मांगी है, उसके तहत इस साल 19 अगस्त को कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बैठक में राम भारत को कंपनी का मैनेजिंग डायरेक्टर नियुक्त किया गया. उनका कार्यकाल 19 अगस्त 2020 से शुरू है और वह 17 दिसंबर 2022 तक एमडी बने रहेंगे. कंपनी में उनकी प्रोफाइल सर्वकालिक निदेशक से बदलकर प्रबंध निदेशक की गई है. अब इस फैसले को लेकर कंपनी ने शेयरधारकों से मंजूरी मांगी है.

आचार्य बालकृष्ण और भारत को सालाना 1 रुपये सैलरी

भारत को सालाना 1 रुपये की सैलरी मिलेगी.बाबा रामदेव को कंपनी बोर्ड में नियुक्त किया गया है और इसके लिए भी शेयरधारकों से मंजूरी मांगा गया है. आचार्य बालाकृष्ण को एक बार फिर से कंपनी का चेयरमैन नियुक्त किया गया है. उन्हें भी सालाना 1 रुपये की सैलरी मिलेगी.
इन सबके अतिरिक्त गिरीश कुमार आहूजा, ग्यान सुधा मिश्रा और तेजेंद्र मोहन भसीन को बोर्ड में स्वतंत्र निदेशक के तौर पर नियुक्त किया गया है.

पिछले साल रूचि सोया का हुआ था अधिग्रहण

पिछले साल रामदेव के पतंजलि आयुर्वेद ने रूचि सोया को 4350 करोड़ में अधिग्रहण कर लिया था. इस अधिग्रहण के जरिए पतंजलि का एडिबल ऑयल प्लांट्स के साथ-साथ महाकोश व रूचि गोल्ड जैसे सोयाबीन ऑयल ब्रांड्स पर भी अधिकार हो गया.
दिसंबर 2017 में नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) ने रूचि सोया की दिवाला प्रक्रिया शुरू की थी. पतंजलि ग्रुप ने 4350 करोड़ में इसका अधिग्रहण किया था. इसके बाद इसमें से 4235 करोड़ से कर्जदाताओं का भुगतान किया गया जबकि 115 करोड़ को कैपिटल एक्सपेंडिचर और वर्किंग कैपिटल के तौर पर रखा गया.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Ruchi Soya के बोर्ड में शामिल हुए बाबा रामदेव, छोटे भाई राम भारत सालाना 1 रुपये वेतन पर एमडी

Go to Top