मुख्य समाचार:

Auto Sector: बढ़ती लागत और कमजोर डिमांड से सुस्त रह सकती है Q3 अर्निंग, क्या करें निवेशक?

तीसरी तिमाही में ऑटो सेक्टर की अर्निंग सुस्त रहने का अनुमान.

January 8, 2019 9:08 AM
Auto Sector Q3 Earning Estimate, Auto Sector Outlook, Auto Stocks, Top Picks Of Auto Sector, Brokerage House Report, ऑटो सेक्टर की अर्निंगतीसरी तिमाही में ऑटो सेक्टर की अर्निंग सुस्त रहने का अनुमान.

ऑटो सेक्टर में चुनौतियां बनी हुई हैं. दिसंबर में एक बार फिर सेक्टर को कमजोर डिमांड का सामना करना पड़ा है, वहीं हाई बेस और मार्केटिंग कास्ट के बढ़ने के चलते सेक्टर पर दबाव और ज्यादा बढ़ गया है. फिलहाल एक्सपर्ट मौजूदा फाइनेंशियल ईयर की तीसरी तिमाही में सेक्टर की अर्निंग सुस्त रहने का अनुमान जता रहे हैं. उनका मानना है कि सेक्टर में नियर टर्म में सुस्ती का दौर अभी जारी रहेगा. आने वाले दिनों में घरेलू स्तर पर बेहतर मैक्रो कंडीशन आने, इंफ्रा एक्टिविटी में तेजी आने और रूरल डिमांड बढ़ने के बाद ही दबाव कम होता नजर आ रहा है.

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल की रिपोर्ट

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल की रिपोर्ट के अनुसार इंश्योरेंस कास्ट का बढ़ना, फाइनेंस के लिए हायर कास्ट के साथ साथ अक्टूबर तिमाही में सेक्टर को हाई फयूल कास्ट का दबाव भी झेलना पड़ा है. वहीं, रूरल सेक्टर से डिमांड की समस्या अभी भी बनी हुई है. फेस्टिव सीजन भी पिछले 4 से 5 साल में सबसे ज्यादा सुस्त रहा है. ऐसे में वॉल्यूम ग्रोथ अलग अलग सेग्मेंट में या तो फ्लैट रहा या निगेटिव ग्रोथ रही है. पूरे ऑटो सेक्टर में डिमांड की चुनौती बनी हुई है.

source: Motilal Oswal

आउटलुक

ब्रोकरेज के अनुसार उम्मीद है कि तेल की कीमतों में नरमी आने, लिक्विडिटी इंप्रूव होने और नए प्रोडक्ट के लांच होने की वजह से दिसंबर तिमाही में आॅपरेटिंग परफॉर्मेंस ज्यादातर OEMs के लिए बॉटमआउट हो चुका है. आगे इकोनॉमिक एक्टिविटी में तेजी आने और रूरल डिमांड सुधरने से एक बार फिर सेक्टर में तेजी देखने को मिलेगी. FY18-20 के दौरान टू व्हीलर सेग्मेंट में 8 से 10 फीसदी, फोर व्हीलर सेग्मेंट में 6 से 7 फीसदी और ट्रैक्टर सेग्मेंट में 16 से 18 फीसदी CAGR ग्रोथ देखने को मिल सकती है.

टॉप पिक्स

Stock                           Target
मारूति                            8845
मदरसन सूमी                  191
एंडुरेंस टेक्नोलॉजी           1513
एक्साइड                         306
महिंद्रा एंड महिंद्रा            914

ब्रोकरेज हाउस प्रभुदास लीलाधर की रिपोर्ट

ब्रोकरेज हाउस प्रभुदास लीलाधर की रिपोर्ट के मुताबिक दिसंबर 2018 में ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में वॉल्यूम में गिरावट रही है. कमर्शियल व्हीकल सेग्मेंट में सबसे ज्यादा गिरावट रही है, जिसकी प्रमुख वजह इस सेग्मेंट में हाई बेस इंपैक्ट और लिक्विडिटी की समस्या रही है. हाई कंज्यूमर आूफर के बाद भी 4 व्हीलर सेग्मेंट में भी वॉल्यूम फ्लैट या कमजोर रहा है. जबकि 2 व्हीलर में हीरो मोटोकॉर्प में सालाना आधार पर 4 फीसदी गिरावट रही, जबकि बजाज आॅटो और TVS में न्यू लांच और कंज्यूमर आफर की वजह से ग्रोथ रही. ट्रैक्टर सेग्मेंट में भी दिसंबर में सुस्ती रही.

Source: www.plindia.com

टॉप पिक्स

महिंद्रा एंड महिंद्रा & अशोक लेलैंड

(नोट-यह जानकारी हमने ब्रोकरेज हाउस की रिपोर्ट के आधार पर दी है. यहां हमने कोई निवेश की सलाह नहीं दी है. मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, इसलिए सतर्कता जरूरी है. किसी भी निवेया से पहले अपने एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Auto Sector: बढ़ती लागत और कमजोर डिमांड से सुस्त रह सकती है Q3 अर्निंग, क्या करें निवेशक?

Go to Top