Archean Chemical Industries IPO का प्राइस बैंड 386-407 रुपये प्रति शेयर तय, 9 नवंबर को खुलेगा इश्यू | The Financial Express

Archean Chemical Industries IPO का प्राइस बैंड 386-407 रुपये प्रति शेयर तय, 9 नवंबर को खुलेगा इश्यू

कंपनी के मुताबिक, इश्यू साइज का 75 फीसदी हिस्सा क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स के लिए, 15 फीसदी नॉन इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स के लिए और बाकी 10 फीसदी रिटेल इनवेस्टर्स के लिए रिजर्व किया गया है.

Archean Chemical Industries IPO का प्राइस बैंड 386-407 रुपये प्रति शेयर तय, 9 नवंबर को खुलेगा इश्यू
स्पेशियलिटी मरीन केमिकल बनाने वाली कंपनी आर्कियन केमिकल इंडस्ट्रीज (Archean Chemical Industries) ने अपने आईपीओ का प्राइस बैंड तय कर दिया है.

Archean Chemical Industries IPO: स्पेशियलिटी मरीन केमिकल बनाने वाली कंपनी आर्कियन केमिकल इंडस्ट्रीज (Archean Chemical Industries) ने अपने आईपीओ का प्राइस बैंड तय कर दिया है. कंपनी ने इसके लिए 386-407 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड तय किया है. कंपनी इस आईपीओ के ज़रिए 1,462 करोड़ रुपये रुपये जुटाना चाहती है. यह आईपीओ 9 नवंबर को सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगा. निवेशक इसमें 11 नवंबर तक पैसे लगा सकते हैं. कंपनी के अनुसार एंकर निवेशकों के लिए बोली 7 नवंबर को ही खुल जाएगी.

HDFC Ltd Q2 Results: सितंबर तिमाही में 24% बढ़ा एचडीएफसी का मुनाफा, 7,043 करोड़ रुपये पर पहुंचा

आईपीओ से जुड़ी डिटेल

  • इस आईपीओ के तहत 805 करोड़ रुपये तक के फ्रेश शेयर जारी किए जाएंगे. इसके साथ ही, कंपनी के प्रमोटरों और निवेशकों द्वारा 1.61 करोड़ शेयरों की बिक्री ऑफर फॉर सेल (OFS) के तहत की जाएगी. ओएफएस के हिस्से के रूप में इंडिया रिसर्जेंस फंड अपने शेयरों की बिक्री करेगी, जो पीरामल ग्रुप और बेन कैपिटल का ज्वाइंट वेंचर उद्यम है.
  • प्रमोटर केमिकास स्पेशलिटी ओएफएस के जरिए 20 लाख शेयर बेचेगी, जबकि निवेशक पीरामल नेचुरल रिसोर्सेज और इंडिया रिसर्जेंस फंड 38.35 लाख शेयर बेचेंगे. इंडिया रिसर्जेंस फंड II 64.78 लाख शेयर बेचेगा.
  • अपर प्राइस बैंड के हिसाब से आईपीओ से 1,462.3 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद है.
  • कंपनी के मुताबिक, इश्यू साइज का 75 फीसदी हिस्सा क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स के लिए, 15 फीसदी नॉन इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स के लिए और बाकी 10 फीसदी रिटेल इनवेस्टर्स के लिए रिजर्व किया गया है.
  • निवेशक न्यूनतम 36 शेयरों और उसके मल्टीपल में बोली लगा सकते हैं.
  • कंपनी की योजना नए इश्यू से प्राप्त राशि को उसके द्वारा जारी किए गए नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर (NCD) के रिडेम्पशन के लिए उपयोग करने की है.

Bikaji Foods International IPO: बीकाजी फूड्स का खुल गया आईपीओ, ग्रे मार्केट में मजबूत हैं संकेत, जान लें सभी जरूरी बातें

क्या करती है कंपनी

आर्कियन दुनिया भर के कस्टमर्स के लिए ब्रोमीन, इंडस्ट्रियल सॉल्ट और पोटाश के सल्फेट के उत्पादन और निर्यात का काम करती है. यह अपने उत्पादों का उत्पादन और विनिर्माण गुजरात में करती है. आर्कियन द्वारा उत्पादित ब्रोमीन का इस्तेमाल इनिशियल लेवल मटेरियल के रूप में किया जाता है, जिसमें फार्मा, एग्रोकेमिकल्स, वाटर ट्रीटमेंट, फ्लेम रिटार्डेंट, एडिटिव्स, तेल और गैस और एनर्जी स्टोरेज सेगमेंट्स में अनुप्रयोग होते हैं. इंडस्ट्रियल सॉल्ट केमिकल इंडस्ट्री में अलग-अलग अन्य रसायनों और यौगिकों के उत्पादन के लिए उपयोग किया जाने वाला एक अहम कच्चा माल है और पोटाश के सल्फेट का उपयोग उर्वरक के रूप में किया जाता है और इसका मेडिकल में भी उपयोग होता है. आईआईएफएल सिक्योरिटीज, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज और जेएम फाइनेंशियल आईपीओ के बुक रनिंग लीड मैनेजर हैं.

(इनपुट-पीटीआई)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

First published on: 03-11-2022 at 16:42 IST

TRENDING NOW

Business News