मुख्य समाचार:
  1. रिलायंस ग्रुप का राहुल गांधी के आरोपों पर पलटवार, कहा- UPA सरकार में 1 लाख करोड़ से ज्यादा का ठेका मिला

रिलायंस ग्रुप का राहुल गांधी के आरोपों पर पलटवार, कहा- UPA सरकार में 1 लाख करोड़ से ज्यादा का ठेका मिला

Reliance Group: रिलायंस ग्रुप ने पिछली UPA सरकार के दौर में एक लाख करोड़ रुपये से अधिक के ठेके मिलने की बात कही

May 6, 2019 1:22 PM
anil ambani company reliance group dismiss congress president rahul gandhi charges of crony capitalism with pm modi helpअनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस ग्रुप ने राहुल गांधी के आरोपों को खारिज किया.

Reliance Group: रिलायंस ग्रुप (Reliance Group) ने अपने प्रमुख अनिल अंबानी (Anil Ambani) को राजनीतिक साठगांठ से काम करने वाला पूंजीपति बताने वाले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के बयानों को रविवार को खरिज किया. ग्रुप ने कहा कि राहुल उनके खिलाफ अपने ‘ मिथ्याचार, दुष्प्रचार और दुर्भावना प्रेरित झूठ’ को जारी रखे हुए हैं.

रिलायंस ग्रुप ने इस संदर्भ में सवाल किया है कि उनकी कंपनियों को पिछली UPA सरकार के दौर में एक लाख करोड़ रुपये से अधिक के ठेके मिले थे क्या वह सरकार क्रोनी कैपिटलिस्टों और बेइमान व्यापारियों की मदद कर रही थी?

Reliance Group ने क्रोनी कैपिटलिज्म के आरोप को खारिज किया

गौरतलब है कि राहुल ने हाल में मीडिया को जारी एक बयान में कहा कि अनिल अंबानी ‘‘क्रोनी कैपिटलिस्ट’’ हैं. क्रोनी कैपिटलिस्ट का मतलब होता है राजनीतिज्ञों से साठ गांठ कर के फायदा कमाने वाले पूंजीपति.
रिलायंस ग्रुप ने कहा कि राहुल मिथ्याचार, दुष्प्रचार और दुर्भावना से प्रेरित झूठ फैलाने का अभियान जारी किये हुए हैं. बयान में कहा गया, ‘‘उन्होंने हमारे ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी पर क्रोनी कैपिटलिस्ट होने और बेईमान कारोबारी होने का आरोप लगाया है…ये सभी निश्चित तौर पर असत्य बयान हैं.’’

UPA सरकार में एक लाख करोड़ रुपये से अधिक के ठेके मिले

ग्रुप ने कहा कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार के कार्यकाल में 2004 से 2014 के बीच उसे बिजली, दूरसंचार, सड़क, मेट्रो आदि जैसे विविध बुनियादी संरचना क्षेत्रों में एक लाख करोड़ रुपये से अधिक के ठेके मिले. बयान में कहा गया, ‘‘राहुल के ही शब्दों को अधार बनाकर रिलायंस ग्रुप इस मौके पर उनसे यह स्पष्ट करने का अनुरोध करता है कि क्या उनकी अपनी सरकार 10 साल तक एक कथित क्रोनी कैपिटलिस्ट और बेईमान कारोबारी की मदद कर रही थी.’’

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop