सर्वाधिक पढ़ी गईं

IPO मार्केट में बहार: अब खुल रहा है एंजेल ब्रोकिंग का आईपीओ, क्या लगाना चाहिए दांव

Angel Broking IPO: एंजेल ब्रोकिंग (Angel Broking) का आईपीओ (IPO) आज मंगलवार यानी 22 सितंबर से सब्सक्रिप्शन के लिए खुल रहा है.

September 22, 2020 7:54 AM
Angel Broking IPO, broking company, angel broking IPO open from today on 22 september, should you invest in angel broking IPO, happiest minds, route mobile, CAMS, chemcon specialty chemicals, IPO market, primary market, why companies bring IPO, what is IPOAngel Broking IPO: एंजेल ब्रोकिंग (Angel Broking) का आईपीओ (IPO) आज मंगलवार यानी 22 सितंबर से सब्सक्रिप्शन के लिए खुल रहा है.

Angel Broking IPO: देश के सबसे बड़े रिटेल ब्रोकिंग हाउसेज में से एक एंजेल ब्रोकिंग (Angel Broking) का आईपीओ (IPO) आज मंगलवार यानी 22 सितंबर से सब्सक्रिप्शन के लिए खुल रहा है. आईपीओ के जरिए एंजेल ब्रोकिंग की बाजार से 600 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है. आईपीओ से पहले ही कंपनी ने सोमवार को 26 एंकर निवेशकों से 179.99 करोड़ रुपये जुटा लिए हैं. इन निवेशकों को 306 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से 58,82,352 इक्विटी शेयर आवंटित किए. अगर आप भी आईपीओ में पैसा लगाना चाहते हैं तो पहले कुछ बातों पर ध्यान दें.

प्राइस बैंड

इस आईपीओ में प्राइस बैंड 305 रुपए से 306 रुपए प्रति इक्विटी शेयर निर्धारित किया गया है. एंजेल ब्रोकिंग की इस ऑफर के माध्यम से 600 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है. इस आईपीओ में प्रमोटर्स व निवेशकों द्वारा 300 करोड़ रुपये की अपनी हिस्सेदारी बिक्री के लिए रखी जाएगी. वहीं, इस 300 करोड़ रुपये के ताजा शेयर भी जारी किये जाएंगे. आईपीओ में सब्सक्रिप्शन की आखिरी तारीख 24 सितंबर होगी.

कम से कम कितना निवेश जरूरी

आईपीओ में एक लॉट 49 शेयरों का होगा. यानी कम से कम 49 शेयरों के लिए बोली लगानी होगी. इसके बाद 49 के गुणक में शेयरों के लिए बोली लगाई जा सकेगी. इस आईपीओ में ऑफर किए गए इक्विटी शेयरों को बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध करने का प्रस्ताव है.

निवेश की सलाह

सैमको सिक्योरिटीज की सीनियर रिसर्च एनालिस्ट निराली शाह का कहना है कि एंजेल ब्रोंकिंग पिछले 10 साल में पहली ब्रोकिंग कंपनी है, जो आईपीओ प्लान लाई है. कंपनी में मजबूत ग्रोथ की पूरी संभावनाएं हैं. टेक्नोलॉजी बेस्ड होने के नाते कंपनी को ट्रेडिशनल ब्रोकर्स पर बढ़त है. कंपनी का कस्टमर बेस लगातार बढ़ रहा है. यह चौथी सबसे बड़ी ब्रोकिंग कंपनी है. हालांकि इश्यू का वैल्युएशन कुछ महंगा दिख रहा है. फिर भी निवेशकों को लंबी अवधि के नजरिए से इसमें निवेश की सलाह है.

किसके हाथ में है प्रबंधन

इस आईपीओ से जुटाए गए फंड का इस्तेमाल कंपनी अपनी कार्यशील पूंजी की जरूरत को पूरा करने और अन्य कॉरपोरेट कामों में करेगी. एंजेल ब्रोकिंग की पहुंच देश के 1,800 शहरों और कस्बों में है. कंपनी की 110 से अधिक शाखाएं हैं. आईसीआईसीआई सिक्युरिटीज, एडेलवाइस फाइनेंशियल सर्विसेस और एसबीआई कैपिटल को इस निर्गम के प्रबंधन की जिम्मेदारी दी गयी है. कंपनी के शेयर बीएसई और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर सूचीबद्ध कराए जाएंगे.

कंपनी का कारोबार

एंजेल ब्रोकिंग टेक्नोलॉजी पर आधारित फाइनेंशियल सर्विसेज कंपनी है जो ब्रोकिंग और एडवाइजरी सेवाओं के अलावा मार्जिन फंडिंग, लोन अगेंस्ट शेयर्स और कई तरह की वित्तीय सेवाएं देती है. कंपनी के ग्राहकों की संख्या लगातार बढ़ी है. जून 2020 को खत्म तिमाही के दौरान कंपनी ने हर महीने औसतन 1,15,565 नए ग्राहक जोड़े जो वित्त वर्ष 2020 की तुलना में 147.59 फीसदी अधिक है. यह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर एक्टिव क्लाइंट के मामले में चौथी सबसे बड़ी ब्रोकर कंपनी है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. IPO मार्केट में बहार: अब खुल रहा है एंजेल ब्रोकिंग का आईपीओ, क्या लगाना चाहिए दांव
Tags:IPO

Go to Top