मुख्य समाचार:

अक्षय तृतीया: Gold खरीदने से पहले जान लें 24, 22 और 18 कैरेट का मतलब, कैसे तय होती है शुद्धता

गोल्ड की शुद्धता कैरेट में होती है और इसी के आधार पर कीमत निर्धारित होती है.

May 6, 2019 2:13 PM
Akshaya tritiya: know what is gold carats and its importanceImage: Reuters

कल यानी 7 मई को अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya) है. अगर आप इस मौके पर गोल्ड खरीदने की प्लानिंग कर रहे हैं तो इसकी शुद्धता का ध्यान जरूर रखें. गोल्ड की शुद्धता कैरेट में होती है और इसी के आधार पर कीमत निर्धारित होती है. सोने में चार कैरेट 24, 22, 18 और 14 होते हैं. आइए जानते हैं इन कैरेट के बारे में-

24 कैरेट सोना

यह शुद्ध सोना है और संकेत देता है कि सभी 24 भाग शुद्ध हैं और इसमें अन्य धातुएं नहीं मिली हैं. इसका रंग साफ रूप से उज्‍जवल पीला होता है और यह अन्य किस्मों की तुलना में ज्यादा महंगा होता है. ज्यादातर, लोग इतने कैरेट के सोने को सिक्कों या बार के रूप में खरीदना पसंद करते हैं. 24 कैरेट सोना बेहद नरम होता है, लिहाजा प्योर 24 कैरेट ज्वैलरी नहीं बनाई जा सकती. मजबूती और डिजाइनिंग के लिए उसमें अन्य धातुओं को मिश्रित किया जाता है.

22 कैरेट सोना

22 कैरेट का अर्थ है कि आभूषण में 22 भाग सोना है और शेष 2 भाग में अन्य धातुएं हैं. इस प्रकार का सोना आभूषण बनाने में प्रयोग किया जाता है, क्योंकि यह 24 कैरेट सोने से अधिक कठोर होता है. हालांकि, नगों वाली ज्वैलरी के लिए 22 कैरेट सोने को प्राथमिकता नहीं दी जाती है.

अक्षय तृतीया: सोना खरीदने समय ध्यान रखें ये 7 बातें, नहीं खाएंगे धोखा

18 कैरेट सोना

यह श्रेणी 75 फीसदी सोना और 25 फीसदी तांबा और चांदी वाली होती है. यह बाकी दो कैटेगरी की तुलना में कम महंगी है और इसका इस्तेमाल स्टड और हीरे की ज्वैलरी बनाने में किया जाता है. इसका रंग हल्का पीला होता है. सोने की परसेंटेज कम होने के कारण, यह 22 या 24 कैरेट श्रेणियों की तुलना में मजबूत होती है. इसलिए लाइटवेट और ट्रेंडी ज्वैलरी बनाने और सादे डिजाइन तैयार करने में इसका उपयोग किया जाता है.

14 कैरेट सोना

यह कैटेगरी 58.5 फीसदी शुद्ध सोने और शेष अन्य धातुओं की होती है. यह भारत में ज्यादा चलन में नहीं है.

सोने के रंग

ज्वैलरी बनाते समय मिश्र धातु की संरचना को बदलकर सोने को अन्य रंग भी दिए जा सकते हैं. कुछ रंग इस प्रकार हैं…

गुलाबी सोना: मिश्र धातु संरचना (एलॉय स्ट्रक्चर) में अधिक तांबा जोड़कर गुलाबी सोना बनता है.

हरा सोना: मिश्र धातु संरचना में अधिक जस्ता और चांदी जोड़कर बनाया जाता है.

सफेद सोना: मिश्र धातु संरचना में निकल या पैलेडियम जोड़कर बनाया जाता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. अक्षय तृतीया: Gold खरीदने से पहले जान लें 24, 22 और 18 कैरेट का मतलब, कैसे तय होती है शुद्धता

Go to Top