scorecardresearch

AGS Transact Tech IPO: नए साल के पहले आईपीओ पर एक्सपर्ट्स ने दिए ये सुझाव, प्वाइंटवाइज जानिए इश्यू से जुड़ी पूरी डिटेल्स

AGS Transact Tech IPO: पेमेंट से जुड़ी सेवाएं उपलब्ध कराने वाले कंपनी एजीएस ट्रांजैक्ट टेक्नोलॉजीज के आईपीओ में निवेशकों को कम से कम 14875 रुपये का निवेश करना होगा.

AGS Transact Tech IPO opens on 19th jan check issue details company financials AND EXPERT VIEW
निवेशक एजीएस ट्रांजैक्ट के आईपीओ में 21 जनवरी तक पैसे लगा सकेंगे.

AGS Transact Tech IPO: पेमेंट से जुड़ी सेवाएं उपलब्ध कराने वाले कंपनी एजीएस ट्रांजैक्ट टेक्नोलॉजीज (AGS Transact Technologies) का आईपीओ आज (19 जनवरी) खुल गया है. इस आईपीओ के साथ ही देश के प्राइमरी मार्केट में करीब एक महीने का सूखा खत्म हो गया है. 680 करोड़ रुपये के इस आईपीओ में निवेशक 21 जनवरी तक पैसे लगा सकेंगे. इश्यू के लिए तय प्राइस बैंड के अपर प्राइस के हिसाब से निवेशकों को इसमें कम से कम 14875 रुपये का निवेश करना होगा. यह एटीएम से जुड़ी सेवाओं से होने वाले रेवेन्यू के हिसाब से यह देश की दूसरी सबसे बड़ी और पेट्रोल पंपों पर पीओएस टर्मिनल्स लगाने वाली सबसे बड़ी कंपनी है. इसमें पैसे लगाने को लेकर मार्केट एक्सपर्ट्स का रुख पॉजिटिव है और इस इश्यू को सब्सक्राइब की रेटिंग दी है.

Cryptocurrency News: इस साल 30 हजार डॉलर से नीचे आ सकता है Bitcoin, इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट फर्म का अनुमान

AGS Transact Tech IPO की डिटेल्स

  • एजीएस ट्रांजैक्ट का 680 करोड़ रुपये का आईपीओ आज खुल गया है और निवेशक इसमें 21 जनवरी तक पैसे लगा सकेंगे.
  • इस इश्यू के लिए कंपनी ने 166-175 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड तय किया है.
  • लॉट साइज 85 शेयरों का तय किया गया है यानी कि निवेशकों को प्राइस बैंड के अपर प्राइस के हिसाब से कम से कम 14875 रुपये का निवेश करना होगा.
  • प्रति शेयर की फेस वैल्यू 10 रुपये है.
  • इस इश्यू के तहत कोई नया शेयर नहीं जारी होगा बल्कि कंपनी के वर्तमान प्रमोटर और अन्य शेयरधारक अपनी कुछ हिस्सेदारी की ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) के तहत बिक्री करेंगे. ओएफएस के तहत कंपनी के प्रमोटर रवि बी गोयल 677.58 करोड़ रुपये के शेयरों की बिक्री करेंगे. इससे पहले वह 792 करोड़ रुपये के शेयर बेचना चाहते थे.
  • इश्यू का 50 फीसदी हिस्सा क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल इंवेस्टर्स (QIB), 35 फीसदी हिस्सा खुदरा निवेशकों और 15 फीसदी हिस्सा नॉन-इंस्टीट्यूशनल इंवेस्टर्स के लिए आरक्षित किया गया है.
  • शेयरों का अलॉटमेंट 27 जनवरी को फाइनल हो सकता है और इसकी लिस्टिंग 1 फरवरी के दिन हो सकती है.
  • आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, एचडीएफसी बैंक और जेएम फाइनेंशियल इश्यू के लीड मैनेजर हैं. कंपनी के इक्विटी शेयर बीएसई और एनएसई पर लिस्ट होंगे.

Delhivery IPO: दिग्गज सप्लाई चेन कंपनी के 7460 करोड़ के आईपीओ को मंजूरी, इश्यू से जुड़ी पूरी डिटेल्स यहां जानिए

एक्सपर्ट्स ने दी सब्सक्राइब की रेटिंग

  • वित्त वर्ष 2021 के फाइनेंशियल के मुताबिक यह आईपीओ 6x EV/EBITDA और 1.5x EV/sales भाव पर है.
  • कंपनी का फोकस कस्टमाइज्ड इन-हाउस सॉल्यूशंस, इन-हाउस इंफ्रास्ट्रक्चर व टेक्नोलॉजिकल कैपिबिलिटीज को डेवलप करने पर जारी रहेगा और तकनीकी सेवाएं उपलब्ध कराने वाली कंपनियों से इसका लंबे समय से कारोबारी संबंध है.
  • डाइवर्सिफाइड प्रोडक्ट पोर्टफोलियो, बड़े कस्टमर बेस और ट्रैक रिकॉर्ड के दम पर कंपनी क्रॉस-सेलिंग अपॉर्च्यूनिटीज को भुना सकती है और इंटीग्रेटेड पेमेंट सॉल्यूशंस व तकनीक को डेवलप कर सकती है.
  • पेट्रोलियम सेक्टर में एजीएस ने पीओएस टर्मिनल्स को फ्यूल ऑटोमेशन सॉल्यूशंस के साथ इंटीग्रेट किया है, जिसके जरिए मर्चेंट्स को सेल्स वॉल्यूम और पेमेंट ट्रांजैक्शन डेटा आसानी से मिल जाता है.
  • कंपनी श्रीलंका, सिंगापुर, कंबोडिया, फिलीपींस और इंडोनेशिया में कारोबारी विस्तार कर रही है.
  • एटीएम मैनेज्ड सर्विसेज में मार्केट लीडरशिप और हेल्दी मार्जिन व हाई रिटर्न रेशियो के साथ कैश मैनेजमेंट, मजबूत इंडस्ट्री ग्रोथ और पियर्स के मुकाबले डिस्काउंट वैल्यूएशन के चलते ब्रोकरेज फर्म रिलायंस सिक्योरिटीज ने इस इश्यू को पॉजिटिव व्यू के साथ सब्सक्राइब की रेटिंग दी है.

Call of Duty वीडियो गेम बनाने वाली Activision Blizzard को 68.7 अरब डॉलर में खरीदेगी Microsoft, कैश में होगी गेमिंग सेक्टर की सबसे बड़ी डील

कंपनी से जुड़ी डिटेल्स

  • एजीएस ट्रांजैक्ट में इंटीग्रेटेड ओमनी-चैनल पेमेंट सॉल्यूशंस उपलब्ध कराने वाली देश की दिग्गज कंपनी है.
  • एटीएम से जुड़ी सेवाओं से होने वाले रेवेन्यू के हिसाब से यह देश की दूसरी सबसे बड़ी और पेट्रोल पंपों पर पीओएस टर्मिनल्स लगाने वाली सबसे बड़ी कंपनी है.
  • इसका कारोबार न सिर्फ भारत में बल्कि श्रीलंका, कंबोडिया, इंडोनेशिया और फिलीपींस जैसे एशियाई देशों में भी फैला हुआ है.
  • यह कंपनी मुख्य रूप से तीन कारोबारी सेग्मेंट्स- पेमेंट सॉल्यूशन, बैंकिंग ऑटोमेशन सॉल्यूशंस और अन्य ऑटोमेशन सॉल्यूशंस में कारोबार करती है.
  • 31 अगस्त 2021 तक उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक कंपनी ने 2,21,066 मर्चेंट पीओएस, 17,924 पेट्रोलियम आउटलेट्स, 72 हजार एटीएम व सीआरएम, 461800 कैश बिलिंग टर्मिनल, 88,521 कलर डिस्पेंसिंग मशीन इंस्टॉल किए हैं. इसका कारोबार 4.46 लाख मशीन या कस्टमर टच प्वाइंट्स के जरिए 2200 शहरों व नगरों में है.
  • कंपनी की वित्तीय स्थिति की बात करें तो कंपनी का शुद्ध मुनाफा (प्रॉफिट आफ्टर टैक्स) घटा है. वित्त वर्ष 2020 में कंपनी का शुद्ध मुनाफा 83.01 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था जबकि अगले ही वित्त वर्ष 2021 में इसका शुद्ध मुनाफा घटकर 54.79 करोड़ रुपये रह गया.

(स्टोरी में दिए गए स्टॉक रिकमंडेशन संबंधित रिसर्च एनालिस्ट व ब्रोकरेज फर्म के हैं. फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन इनकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेता. पूंजी बाजार में निवेश जोखिमों के अधीन हैं. निवेश से पहले अपने सलाहकार से जरूर परामर्श कर लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News