मुख्य समाचार:

अंबानी को गुजरात में ही टक्कर देंगे अडाणी! जर्मनी की कंपनी से 16000 करोड़ में हुई डील

अडानी समूह ने गुरुवार को जर्मन केमिकल कंपनी के साथ साझेदारी की घोषणा की है. दोनों कंपनियां गुजरात में 16 हजार करोड़ रुपये की केमिकल फैक्ट्री खोलेंगी.

January 17, 2019 7:41 PM
BASF, Ambani vs Adani, Adani Group, BASF Biggest Indian Investment, Vibrant Gujarat Global Summit 2019, Make in India, Adani in Chemical Sectorयह पहली बार है जब अडानी और अंबानी किसी बिजनस में डायरेक्ट कंपटीशन में होंगे.

अंबानी और अडाणी के बीच जल्द ही नई कॉरपोरेट वॉर छिड़ने वाली है. अडाणी समूह ने गुरुवार को जर्मन केमिकल कंपनी BASF के साथ साझेदारी की घोषणा की है. इस साझेदारी के तहत दोनों मिलकर गुजरात में 16 हजार करोड़ रुपये की पेट्रोकेमिकल्स फैक्ट्री खोलेंगे. इस समय भारतीय पेट्रोकेमिकल्स सेक्टर में मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) का दबदबा है.

अडाणी समूह और BASF ने एक बयान जारी कर कहा कि गुजरात के मुंद्रा जिले में पेट्रोकेमिकल्स फैक्ट्री खोलने के अलावा पवन और सौर ऊर्जा के प्लांट भी स्थापित किए जाएंगे. ये प्लांट फैक्ट्री की इलेक्ट्रिसिटी जरूरतों को पूरा करेंगे.

जर्मन कंपनी की मेजॉरिटी हिस्सेदारी

अडाणी और BASF की हिस्सेदारी से बनने वाले वेंचर में जर्मन कंपनी BASF की हिस्सेदारी अधिक होगी. हालांकि पावर वेंचर में BASF की हिस्सेदारी कम रहेगी.

पहली बार अंबानी और अडानी डायरेक्ट कंपटीशन में

भारतीय पेट्रोकेमिकल सेक्टर में RIL मार्केट लीडर है. यह पहली बार होगा जब अडाणी और अंबानी किसी बिजनेस में डायरेक्ट कंपटीशन में होंगे. खास बात यह है कि दोनों मूल रूप से गुजरात से हैं.

दुनिया के पांच सबसे बड़े तेल उत्पादकों में रिलायंस

RIL तेल से लेकर टेलीकॉम सेक्टर तक में बिजनेस करती है. पिछले साल जनवरी में रिलायंस ने अपनी पेट्रोकेमिकल प्रोडक्शन कैपेसिटी का आक्रामक तरीके से विस्तार किया था और यह दुनिया भर के पांच सबसे बड़े तेल उत्पादकों की लीग में पहुंच गई.

BASF का सबसे बड़ा भारतीय निवेश

BASF और अडाणी समूह ने Vibrant Gujarat Global Summit 2019 में मेमोरंडम ऑफ अंडरटेकिंग (MoU) पर साइन किए. BASF के लिए यह उसका भारत में सबसे बड़ा निवेश होगा. हालांकि अभी तक दोनों ही कंपनियों ने जॉइंट वेंचर के बारे में अधिक जानकारी नहीं दी है.

मेक इन इंडिया को बढ़ावा

यह जॉइंट वेंचर देश में कंस्ट्रक्शन, ऑटोमोटिव और कोटिंग्स सेक्टर के इंडस्ट्रीज के लिए प्रॉडक्ट्स तैयार करेगा. इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि इन उद्योगों को आयात करने की जरूरत खत्म हो जाएगी. एक तरह से यह मेक इन इंडिया को बढ़ावा देगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. अंबानी को गुजरात में ही टक्कर देंगे अडाणी! जर्मनी की कंपनी से 16000 करोड़ में हुई डील

Go to Top