सर्वाधिक पढ़ी गईं

आयकर विभाग के अच्छे दिन! FY 17-18 में 99.49 लाख नए आईटीआर फाइल, कुल संख्या 6.84 करोड़ पहुंची

साल 2017-18 में नए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 1 करोड़ के आसपास पहुंच गई है जिसके चलते 2017-18 में कुल मिलाकर 6.84 फीसदी आईटीआर फाइल हुए।

Updated: Apr 03, 2018 3:17 PM
आयकर विभाग, आयकर रिटर्वन, इनकम टैक्स रिटर्न, डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन, सीबीडीटीसीबीडीटी द्वारा जारी बयान के मुताबिक पिछले चार सालों में लगातार आईटीआर फाइल करने वालों की संख्या में इजाफा हुआ है।

साल 2017-18 में नए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 1 करोड़ के आसपास पहुंच गई है जिसके चलते 2017-18 में कुल मिलाकर 6.84 फीसदी आईटीआर फाइल हुए। जो पिछले साल के मुकाबले 26 फीसदी ज्यादा है। साल 2016-17 तक कुल मिलाकर रिटर्न फाइल करने वालों की तादाद 5.43 करोड़ थी।

आईटीआर फाइलिंग बढ़ने के चलते के सरकार के डायरेक्ट टाक्स कलेक्शन टारगेट भी पूरे हुए हैं। हालांकि सराकर अपना रिवाइजड टार्गेट पूरा करने में नाकाम रही। बढ़ते आंकड़े से खुश सीबीडीटी ने बयान जारी कर कहा है ” आईटीआर फाइलिंग में वृ्द्धि और नए आईटीआर फाइल होने के पीछे आयकर विभाग की मेहनत हैं। आयकर विभाग ने टैक्स ना फाइल करने वालों को तरह-तरह से टैक्स फाइल करने के बार में चेताया औऱ जानकारी दी।”

2017-18 में पिछले साल के मुकाबले 99.49 लाख ज्यादा लोगों ने इनकम टैक्स रिटर्न फाइल किया। 2016-17 के मुकाबले 2017-18 में 16.3 फीसदी नए लोगों ने आईटीआर फाइल किया। 2016 में 17 में इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने वालों की संख्या 85.85 लाख थी।

सीबीडीटी द्वारा जारी बयान के मुताबिक पिछले चार सालों में लगातार आईटीआर फाइल करने वालों की संख्या में इजाफा हुआ है। वित्त वर्ष 2013-14 में जहां 3.79 करोड़ लोगों ने आईटीआर फाइल किया था वहीं 17-18 में इनकी संख्या बढ़कर 6.84 करोड़ पहुंच गई है। यानी इनकी संख्या में कुल 80.5 फीसदी का इजाफा हुआ है। इसके अलावा पिछले वर्श के मुकाबले ई फाइलिंग में भी इजाफा देखने को मिला है। पिछले वर्ष 5.28 करोड़ लोगों ने ई फाइलिंग की थी जो इस वर्ष बढ़कर 6.75 करोड़ हो गई है।

सीबीडीटी के आकंड़ों के मुताबिक वित्तीय वर्ष 2017-18 में नेट डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 9.95 लाख करोड़ रुपये रहा, जो साल 2016-17 से 17.1 फीसदी ज्यादा था। हालांकि आईटीआर में बढ़ोत्तरी के बावजूद बजटीय अनमान 1 फीसदी से पूरा नहीं हो पाया।  संशोधित बजटीय अनुमान कुल 10.05 करोड़ का था। इस वित्तीय वर्ष का नेट डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन बजटीय अनुमान का 99 फीसदी रहा।

रिफंड से पहले कुल कलेक्शन 13 फीसदी बढ़कर 11.44 लोख करोड़ जा पहुंचा है। वित्त वर्ष 2017-18 में 1.49 लाख करोड़ रिफंड किया गया। मेट कॉरपोरेट टैक्स भी 17.1 फीसदी बढ़ा है वहीं पर्सनल इनकम टैक्स में 18.9 फीसदी का इजाफा हुआ है।

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. आयकर विभाग के अच्छे दिन! FY 17-18 में 99.49 लाख नए आईटीआर फाइल, कुल संख्या 6.84 करोड़ पहुंची

Go to Top