मुख्य समाचार:

बजट लंबी अवधि में बाजार में भरेगा जोश! ये 18 शेयर दिखा सकते हैं दम

शेयर बाजार को बजट से बहुत ज्यादा उम्मीदें थीं, लेकिन यह उस दिन बाजार के लिए नॉन इवेंट वाला रहा.

February 3, 2020 10:30 AM
budget 2020 impact on stock market, budget stocks for investors, top stock ideas for investors, शेयर बाजार, बजट 2020, best largecap stocks for investment, best midcap stocks for investmentशेयर बाजार को बजट से बहुत ज्यादा उम्मीदें थीं, लेकिन यह उस दिन बाजार के लिए नॉन इवेंट वाला रहा.

Budget Impact On Stock Market, Top Stock Ideas: बेहद चुनौतीपूर्ण आर्थिक माहौल के बीच केंद्रीय बजट 2020-21 को 1 फरवरी को पेश किया गया. शेयर बाजार को बजट से बहुत ज्यादा उम्मीदें थीं, लेकिन बजट में ऐसा कुछ खास प्रावधान न होने से निवेशक निराश हुए. सरकार ने वित्त वर्ष 2020 और 2021 के लिए अपने वित्तीय घाटे के लक्ष्य को जीडीपी के 0.5 फीसदी प्वॉइंट्स (पीपीपी) से क्रमशः 3.8 फीसदी और 3.5 फीसदी रखा है. यह बाजार के उम्मीद के अनुरूप ही रहा है. हालांकि, सरकार ने वित्त वर्ष 2020 के लिए अपनी प्राप्ति के लक्ष्य को घटाकर 1.5 लाख करोड़ कर दिया है. लेकिन वास्तविक कमी 3 लाख करोड़ रुपये जितनी बड़ी हो सकती है.

चुनौतियों वाले माहौल में लगी निराशा

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल आसवाल के मुताबिक मौजूदा समय में डिमांड कमजोर है, निवेश पहले से घटा है. जीडीपी पिछली कुछ तिमाही से नीचे आ रहा है और महंगाई दर में इजाफा हो रहा है. ऐसे में उम्मीद थी कि सरकार इस बजट में कंजम्पशन को बूस्ट देने के लिए कुछ बड़ा एलान कर सकती है. सेक्टर वाइज भी आर्थिक पैकेज की उम्मीद थी. एलटीसीजी और एसटीटी को लेकर भी निवेशक कुछ बदलाव की उम्मीद कर रहे थे. लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ और सरकार बड़े फिस्कल प्रोत्साहन देने से बचती रही. जब पहले से ही ग्लोबल कंसर्न की वजह से बाजार पर दबाव था, बजट प्रावधान शॉर्ट टर्म के लिए बाजार के सेंटीमेंट कमजोर करने वाले रहे हैं.

ब्रोकरेज के अनुसार मनरेगा जैसी रूरल स्कीम के आवंटन में भी कोई बढ़ोत्तरी नहीं हुई है. वहीं, संकट में चल रहे रियल एस्टेट और एनबीएफसी के लिए किसी भी बड़ी घोषणा की अनुपस्थिति निराशाजनक थी. क्योंकि ये दोनों सेक्टर अर्थव्यवस्था के लिए बड़े सपोर्ट हो सकते हैं.

लंबी अवधि में होगा फायदा

सैमको सिक्युरिटीज के फाउंडर और सीईओ जिमित मोदी का कहना है कि पिछले कुछ महीने से इस बजट तक ऐसे कई एलान हुए, मसलन कॉरपोरेट टैक्स में कटौती, रीयल एस्टेट को पैकेज, इनकम टैक्स स्लैब में बदलाव, डीडीटी खत्म करना, किसानों की आय डबल करने के लिए 16 एक्शन प्लान. इन सबसे लंबी अवधि में बाजार को फायदा होगा. लेकिन शॉर्ट टर्म की बात करें तो बाजार को चियर करने के लिए कुछ नहीं हुआ है. इससे निवेशक निराश हुए.

कुछ फैक्टर रहे पॉजिटिव

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल आसवाल के मुताबिक सरकार ने इनकम टैक्स स्लैब और डिविडेंड डिस्ट्रीब्यूशन टैक्स को लेकर कुछ राहत जरूर दी है. वहीं, किसानों की आय दोगुना करने के लिए भी कई योजनाओं की बात की गई, जो ओवरआल पॉजिटिव है. व्यक्तिगत आयकरदाताओं के पास अब वर्तमान व्यवस्था जारी रखने या नया लोअर टैक्स व्यवस्था का चयन करने का विकल्प है, बशर्तें वे सभी बड़ी छूट को छोड़ दें. इन सभी छूट की कुल लागत वित्त वर्ष 2020 में 1.6 लाख करोड़ रुपये थी. नए पर्सनल इनकम टैक्स दरों पर अनुमानित राजस्व 40 हजार करोड़ रुपये है. वहीं, सरकार ने डीडीटी को हटाने का प्रस्ताव किया है, जिससे 25 हजार करोड़ रुपये के अनुमानित वार्षिक राजस्व को बढ़ावा मिलेगा.

किन शेयरों में दिखेग्री ग्रोथ

लॉर्जकैप: ICICI बैंक, SBI, HUL, भारती एयरटेल, मारुति, इंफोसिस, HCL टेक, RIL, अल्ट्राटेक सीमेंट और L&T

मिडकैप: क्रॉम्पटन ग्रीव्स, अशोक लेलैंड, इंडियन होटल्स, फेडरल बैंक, JK सीमेंट, टाटा ग्लोबल, ABFRL, अलकेम लैब

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. बजट लंबी अवधि में बाजार में भरेगा जोश! ये 18 शेयर दिखा सकते हैं दम

Go to Top