सर्वाधिक पढ़ी गईं

Budget 2021: क्या नया टैक्स लगेगा? राहतों की उम्मीद कर रहे व्यापारियों की बजट पर है नजर

CAIT ने कहा है कि बजट में एक नेशनल ट्रेड पॉलिसी फार रिटेल ट्रेड, ई कॉमर्स पॉलिसी एवं एक ई कॉमर्स रेगुलेटरी अथॉरिटी का गठन और एक वॉलेंटरी डिस्क्लोजर स्कीम (VDS) भी घोषित होनी चाहिए.

Updated: Feb 01, 2021 7:35 AM
union budget 2021, traders body CIAT, CIAT Budget 2021 Expectations, Traders budget Expectations, GST, VDS, cheaper loan, Confederation Of All India Traders, new tax, pm narendra modi, fm nirmala sitharamanकेंद्रीय बजट से व्यापारियों को काफी उम्मीदें हैं. (File Image)

Budget 2021 Expectations: कोरोना लॉकडाउन के दौरान विभिन्न आर्थिक पैकजों में व्यापारियों को कोई भी आवंटन न होने से निराश व्यापारियों की नजर बजट पर टिकी है. केंद्रीय बजट से व्यापारियों को काफी उम्मीदें हैं. कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने कहा है कि सरकार अपनी आय बढ़ाने के लिए संभवत कुछ टैक्स की घोषणा कर सकती है लेकिन यह देखना दिलचस्प होगा कि टैक्स कहां लगेगा और उसका व्यापार एवं उद्योग पर क्या प्रभाव पड़ेगा. कैट ने जोर दिया है कि बजट में एक नेशनल ट्रेड पॉलिसी फॉर रिटेल ट्रेड, ई कॉमर्स पॉलिसी एवं एक ईकॉमर्स रेगुलेटरी अथॉरिटी का गठन और एक वॉलेंटरी डिस्क्लोजर स्कीम (VDS) भी घोषित होनी जरूरी है. लेकिन वीडीएस के अंतर्गत घोषित करने वालों से कोई पूछताछ न होने का आश्वासन भी देना जरूरी है, जिससे कि कथित रूप से छिपे हुए कारोबार को मुख्यधारा से जोड़ा जा सके. बता दें, देश में लगभग 8 .5 करोड़ व्यापारी हैं जो सालाना 80 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का कारोबार करते हैं और लगभग 40 करोड़ लोगों को रोजगार देते हैं.

Budget 2021 Live News Updates: बजट का लाइव अपडेट्स

आसान कर्ज की नीति की उम्मीद

CAIT के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि मौजूदा समय में व्यापारी वित्तीय संकट से जूझ रहे हैं. व्यापारियों को उम्मीद है कि बजट में व्यापारियों को बैंकों एवं वित्तीय संस्थानों से सस्ता व आसान लोन मिले, इसकी नीति बजट में अवश्य घोषित होगी. वहीं, कॉरपोरेट सेक्टर पर जिस प्रकार से आय कर की उच्चतम सीमा 25% है, व्यापारियों पर भी यह लागू होने का एलान भी बजट में होना चाहिए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लोकल पर वोकल तथा आत्मनिर्भर भारत अभियान को सफल बनाने के लिए देश के व्यापारियों, कारीगरों, हस्तशिल्पी एवं देश की प्राचीन कला का काम करने वाले लोगों को इस अभियान से जुड़ने के लिए एक व्यापक योजना बजट में घोषित होनी चाहिए. महिला उद्यमियों के बढ़ावा देने के लिए भी बजट में एक विशेष प्रावधान की उम्मीद व्यापारी लगाए बैठें है.

ये भी पढ़ें… Budget 2021: रियल एस्टेट सेक्टर की वित्त मंत्री सीतारमण से उम्मीदें, सिंगल विन्डो क्लीयरेंस की हो व्यवस्था

GST सरलीकरण की नीति आए

खंडेलवाल ने उम्मीद जताई है कि जीएसटी प्रणाली के सरलीकरण की नीति भी बजट में आनी चाहिए. वही, दूसरी ओर व्यापारियों पर लगे सभी प्रकार के कानूनों की समीक्षा के लिए एक टास्क फोर्स के गठन की घोषणा भी बजट का हिस्सा हो सकती है. देश में घरेलू व्यापार पर लगे लगभग 28 तरह के लाइसेंस के स्थान पर आधार की तरह केवल एक लाइसेंस लागू करने की घोषणा भी बजट में होनी चाहिए. ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को बढ़ावा देने के लिए भी एक व्यापक योजना बजट का हिस्सा हो सकती है.

कम्प्यूटरीकृत प्रणाली से जुड़े व्यापारी

खंडेलवाल ने कहा कि सरकार की ओर से सभी विभागों को ई-सिस्टम से जोड़ चुकी है, इस लिहाज से सभी टै​क्स एवं अन्य कानूनों की समय पर पालना के लिए जरूरी है की व्यापारियों को भी कम्प्यूटरीकृत प्रणाली से जोड़ा जाए. इस तरह व्यापारियों को कंप्यूटर एवं उससे सम्बंधित सामन खरीदने पर सरकार की ओर से सहायता देने का प्रावधान भी बजट की एक उम्मीद है. वहीं, देश के रिटेल व्यापार के वर्तमान स्वरूप के आधुनिकीकरण के लिए भी सरकार की कोई सहायता योजना समय की मांग है. उन्होंने यह भी कहा की डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए बैंकों द्वारा लगाए जाने वाले चार्ज को एक सब्सिडी के माध्यम से सरकार सीधे बैंकों को देने की नीतिगत घोषणा भी बजट का हिस्सा बननी चाहिए. देश के निर्यात व्यापार को ज्यादा से ज्यादा आगे बढ़ाने के लिए व्यापारियों एवं अन्य लोगों को प्रोत्साहित करने की योजना भी बजट में घोषित होनी जरूरी है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. बजट 2021
  3. Budget 2021: क्या नया टैक्स लगेगा? राहतों की उम्मीद कर रहे व्यापारियों की बजट पर है नजर

Go to Top