मुख्य समाचार:

बजट के बाद बाजार में क्यों मचा कोहराम? 1000 अंक टूट गया सेंसेक्स, निवेशकों के 1 दिन में डूबे 3.4 लाख करोड़

बजट एलानों से शेयर बाजार में निवेशक निराश हुए. सेंसेक्स 1050 अंकों से ज्यादा टूट गया.

February 1, 2020 4:06 PM
Budget 2020 Impact On Stock Market, sensex and nifty crash after budget, investors wealth decrease, Sensex, Nifty, बजट एलानों से शेयर बाजार में निवेशक निराश, BSE, NSEबजट एलानों से शेयर बाजार में निवेशक निराश हुए. सेंसेक्स 1050 अंकों से ज्यादा टूट गया.

Stock Market Crash After Budget 2020: बजट 2020 के एलानों के बाद शेयर बाजार में निवेशक निराश हुए. बजट के दौरान ही बाजार में गिरावट आई और सेंटीमेंट इतना बिगड़ गया कि सेंसेक्स 1050 अंकों से ज्यादा टूटकर 39631 के स्तर तक कमजोर हो गया. निफ्टी भी 300 अंकों से ज्यादा टूट गया. फिलहाल कारोबार के अंत में सेंसेक्स करीब 988 अंक टूटकर 39676 के स्तर पर बंद हुआ. वहीं निफ्टी भी 318 अंक टूटकर 11644 के स्तर पर बंद हुआ. एक्सपर्ट का कहना है कि बजट के पहले बाजार को जो उम्मीदें थी, वह इस बार बजट से पूरी नहीं होती दिखीं. हालांकि कुछ ऐसे उपाय मसलन किसानों की आय डबल करने के लिए रोडमैप, डीडीटी खत्म करना हैं जो लंबी अवधि में बाजार के लिए बेहतर साबित हो सकते हैं.

निवेशकों के डूब गए 3.5 लाख करोड़

सेंसेक्स में आज 1050 अंकों से ज्यादा गिरावट रही और यह 39631 के स्तर तक कमजोर हो गया. इस दौरान बाजार का मार्केट कैप घटकर 153,13,401 करोड़ रुपये ही रह गया. जबकि शुक्रवार को यह 156, 52, 766 करोड़ रुपये था. यानी एक दिन में करीब 3.5 लाख करोड़ रुपये निवेशकों के डूब गए.

बता दें कि पिछली बार यानी 5 जुलाई 2019 को पेश बजट में के बाद भी सेंसेक्स 395 अंक टूटकर 39513 के स्तर पर बंद हुआ. वहीं निफ्टी भी 136 अंक टूटकर 11811 के स्तर पर बंद हुआ. पिछली बार बजट में सेबी से मिनिमम पब्लिक शेयर होल्डिंग को 25 फीसदी से बढ़ाकर 35 फीसदी करने को कहा गया था. वहीं सरकारी बैंकों में 70 हजार करोड़ डाले जाने का एलान किया गया.

बाजार को चियर करने के लिए कुछ नहीं

सैमको सिक्युरिटीज के फाउंडर और सीईओ जिमित मोदी का कहना है कि पिछले कुछ महीने से इस बजट तक ऐसे कई एलान हुए, मसलन कॉरपोरेट टैक्स में कटौती, रीयल एस्टेट को पैकेज, इनकम टैक्स स्लैब में बदलाव, डीडीटी खत्म करना, किसानों की आय डबल करने के लिए 16 एक्शन प्लान. इन सबसे लंबी अवधि में बाजार को फायदा होगा. लेकिन शॉर्ट टर्म की बात करें तो बाजार को चियर करने के लिए कुछ नहीं हुआ है. इससे निवेशक निराश हुए.

 बजट मार्केट के लिए नॉन इवेंट जैसा

ट्रेडिंग बेल्स के सीईओ और कोफाउंडर अमित गुप्ता का कहना है कि ग्लोबल स्तर पर पहले से ही मार्केट सेंटीमेंट कमजोर हैं. जिसके बाद बजट से काफी उम्मीदें थी, लेकिन इसमें इकोनॉमी को लेकर कोई साफ रोडमैप नहीं दिखा. LTCG के फ्रंट पर निवेशकों को निराशा हुई. DDT में कुछ राहत ही एक चियरफुल फैक्टर रहा है. एक तरह से बजट मार्केट के लिए नॉन इवेंट वाला रहा है. कंजम्शन कैसे बढ़ेगा, इसके लिए कोई खास उपाय नहीं हुआ.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. बजट के बाद बाजार में क्यों मचा कोहराम? 1000 अंक टूट गया सेंसेक्स, निवेशकों के 1 दिन में डूबे 3.4 लाख करोड़

Go to Top